चुनावी सभा / सोरेन परिवार ने आदिवासियों की जमीन लूटी, दूसरे पर लगा रहे आरोप : रघुवर दास



खूंटी में आयोजित विजय संकल्प रैली में मुख्यमंत्री रघुवर दास। खूंटी में आयोजित विजय संकल्प रैली में मुख्यमंत्री रघुवर दास।
X
खूंटी में आयोजित विजय संकल्प रैली में मुख्यमंत्री रघुवर दास।खूंटी में आयोजित विजय संकल्प रैली में मुख्यमंत्री रघुवर दास।

  • खूंटी के विजय संकल्प रैली में मुख्यमंत्री, कहा- सरकार नहीं ले सकती आपकी जमीन 

Dainik Bhaskar

May 03, 2019, 06:10 PM IST

खूंटी/रांची. खूंटी संसदीय सीट पर एनडीए प्रत्याशी अर्जुन मुंडा के पक्ष में चुनावी सभा करने खूंटी पहुंचे रघुवर दास ने कहा कि जल, जंगल और जमीन को लूटने वाले लोग आज महागठबंधन बनाकर एक बार फिर झारखंड एवं देश को लूटने की तैयारी में लगे हैं। कांग्रेस एवं झारखंड मुक्ति मोर्चा के नीतियां झगड़े एवं विवाद का बीज बोने का काम करती है। इन दोनों पार्टियों ने 70 साल तक आदिवासी समाज को ठग कर पीछे धकेलने का काम किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गरीबों की सपना पूरा करने का काम कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं राज्य की भाजपा सरकार जाति बंधन एवं भेदभाव किए बिना सबों के विकास के लिए काम कर रहे हैं। 

 

हेमंत ने सीएनटी एक्ट का उल्लंघन कर 23 जगह खरीदी 500 करोड़ से अधिक की जमीन
मुख्यमंत्री ने कहा कि सीएनटी-एसपीटी एक्ट में संशोधन हेमंत सोरेन करना चाहते थे। हेमंत सोरेन सीएनटी एक्ट का उल्लंघन कर पूरे राज्य में 23 स्थानों में 500 करोड़ से अधिक की जमीन खरीदी है। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि 2010 में जब अर्जुन मुंडा राज्य के मुख्यमंत्री थे, उसी वक्त यह प्रस्ताव आया था। अर्जुन मुंडा ने इस प्रस्ताव को टीएसी की बैठक में रखने का निर्देश दिया था। आज कांग्रेसी एवं जेएमएम राज्य सरकार पर सीएनटी एक्ट संशोधन का ठीकरा फोड़ने का काम कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्र विरोधी तत्व एवं विपक्ष यह दुश्प्रचार करती है कि भाजपा आपसे आप की जमीन छीन लेगी जो सरासर गलत है। उन्होंने कहा कि खुटकट्टी जमीन पर सरकार का नियंत्रण नहीं है। यह ग्रामीणों की जमीन है और सरकार इसे नहीं ले सकती। खूंटी में नॉलेज सिटी का निर्माण हर हाल में किया जाएगा। नॉलेज सिटी का निर्माण कर निवर्तमान सांसद कड़िया मुंडा के सपने को भी पूरा करना है। उन्होंने कहा कि साढ़े 4 वर्षों की शासनकाल में देश की आंतरिक सुरक्षा एवं नक्सलवाद पर विशेष ध्यान दिया गया है। खूंटी नक्सलवाद से अधिक प्रभावित था। भाजपा की सरकार ने कार्रवाई कर नक्सलवाद की कमर तोड़ दी है। उन्होंने कहा की खूंटी की जनता 8 बार से खूंटी से कड़िया मुंडा को जीता कर संसद भेजने का काम किया है। इस बार भी अर्जुन मुंडा को सांसद बनाकर अवश्य भेजेंगी।

 

कांग्रेस के शासन काल में देश समस्याओं के मकड़जाल में फंसा था
लोकसभा प्रत्याशी अर्जुन मुंडा ने कहा कि कांग्रेस की शासन काल में देश समस्याओं के मकड़जाल में फंस गया था। देश की जनता घोटाले देख कर ऊब गई थी। वर्ष 2014 में नरेंद्र मोदी की नेतृत्व में बनी सरकार ने पूरी दुनिया में देश का मान बढ़ाने का काम किया है। साथ ही देश के हर तबके के विकास के लिए काम किया है। अर्जुन मुंडा ने कहा कि देश को लूटने के लिए एक बार फिर वैसे लोग सक्रिय होकर लोगों को भड़का कर, भरमा कर, भ्रांतियां फैला कर, जनता के अधिकारों को ध्वस्त कर अपना हित साधने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हेमंत सोरेन ने सीएनटी एसपीटी एक्ट संशोधन की शुरुआत की थी। दिसंबर 2010 को सीएनटी एसपीटी एक्ट बदलने की स्वीकृति हेमंत सोरेन ने दी थी। इसका दस्तावेज भी उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि सीएनटी एक्ट संशोधन की संचिका मेरे मुख्यमंत्रीत्व काल में आई थी, जिसे मैंने लौटा दिया था। 

 

दशकों राज किया फिर खूंटी, सिमडेगा और तोरपा पिछड़ा क्यों

मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस और उनके साथियों को अब जवाब देना होगा कि 55 साल तक क्यों सिमडेगा का विकास नहीं हुआ? 55 साल तक क्यों खूंटी विकास की राह देखता रहा? 55 साल तक क्यों तोरपा की जनता विकास को तरसती रही? क्यों 55 साल तक सरायकेला का विकास नहीं हो सका? ये देश का विकास तो नहीं कर पाए पर गरीबी हटाओ का नारा देकर जीप घोटाला से टूजी घोटाला तक खुद पहुंच गए। गरीब के जीवन में कोई बदलाव क्यों नहीं आया। महागठबंधन यह बात राज्य के लोगों को बताए। उन्होंने कहा कि झारखंड मुक्ति मोर्चा और कांग्रेस किस आदिवासी हित की बात करते हैं। सीएनटी-एसपीटी एक्ट में हेमंत सोरेन संशोधन कराना चाहते थे क्योंकि उन्होंने इस एक्ट का उल्लंघन कर झारखण्ड में करोड़ों की जमीन खरीदी है।

 

परिवार भक्ति के आगे कांग्रेस ने वीर शहीदों के साथ किया अन्याय
मुख्यमंत्री ने कहा कि परिवार भक्ति के आगे कांग्रेस ने हमारे आदिवासी वीर शहीदों के साथ अन्याय किया। भगवान बिरसा मुंडा, सिदो कान्हो, तिलका मांझी, फूला झानो और गणपत राय जैसे वीर सपूतों की शहादत को कांग्रेस ने भुला दिया। आजादी के आंदोलन के ठेकेदार नेहरू परिवार ने कभी इन वीर सपूतों का नाम नहीं लिया। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले से बिरसा आबा को नमन किया। शहीद ग्राम निर्माण की कल्पना उन्हीं की है। शहीद स्थल निर्माण उनकी ही परिकल्पना है। राज्य के अति पिछड़े जिलों को उनके ही शासन काल में विकास हेतु 28-28 करोड़ रुपए दिए गए। सरकार की योजनाएं भी गरीबों के उत्थान में केंद्रित है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना