• Hindi News
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • News
  • परीक्षा नियंत्रक अब अनुपस्थित भी रहेंगे तब भी स्टूडेंट्स को मिलेगा प्रमाण पत्र
--Advertisement--

परीक्षा नियंत्रक अब अनुपस्थित भी रहेंगे तब भी स्टूडेंट्स को मिलेगा प्रमाण पत्र

रांची यूनिवर्सिटी के परीक्षा नियंत्रक डॉ. आशीष कुमार झा लंबे समय से विवाद में हैं। स्टूडेंट्स के आधा दर्जन...

Dainik Bhaskar

May 18, 2018, 03:40 AM IST
परीक्षा नियंत्रक अब अनुपस्थित भी रहेंगे तब भी स्टूडेंट्स को मिलेगा प्रमाण पत्र
रांची यूनिवर्सिटी के परीक्षा नियंत्रक डॉ. आशीष कुमार झा लंबे समय से विवाद में हैं। स्टूडेंट्स के आधा दर्जन संगठनों ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। इनका आरोप था कि परीक्षा नियंत्रक अपने कार्यालय में समय नहीं देते हैं। वीसी डॉ. रमेश कुमार पांडेय को आवेदन देकर पद से हटाने की मांग की। आरयू प्रशासन ने परीक्षा नियंत्रक को पद से तो नहीं हटाया है, लेकिन उनके अधिकारों में कटौती कर दी है। अब वे अपने ऑफिस में नहीं रहते हैं तो सर्टिफिकेट पर परीक्षा विभाग के ओएसडी डॉ. राजकुमार शर्मा हस्ताक्षर करेंगे। रांची विवि के इतिहास में यह पहली बार ऐसा हुआ है, जब परीक्षा नियंत्रक के कार्यालय में नहीं रहने की स्थिति में दूसरे अधिकारी प्रमाण पत्रों पर सिग्नेचर करेंगे। इसके अलावा डॉ. राजकुमार शर्मा को उत्तर पुस्तिकाओं की स्क्रूटिनी और सूचना का अधिकार (आरटीआई) का भी दायित्व दिया गया है।

वोकेशनल कोर्स का कार्य देखेंगे डॉ. सिंह

परीक्षा विभाग में पेंडिंग कार्य नहीं रहे, इसके लिए पीजी फिजिक्स डिपार्टमेंट के शिक्षक डॉ. राजकुमार सिंह को वोकेशनल कोर्स और बीएड कोर्स का कार्य देखने के लिए प्रतिनियुक्त किया गया है। इस संबंध में आरयू प्रशासन द्वारा डॉ. राजकुमार सिंह को दिए गए दायित्व से संबंधित लेटर जारी कर दिया गया है।

पीजी और बीटेक देखेंगे डॉ. उपाध्याय

आरयू प्रशासन द्वारा डॉ. राजकुमार उपाध्याय को परीक्षा विभाग में असिस्ट करने के लिए प्रतिनियुक्त किया गया है। वे स्नातकोत्तर कला, विज्ञान और वाणिज्य का कार्य देखेंगे। इसके अलावा बीटेक का भी परीक्षा से संबंधित कार्य देखेंगे।

परीक्षा विभाग में बाहरी व्यक्ति के कार्य करने के मामले की जांच करेगी कमेटी

रांची | रांची यूनिवर्सिटी के परीक्षा विभाग में गिरधारी कुमार नामक एक बाहरी व्यक्ति पिछले नौ माह से कार्य करता रहा। इसके लिए तीन सदस्यीय कमेटी गठित की गई है। इसमें डीएसडब्ल्यू डॉ. पीके वर्मा कमेटी के अध्यक्ष होंगे। प्रॉक्टर डॉ. दिवाकर मिंज सदस्य और डिप्टी रजिस्ट्रार अजय लकड़ा मेंबर सेक्रेट्री बनाए गए हैं। विवि मुख्यालय में चर्चा है कि जब किसी मामले को शांत करना होता है तो आरयू द्वारा कमेटी गठित कर दी जाती है।

यह है पूरा मामला : कथित कर्मचारी (बाहरी व्यक्ति) ने वीसी डॉ. रमेश पांडेय के समक्ष कहा कि मैं आरयू के परीक्षा नियंत्रक के आदेश पर कार्य कर रहा हूं। परीक्षा विभाग के कर्मचारी नागेश्वर मंडल गवाह हैं। नागेश्वर ने कहा कि परीक्षा नियंत्रक के मौखिक आदेश से गिरधारी कार्य कर रहा है। परीक्षा नियंत्रक डॉ. आशीष झा ने वीसी को लिखित देकर कहा था मैं गिरधारी नामक व्यक्ति को कार्य करने dk मौखिक आदेश नहीं दिया था।

X
परीक्षा नियंत्रक अब अनुपस्थित भी रहेंगे तब भी स्टूडेंट्स को मिलेगा प्रमाण पत्र
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..