--Advertisement--

राज्य भर के आंगनबाड़ी केंद्रों में लटके ताले

राज्यभर से आईं आंगनबाड़ी सेविका-सहायिकाओं ने राजभवन मार्च किया। पॉलिटिकल रिपोर्टर | रांची राज्य के करीब 38600...

Dainik Bhaskar

May 08, 2018, 03:45 AM IST
राज्यभर से आईं आंगनबाड़ी सेविका-सहायिकाओं ने राजभवन मार्च किया।

पॉलिटिकल रिपोर्टर | रांची

राज्य के करीब 38600 आंगनबाड़ी केंद्रों में सोमवार से ताला लटक गया। आंगनबाड़ी सेविका एवं सहायिकाएं अपने-अपने केंद्र को बंद करके अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चली गई। सोमवार को पूरे राज्य से जुटी सेविका एवं सहायिकाओं द्वारा मोरहाबादी मैदान से राजभवन तक मार्च का आयोजन किया गया। इन्होंने सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगाया और जल्द से जल्द मांगे पूरी करने की मांग की। कार्यक्रम में प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष बालमुकुंद सिन्हा ने कहा कि विगत 17 जनवरी से वे लोग हड़ताल पर थे। 23 जनवरी को विभागीय प्रधान सचिव के साथ के वार्ता हुई जिसमें लिखित तौर पर मांगों पर सहमति बनी। तीन माह के अंदर मांग पूरे होने के आश्वासन के बाद हड़ताल वापस लिया गया। लेकिन आज चार माह बीत जाने के बाद भी मांगे पूरी नहीं हुई। इसके विरोध में मुख्यमंत्री आवास घेराव कार्यक्रम किया गया है। प्रदेश अध्यक्ष वीणा सिन्हा ने कहा कि सेविका एवं सहायिकाएं समाज के सबसे अंतिम व्यक्ति की रात-दिन सेवा करती हैं। सहाय ने बताया प्रतिदिन राजभवन के समक्ष दो-दो जिलों की सेविका-सहायिकाएं आएंगी और धरने पर बैठेंगी। यह है मांगे :सेविका-सहायिकाओं को तृतीय एवं चतुर्थवर्गीय कर्मचारियों का दर्जा देकर मानदेय नहीं वेतन दिया जाए। सेविका को 24 हजार तथा सहायिका को 12 हजार रुपए मिले समेत अन्य मांग शामिल हैं।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..