Hindi News »Jharkhand »Ranchi »News» रिम्स डॉक्टर्स कॉलोनी में महिला प्रोफेसर से चेन छिनतई, गिरने से हाथ टूटा, कमर में चोट

रिम्स डॉक्टर्स कॉलोनी में महिला प्रोफेसर से चेन छिनतई, गिरने से हाथ टूटा, कमर में चोट

रिम्स के पैथोलॉजी विभाग की एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. ललिता खेस के गले से अपराधियों ने सोने की चेन छीन ली। घटना सोमवार...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 01, 2018, 03:40 AM IST

  • रिम्स डॉक्टर्स कॉलोनी में महिला प्रोफेसर से चेन छिनतई, गिरने से हाथ टूटा, कमर में चोट
    +1और स्लाइड देखें
    रिम्स के पैथोलॉजी विभाग की एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. ललिता खेस के गले से अपराधियों ने सोने की चेन छीन ली। घटना सोमवार दोपहर दो बजे की है। डॉ. ललिता रिम्स से डॉक्टर्स काॅलोनी स्थित अपने घर (क्वार्टर नंबर-41) जा रही थीं। घर के दरवाजे का ग्रिल खोलने के दौरान बाइक सवार दो युवक पीछे से आए और चेन छीनकर फरार हो गए। चेन छीनने के दौरान डॉ. ललिता गिर गईं, जिससे उनका बायां हाथ फ्रैक्चर हो गया। उन्हें कमर में भी चोट लगी है। घटना के बाद मौके पर उपस्थित लोगों ने उन्हें रिम्स पहुंचाया। यहां उनका एक्स-रे कराया गया।

    मां की हालत देख बेटी बेहोश

    चेन छिनतई की घटना और चोट लगने के कारण डॉ. ललिता खेस जमीन पर बैठ गई। गंभीर चोट के कारण वह खड़ी नहीं हो पा रही थी। इसी बीच शोर सुनकर उनकी बेटी वहां पहुंची। लेकिन अपनी मां की हालत देखकर बेहोश हो गई। घर में मां-बेटी ही थे। उधर से गुजर रहे रिम्स के ड्राइवर सरकार दा जब वहां पहुंचे और घटना का पता चला तो उन्होंने डॉ. ललिता को घर के अंदर ले गए। इसी बीच सूचना पाकर वहां कई रिम्स स्टाफ पहुंच गए और फिर उन्हें इमरजेंसी वार्ड ले जाया गया।

    रोज की तरह रिम्स से पैदल ही आ रही थीं घर

    डॉ. ललिता खेस ने बताया कि लंच आवर में वह हर दिन की तरह रिम्स से पैदल ही घर आ रही थीं। उनका आवास डॉक्टर्स काॅलोनी के पहले तल्ले पर है। वह ग्रिल का दरवाजा खोल रही थी। तभी पीछे से आए अपराधियों ने उनके गले की चेन छीन ली और फरार हो गए। वह किसी को देख भी नहीं पाई। घटना की सूचना बरियातू थाने को दी गई है।

    शाम में नशेड़ियों का अड्‌डा बन जाता है डॉक्टर्स काॅलोनी कैंपस

    रिम्स डॉक्टर्स काॅलोनी में आए दिन आपराधिक घटनाएं हो रही हैं। शाम होते ही कैंपस में नशेड़ियों का अड्डा हो जाता है। कई बार इसकी लिखित शिकायत रिम्स प्रबंधन और बरियातू थाने को की गई है, लेकिन इस पर कोई ठोस कार्रवाई नहीं हुई। डॉक्टर्स कालोनी के परिसर की चहारदीवारी भी जहां-तहां से टूटी हुई है। इससे कोई भी काॅलोनी में घुस सकता है। इंट्रेंस भी कई रास्ते हैं। इस घटना के बाद डॉक्टर्स काॅलोनी में रह रहे चिकित्सकों में भय है।

    दो महीने में छह बड़ी वारदातें, एक अपराधी भी गिरफ्तार नहीं

    03 मार्च : पंडरा सूर्या कॉलोनी स्थित बुजुर्ग महिला से स्नैचिंग 17 मार्च : लालपुर पीस रोड शारदा अपार्टमेंट के पास महिला से चेन स्नैचिंग

    21 मार्च : बरियातू रानी बागान में महिला से चेन स्नैचिंग 26 मार्च : कांके रोड स्थित कैंब्रियन स्कूल के पास महिला से स्नैचिंग 24 अप्रैल : खेलगांव स्थित सैनिक कॉलोनी में महिला से चेन स्नैचिंग 24 अप्रैल : पंडरा काजू बागान के पास सुबह टहलने निकली महिला से स्नैचिंग

    रिम्स में इलाजरत युवती बोली-आर्थिक तंगी से परेशान हो नींद की गोलियां खाईं

    रांची | सर्कुलर रोड में रविवार रात नशे की हालत में मिली सिक्किम की युवती की हालत में सुधार है। उसका रिम्स में इलाज चल रहा है। सोमवार शाम लालपुर पुलिस ने उसका बयान लिया। उसने बताया कि वह कांके रोड स्थित रॉयल कैफे में काम करती है। उसका परिवार आर्थिक रूप से काफी कमजोर है। रांची में भी उसे बहुत कम पैसे मिलते हैं। इस कारण वह काफी परेशान चल रही है। इसी कारण उसने नींद की गोली खाकर सुसाइड करने की कोशिश की। इधर, सुबह में स्वास्थ्य सचिव ने इमरजेंसी वार्ड में युवती से मुलाकात कर हालचाल लिया।

    पीसीआर जवानों ने गश्ती के दौरान रविवार रात 10.30 बजे न्यूक्लियस मॉल के पास से एक युवती समेत दो युवकों को पकड़ा था। इसके बाद लालपुर थाने को सुपुर्द कर दिया। वहां से युवती को महिला थाने ले जाया गया। वहां युवती को काफी नशे में देखते हुए सदर अस्पताल भेज दिया गया, फिर वहां से उसे रिम्स रेफर कर दिया गया। डॉक्टरों ने बताया कि युवती ने नींद की कई गोलियां खाई थीं।

    पुलिस को दिए बयान में युवती ने हिरासत में लिए गए दोनों युवकों को निर्दोष बताया है। उसने बताया कि वे दोनों युवक उसके साथ थे। पहले उसके साथ ही काम करते थे। युवती ने कहा कि जब उसने नींद की गोलियां खा ली तो पहले एक युवक को फोन कर बुलाया। युवक वहां पहुंचा और युवती की स्थिति ठीक नहीं देखी तो अपने दूसरे साथी को बुला लिया। ताकि सहारा देकर उसे उसके घर तक छोड़ा जा सके। दोनों युवक उसे घर छोड़ने जा रहे थे। इसी बीच पुलिस ने तीनों को पकड़ लिया।

    पैथोलॉजी विभाग में हैं डॉ. ललिता खेस

    रिम्स इमरजेंसी लाया गया, डॉक्टर्स काॅलोनी के लोग भय व गुस्से में

  • रिम्स डॉक्टर्स कॉलोनी में महिला प्रोफेसर से चेन छिनतई, गिरने से हाथ टूटा, कमर में चोट
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×