रांची

  • Home
  • Jharkhand News
  • Ranchi
  • News
  • हु तू तू में ग्रामीण खिलाड़ियों को संवारा जा रहा
--Advertisement--

हु तू तू में ग्रामीण खिलाड़ियों को संवारा जा रहा

प्रो कबड्डी के बाद देश के हर कोने में कबड्‌डी खेलने का जुनून खिलाड़ियों मेंं बढ़ते ही जा रहा है। प्रो कबड्‌डी के...

Danik Bhaskar

Apr 17, 2018, 02:35 AM IST
प्रो कबड्डी के बाद देश के हर कोने में कबड्‌डी खेलने का जुनून खिलाड़ियों मेंं बढ़ते ही जा रहा है।

प्रो कबड्‌डी के सफल संचालन के बाद आंकड़ों की मानें तो देश में कबड्डी खिलाड़ियों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। इसी कड़ी में रांची के कई प्रखंडों में कबड्डी को प्रमोट करने के लिए रांची जिला कबड्डी संघ ने कमर कस लिया है।

खासकर गांव में कबड्डी के प्रचार-प्रसार को लेकर संघ के लोग कोई कसर नहीं छोड़ रहे। रांची जिला के अनगड़ा, नामकुम, ओरमांझी आैर कांके प्रखंड में कबड्‌डी बालक-बालिका खिलाड़ियों का जोश देखते बन रहा है। गोंदलीपोखर स्थित चिलदाग गांव में हर दिन सुबह आैर शाम में खिलाड़ियों को कबड्डी खेलने के गुर सिखाए जा रहे हैं। इनमें छोटे-छोटे बच्चे भी शामिल रहते हैं। गरीब परिवार के अधिकांश खिलाड़ियों को रांची जिला कबड्‌डी संघ के लोग मुफ्त में प्रशिक्षण देकर राज्य स्तरीय आैर राष्ट्रीय स्तर का खिलाड़ी बनाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रहे। अनुभवी राष्ट्रीय खिलाड़ी परमेश्वर महतो आैर अकबर कुरैशी खिलाड़ियों को दांव-पेंच सिखा रहे।

खिलाड़ियों की संख्या बढ़ती जा रही है : प्रवीण सिंह

रांची जिला कबड्डी संघ के महासचिव प्रवीण सिंह ने बताया कि संघ का काम खिलाड़ियों को तैयार करना है। इसके लिए संघ खिलाड़ियों को तराशने का काम शुरू कर चुका है। हम लोग सबसे ज्यादा गांव में जाकर खिलाड़ियों को तैयार करते हैं। क्योंकि अधिकतर खिलाड़ी गांव में कबड्डी खेलते है। ऐसे खिलाड़ियों में जोश भरकर उच्च स्तर का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। प्रवीण ने कहा कि आनेवाले दिनों में रांची से भी अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ियों को तैयार कर बड़े-बड़े मैचों के लिए बाहर भेजा जाएगा।

टेक्निक पर खिलाड़ियों को ज्यादा फोकस कराया जा रहा

खिलाड़ियों को सबसे ज्यादा नियम कानून के साथ खेलने के लिए प्रेरित किया जाता है। टेक्निक पर खिलाड़ियों को सबसे ज्यादा फोकस कराया जाता है। साथ ही रेडर (कबड्डी-कबड्डी बोलने वाला खिलाड़ी), विपक्षी पाले (कोर्ट) में जाकर वहां मौजूद खिलाड़ियों को छूने का प्रयास, विपक्षी टीम के स्टापर (रेडर को पकड़ने वाले), कोर्ट डॉज बॉल गेम आदि के गुर पर खिलाड़ी निरंतर अभ्यास करते हैं।

Click to listen..