लोकसभा चुनाव / कोडरमा में माले प्रत्याशी राजकुमार ने भरा नामांकन, सुबोध, संजय सेठ सहित राज्य में 17 प्रत्याशियों ने खरीदे फॉर्म



रिटर्निंग ऑफिसर को नामांकन पत्र सौंपते राजकुमार। रिटर्निंग ऑफिसर को नामांकन पत्र सौंपते राजकुमार।
X
रिटर्निंग ऑफिसर को नामांकन पत्र सौंपते राजकुमार।रिटर्निंग ऑफिसर को नामांकन पत्र सौंपते राजकुमार।

  • राजकुमार यादव के पास 43,23,451 रुपए की चल व अचल संपत्ति
  • राजकुमार ने एक सेट में दाखिल किया पर्चा, निरसा विधायक अरुप चटर्जी, पूर्व विधायक विनोद सिंह सहित अन्य रहे मौजूद

Dainik Bhaskar

Apr 12, 2019, 11:11 AM IST

रांची. झारखंड के दूसरे चरण के लोकसभा चुनाव के लिए चल रही नामांकन प्रक्रिया के दौरान गुरुवार को कोडरमा से भाकपा माले प्रत्याशी राजकुमार यादव ने नामांकन पत्र भरा। झाविमो प्रमुख बाबूलाल मरांडी ने गुरुवार को ही कोडरमा के लिए नॉमिनेशन फार्म खरीदा। रांची के भाजपा प्रत्याशी संजय सेठ और कांग्रेस प्रत्याशी सुबोधकांत सहाय ने भी गुरुवार को नामांकन पत्र खरीदे। रांची, खूंटी, हजारीबाग और कोडरमा में गुरुवार को 17 नामांकन पत्र बिके। इन लोकसभा क्षेत्रों में दो दिनों के अंदर दो लोगों ने नामांकन किया, जबकि 36 नामांकन पत्र बिके। रांची और खूंटी क्षेत्र में अब तक किसी ने भी नामांकन नहीं किया है। 13 अप्रैल को रामनवमी, 14 को रविवार और 17 को महावीर जयंती के कारण अवकाश रहेगा। 

राजकुमार ने एक सेट में भरा नामांकन

  1. कोडरमा लोकसभा क्षेत्र के भाकपा माले प्रत्याशी सह धनवार विधायक राजकुमार यादव ने गुरुवार जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह उपायुक्त राजेश पाठक के समक्ष नामांकन का पर्चा दाखिल किया। उन्होंने सिर्फ एक सेट में अपना नामांकन भरा। उनके नामांकन के मौके पर बड़ी संख्या में क्षेत्र से समर्थक पहुंचे थे। माले प्रत्याशी राजकुमार के साथ मासस विधायक अरुप चटर्जी, माले के पूर्व विधायक विनोद सिंह, जिप सदस्य जंयती चौधरी, विधायक प्रतिनिधि राजेश यादव और राजेश सिन्हा के अलावा कई लोग मौजूद थे। वहीं भाकपा माले प्रत्याशी राजकुमार यादव के प्रस्तावक रूपेश कुमार, केदार प्रसाद यादव, संदीप यादव, रूपेश कुमार, भुनेश्वर कुमार, पंकज कुमार, पवन कुमार, विकास कुमार, हरिहर प्रसाद यादव और प्रकाश प्रसाद यादव बने। नामांकन से पहले माले प्रत्याशी राजकुमार यादव के साथ बड़ी संख्या मंे पहुंचे समर्थकों को सुरक्षा बलों ने समाहरणालय से पहले बने बैरियर के पास ही रोक दिया। प्रत्याशी के साथ 5 लोगों को अंदर जाने की इजाजत दी गई। आदर्श आचार संहिता को ध्यान में रखते हुए प्रत्याशी राजकुमार यादव व माले समर्थक दायरे में ही रहे। 

  2. राजकुमार से अधिक अमीर हैं उनकी पत्नी

    कोडरमा के भाकपा माले प्रत्याशी सह धनवार विधायक राजकुमार यादव से अधिक संपत्ति उनकी धर्म पत्नी सह गावां प्रमुख ललिता देवी के पास है। शपथ पत्र में उन्होंने जिक्र किया है कि उनकी शैक्षणिक योग्यता मैट्रिक पास हैं। वर्तमान में उनके पास एक बोलेरो व एक स्कार्पियो है, जिसकी वर्तमान कीमत 10.60 लाख रुपए है। जबकि पत्नी ललिता देवी के पास एक पोकलेन है। यादव के पास नगदी सिर्फ 1.54 लाख रुपए है। जबकि 43,23,451 रुपए कीमत की चल व अचल संपत्ति है। चार अलग-अलग बैंक खातों में करीब 24 लाख रुपए डिपॉजिट हैं। इसके अलावा करीब 6 लाख रुपए का निवेश किया है। जबकि बैंक का ऋण 2.30 लाख रुपए बकाया है। जबकि उनकी धर्मपत्नी सह गावां प्रखंड की प्रमुख ललिता देवी संपत्ति के मामले में पति से आगे हैं। उनके पास कुल 75.18 लाख रुपए की संपति है। जिसमें 54 लाख कीमत की एक पोकलेन मशीन 54 है, जो बैंक से ऋण पर लिया गया है। वहीं नकदी के तौर पर उनके पास सिर्फ 1.98 लाख रुपए है। वहीं बैंक खाता 15.62 लाख रुपए जमा है। इसके अलावा करीब 7 लाख जेवरात उनके पास है। पोकलेन आदि के एवज में ललिता देवी पर करीब 33 लाख रुपए बैंक का लोन है। 

  3. तीन थाने में यादव पर दर्ज है मुकदमा

    माले प्रत्याशी राजकुमार यादव ने दायर शपथ पत्र में कहा है कि उनके खिलाफ कोडरमा जिला के मरकच्चो थाना में कांड संख्या 05/03 के तहत मुकदमा दर्ज है। जिसमें सरकारी काम में बाधा और रोड जाम करने का आरोप है। इसके अलावा गिरिडीह नगर थाना में क्रमश: कांड संख्या 12/09 व 273/10 के तहत मारपीट का मामला दर्ज है। जबकि गावां थाना में कांड संख्या 120/15 के तहत प्राथमिकी दर्ज है। जो चुनाव के वक्त में ही केश हुआ था, जिसमें मारपीट का आरोप लगा था। 

  4. भाजपा से मुकाबला, माले की होगी जीत : राजकुमार

    नामांकन का पर्चा दाखिल करने के बाद बाहर निकलते ही माले प्रत्याशी राजकुमार यादव ने महागठबंधन पर जमकर भड़ास निकाली। कहा कि महागठबंधन के नाम पर विभिन्न राजनीतिक दलों ने नौटंकी की है। उन्होंने दावा किया है कि चुनावी मैदान में उनका मुकाबला भाजपा से है। लेकिन झाविमो प्रत्याशी बाबूलाल मरांडी दूर-दूर तक कहीं नजर नहीं आएंगे। मोदी व रघुवर सरकार की आलोचना करते हुए राजकुमार ने कहा कि कोडरमा की जनता 2014 मंे धोखा खा चुकी है। चेहरा बदलने से जीत संभव नहीं है। कल तक महागठबंधन के साथ मोदी की अालोचना करने वाली अन्नपूर्णा आज मोदी की गोद में बैठकर किसी भी सूरत में चुनाव नहीं जीत सकती है। माले की इस बार 100 फीसदी जीत तय है। अपार जनसमर्थन माले के पास है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना