• Home
  • Jharkhand News
  • Ranchi
  • News
  • शहर के 70 हजार घरों में 24 घंटे वाटर सप्लाई के लिए एक साथ बिछेगी पाइप
--Advertisement--

शहर के 70 हजार घरों में 24 घंटे वाटर सप्लाई के लिए एक साथ बिछेगी पाइप

राजधानी के हर घर में 24 घंटे साफ पानी पहुंचाने के लिए अटल नवीकरण एवं शहरी परिवर्तन मिशन (अम्रुत) योजना के तहत दो जोन...

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 03:20 AM IST
राजधानी के हर घर में 24 घंटे साफ पानी पहुंचाने के लिए अटल नवीकरण एवं शहरी परिवर्तन मिशन (अम्रुत) योजना के तहत दो जोन में एक साथ पाइपलाइन बिछाई जाएगी। नगर विकास विभाग की एजेंसी जुडको ने फेज वन का टेंडर निकाला था, लेकिन छोटे कांट्रैक्टर के आने से उसे रद्द कर दिया गया। अब दो फेज को साथ में जोड़कर टेंडर निकाला जाएगा, ताकि बड़ी कंपनी इसमें शामिल हो।

नगर निगम चुनाव के बाद टेंडर निकाला जाएगा। फेज वन में घनी आबादी वाले क्षेत्र हरमू, किशोरगंज, मधुकम, स्वर्ण जयंती नगर, पिस्का मोड़ और अरगोड़ा का क्षेत्र शामिल हंै। इस क्षेत्र में 344 किलोमीटर सप्लाई पानी की पाइपलाइन बिछेगी। 14 वाटर टावर का निर्माण होगा। फेज टू के ए पार्ट में रूक्का डैम में वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का जीर्णोंद्धार किया जाएगा। दो फेज में बंटे इस प्रोजेक्ट से शहर के 70 हजार घर में पानी पहुंचाने की तैयारी है। इसके बाद जोन टू के बी पार्ट में एमजी रोड के चर्च रोड, कांटा टोली वाले क्षेत्र में छूटे हुए मुहल्ले में पानी पहुंचाया जाएगा।

रातू रोड-पिस्का मोड़ एरिया सबसे अधिक प्रभावित

2 इंजीनियरों की लापरवाही से शहर में जलसंकट

रांची | गर्मी में तापमान बढ़ने के साथ ही शहर में जलसंकट बढ़ने लगा है। लोग परेशान हैं। डैम में पर्याप्त पानी होने के बाद भी शहर के करीब 2 लाख लोगों को पर्याप्त व नियमित पानी नहीं मिल पा रहा है। एक ही विभाग के दो इंजीनियरों में कोई तालमेल नहीं होने से यह समस्या लगातार उत्पन्न हो रही है। इसका खमियाजा जनता भुगत रही है। सबसे खराब स्थिति पिस्का मोड़ और रातू रोड जोन की है, जहां पर अनियमित और आंशिक सप्लाई की समस्या खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। रातू रोड जोन में करीब 50 हजार से अधिक घरों में लोगों को पर्याप्त पानीं नहीं मिल रहा है। इसके दो कारण हैं। एक तो समय तय नहीं है। दूसरा लो प्रेशर है।

इन इलाकों में हर दिन जलसंकट

रातू रोड-पिस्का मोड़ क्षेत्र की कम से कम 2 लाख आबादी पूरी तरह से हर दिन अघोषित जलसंकट झेल रहा है। रातू रोड, इंद्रपुरी, आर्यपुरी, शिवपुरी, अल्कापुरी, मेट्रो गली, पिस्का मोड़, हेसल, हेहल, दयाल नगर, लक्ष्मी नगर, मधुकम, पहाड़ी मंदिर इलाका, कुम्हार टोली, हरमू रोड, किशोरगंज, जयप्रकाश नगर और खादगढ़ा सहित आसपास के क्षेत्रों में हर दिन जलसंकट स्थिति है।

कई बार बूटी डिविजन व ऊपर के अफसरों को यह बात कही गई है कि रातू रोड को पर्याप्त पानी नहीं मिल रहा है। गोंदा डिविजन केवल बूटी से मिलने वाली का वितरण भर है। जितना पानी मिलेगा, उसी हिसाब से सप्लाई होगी। -टी चौधरी, ईई गोंदा

दोनों ने लगाया एक-दूसरे पर आरोप

सभी एरिया में उसके डिमांड के अनुसार पानी भेजा जा रहा है। अगर, लोकल स्तर पर सप्लाई ठीक से नहीं हो रही है, तो उसमें क्या किया जा सकता है। रूक्का या बूटी में समस्या आती है, तभी कम पानी जाता है। -सुनील कुमार, ईई बूटी