• Home
  • Jharkhand News
  • Ranchi
  • News
  • तीन वार्डों में एक माह से सरकारी पेयजलापूर्ति ठप
--Advertisement--

तीन वार्डों में एक माह से सरकारी पेयजलापूर्ति ठप

इनदिनों पड़ रही भीषण गर्मी के बावजूद शहर की बड़ी आबादी वाले डुरुआ क्षेत्र में सरकारी पेयजलापूर्ति सेवा पिछले एक...

Danik Bhaskar | May 01, 2018, 03:20 AM IST
इनदिनों पड़ रही भीषण गर्मी के बावजूद शहर की बड़ी आबादी वाले डुरुआ क्षेत्र में सरकारी पेयजलापूर्ति सेवा पिछले एक माह से ठप है। पेयजलापूर्ति सेवा ठप होने से वार्ड चार, पांच व छह में पीने के पानी के लिए मचा हाहाकार मचा हुआ है। जानकारी के अनुसार डुरुआ बस्ती के समीप औरंगा नदी के तट पर स्थित पंप हाउस में लगा मोटर व पंप दोनों खराब है।

नगर पंचायत विभाग उसे बनवाने में गंभीरता नहीं दिखा रहा है। नतिजतन, विभागीय लापरवाही का खामियाजा तीनों वार्ड की आम जनता को भुगतना पड़ रहा है। इस संबंध में विभाग के कार्यपालक पदाधिकारी अरुण कुमार भारती के मोबाइल पर कई बार कॉल किया गया, उन्होंने मोबाइल रिसिव करना मुनासिब नहीं समझा। ऐसे में डुरुआ क्षेत्र में सरकारी पेयजलापूर्ति सेवा कब बहाल होगी, यह बताने वाला भी कोई नहीं है।

तीन वार्ड के सैकड़ों लोग हैं प्रभावित : डुरुआ क्षेत्र की सरकारी पेयजलापूर्ति ठप रहने से शहरी क्षेत्र के तीन वार्डों की आबादी बुरी तरह से प्रभावित है। लोगों को चापाकल से पानी लाना पड़ रहा है। पैसे देने के बाद भी उनके घरों तक पानी पहुंचाने वाले लोग नहीं मिल रहे हैं। लोगों को स्वयं चापाकलों से पानी भरकर लाना पड़ रहा है। पेयजलापूर्ति ठप रहने से चापकलों में सुबह-शाम लोगों की भीड़ देखी जा रही है।

शिकायत के बाद भी विभाग गंभीर नहीं : क्षेत्र की आम जनता ने कई बार इसकी शिकायत विभाग के लोगों से की है। इसके बाद भी विभाग गंभीरता नहीं दिखा रहा है। सम्मी कपूर, अक्ष्य गुप्ता, पप्पु सरदार समेत अन्य लोग बताते हैं कि वाटर सप्लाई बंद रहने से हमारी परेशानियां बढ़ गई है। पीने के पानी के लिए हमें भीषण गर्मी में पसीने बहाने पड़ रहे हैं। डुरुआ वासियों ने जिले के उपायुक्त राजीव कुमार से मामले में पहल करने की मांग की है।

लातेहार नपं अध्यक्ष सीतामणि तिर्की ने कहा कि मुझे इस बात की जानकारी नहीं थी। कल ही पंप हाउस का निरीक्षण कर डुरुआ क्षेत्र के तीन वार्डों में जल्द से जल्द पेयजलापूर्ति सेवा सुनिश्चित कराई जाएगी। लापरवाही बरदाशर््त नहीं की जाएगी।