Hindi News »Jharkhand »Ranchi »News» बलथरवा कोल डंप के सैकड़ों मजदूरों ने रोहिणी कांटाघर के समीप आम सभा की

बलथरवा कोल डंप के सैकड़ों मजदूरों ने रोहिणी कांटाघर के समीप आम सभा की

धमधमियां स्थित रोहिणी परियोजना कांटा घर के समीप बलथरवा कोल डंप के मजदूरों की आमसभा कोल डंप संचालन समिति के सदस्य...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 18, 2018, 03:15 AM IST

बलथरवा कोल डंप के सैकड़ों मजदूरों ने रोहिणी कांटाघर के समीप आम सभा की
धमधमियां स्थित रोहिणी परियोजना कांटा घर के समीप बलथरवा कोल डंप के मजदूरों की आमसभा कोल डंप संचालन समिति के सदस्य राजकिशोर राम पासवान व सागर गोप के नेतृत्व में हुई। डंप से जुड़े सैकड़ों महिला-पुरुष मजदूर शामिल हुए। राजकिशोर ने कहा कि खलारी कोयला खदान के आसपास रहने वालों के रोजगार के लिए झामुमो द्वारा वर्ष 1991 में आंदोलन शुरू किया गया था और वर्ष 1993 में बिहार सरकार के तत्कालीन मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव, झामुमो सुप्रीमो शिबू सोरेन व सीसीएल मुख्यालय के अधिकारियों की मीटिंग के बाद खलारी में तीन कोल डंप कल्याणपुर, बलथरवा व राय कोल डंप खोलने का प्रस्ताव पारित किया गया। हालांकि दो कोल डंप बलथरवा व कल्याणपुर कोल डंप ही खुल पाया। पासवान ने बताया कि डंप को लेकर क्षेत्र में लगातार दस दिनों तक आंदोलन किया गया था और उन लोगों को कई बार जेल भी जाना पड़ा था। इसके बाद बलथरवा में जमीन चिन्हित कर 1993 में बलथरवा कोल डंप चालू किया गया। डंप खुलने के बाद भी कोयले का आंवटन को लेकर 27 बार आंदोलन किया है। उन्होंने कहा कि 1993 से आज तक कोल डंप शांति पूर्वक चल रहा है। इसके बावजूद आज नए-नए लोग आकर धरना-प्रदर्शन कर आंदोलन की धमकी देते हुए डंप में भागीदारी व हिस्सेदारी की मांग कर रहे हैं, जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सागर गोप व जैनुल खान ने कहा कि रोहिणी बल्थरवा कोल डंप से 1200 परिवार को रोजगार मिला है, जिससे 10 हजार लोगों की जीविका चल रही है। उनके रोजी-रोटी को छीनने और रोजगार पर किसी तरह का हमला बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सभा को अनिल पासवान, राजेश गोप, महेंद्र चौहान सहित अन्य लोगों ने भी संबोधित किया। सभा में अनिल पासवान, राजेश गोप, महेंद्र चौहान, जैनुल खान, बुल्ला अंसारी, बसंत उरांव, रवींद्र पासवान, रानी देवी, विजय लोहरा, छोटू राम, मधु मुंडा, जगदीश गंझू, कामता देवी, जॉन लकड़ा, जीरा देवी, पार्वती देवी, हीरा देवी, बिरबल भुइयां, अनिल महतो, फुलमती देवी, कलावती देवी आदि थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×