हादसा / खदान धंसने से पति-पत्नी की मौत, अभ्रक निकालने के दौरान हुई दुर्घटना

पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया है। पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया है।
X
पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया है।पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया है।

  • सोमवार की सुबह सतगावां पुलिस कोठियार पहुंची और घटना की जानकारी ली

दैनिक भास्कर

Aug 19, 2019, 04:36 PM IST

कोडरमा. सतगावां थाना क्षेत्र के कोठियार पंचायत के करमाटांड़ में खदान धंसने से पति-पत्नी की मौत का मामला सोमवार को प्रकाश में आया। हालांकि हादसा रविवार दोपहर ही हुआ था। सोमवार की सुबह सतगावां पुलिस कोठियार पहुंची और घटना की जानकारी ली। इसके बाद दंपती की लाश को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए सदर अस्पताल, कोडरमा भिजवाया।

 

मृतकों की पहचान कोठियार पंचायत के करमाटांड़ निवासी होरील राय (45) और उसकी पत्नी पनवा देवी (37) के रूप में की गई। दंपती रविवार सुबह अपने घर से 10 किलोमीटर दूर चरकीया पहाड़ी में अभ्रक (ढिबरा) चुनने की तलाश में खोदे हुए खदान के अंदर घुसे थे। अचानक खदान धंस गया, जिसमें दबने से दोनों की मौत हो गई।

 

वहां काम कर रहे अन्य मजदूरों ने इसकी सूचना उनके घरवालों को दी। तब ग्रामीणों ने एकजुट होकर खदान से धंसे हुए पत्थर, मिट्टी, अभ्रक हटाकर लाश को बाहर निकाला। ग्रामीण व मुखिया कांति देवी ने झारखंड सरकार से मृतक के परिजनों को मुआवजे की मांग की है।

 

दंपती की मौत से अनाथ हुए 4 बच्चे

होरिल राय व उसकी पत्नी पनवा देवी की मौत के बाद उनके 4 बच्चे बेसहारा हो गए हैं। ग्रामीणों के अनुसार, मृतक दंपती के 5 लड़की व 1 लड़का है। इसमें कौशलिया देवी व गुड़िया देवी की शादी हो चुकी है। वहीं, अन्य 4 बच्चे बेसहारा हुए इन बच्चों को मुआवजा का लाभ नहीं मिला तो पालन पोषण में काफी परेशानी झेलनी पड़ेगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना