Hindi News »Jharkhand »Ranchi »News» गरीबों से जुड़ी योजनाओं का बैंक नहीं देते पूरा पैसा, कोताही बर्दाश्त नहीं : मुख्यमंत्री

गरीबों से जुड़ी योजनाओं का बैंक नहीं देते पूरा पैसा, कोताही बर्दाश्त नहीं : मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने बैंक अफसरों को कड़ी चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि गरीबों से जुड़ी योजनाओं को पूरा करने...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 18, 2018, 03:45 AM IST

गरीबों से जुड़ी योजनाओं का बैंक नहीं देते पूरा पैसा, कोताही बर्दाश्त नहीं : मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री रघुवर दास ने बैंक अफसरों को कड़ी चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि गरीबों से जुड़ी योजनाओं को पूरा करने के लिए राज्य सरकार तेजी से काम कर रही है। लेकिन बैंक इसमें पूरी तरह सहयोग नहीं कर रहे हैं। पैसा जमा होने के बाद भी लाभुकों को पूरी राशि नहीं दी जा रही है। ऐसी कोताही सरकार बर्दाश्त नहीं करेगी। गरीबों को दौड़ाना बंद करें। वे गुरुवार को सभी बैंकों के राज्यस्तरीय प्रमुखों, महाप्रबंधकों और उप महाप्रबंधकों के साथ बैठक कर रहे थे।

लाभुक आएं, तो उन्हें पूरा पैसा दें

सीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना में कहीं-कहीं लाभुक के खाते में किस्त की राशि आने के बाद भी उन्हें पूरी राशि नहीं दी जा रही है। इसके पीछे बैंकों में राशि की कम उपलब्धता को बताया जाता है। जब लाभुक आये, तो तत्काल उसे पूरी राशि दी जाए। आधार सीडिंग के मामले में मुख्यालय व जिला स्तर पर एक नोडल अधिकारी को लगायें, जो वहीं से बैठकर खातों को आधार से जोड़े। बीडीओ द्वारा प्रमाणित आधार सीडिंग में आनाकानी नहीं की जानी चाहिए।

बैठक में सीएम बोले- राज्य सरकार तेजी से काम कर रहे, बैंक सहयोग नहीं कर रहे।

हर पंचायत भवन में एटीएम खोलें

हर पंचायत भवन या सुरक्षा बलों के कार्यालय में बैंक एटीएम खोलें, ताकि हर किसी को राशि निकालने के लिए बैंक के चक्कर न काटने पड़े। वृद्धा पेंशन, विधवा पेंशन आदि के लाभुकों को भी दौड़ाने की सूचना मिलती रहती है। गरीबों असहाय लोगों को बार-बार न दौड़ायें। इससे सरकार की छवि भी खराब होती है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि जहां बैंक सहयोग नहीं कर रहे हैं, वहां कड़ाई करें। लोगों को मुख्यमंत्री जन संवाद 181 पर शिकायत करने के लिए कहें।

सखी मंडल को लोन देने में कंजूसी नहीं करें : सखी मंडल को लोन देने में कंजूसी नहीं करें। इनके छोटे-छोटे लोन होते हैं। ये समय से राशि भी लौटाती हैं। उन्होंने विलफुल डिफॉल्टर की सूची बैंकर्स से देने को कहा, ताकि बैंकों के ऋण वसूली में मदद की जा सके। बैठक में विकास आयुक्त अमित खरे, वित्त विभाग के अपर मुख्य सचिव सुखदेव सिंह सीएम के प्रधान सचिव सुनील वर्णवाल समेत अन्य थे।

गांवों की तकदीर बदलेगी ग्राम विकास समिति

रांची| दक्षिणी छोटानागपुर प्रमंडल के जिलों की फ्लैगशिप योजनाओं की समीक्षा करते हुए गुरुवार को मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि आदिवासी विकास समिति और ग्राम विकास समिति जन सहभागिता को विकास से जोड़ते हुए गरीबी दूर करेगी और गांवों के विकास की नई तकदीर लिखेगी। पांच लाख रुपए तक के विकास योजनाओं का पैसा सीधे इन समितियों को मिलेगा। सीएम ने कहा कि 24 मई जल संग्रहण दिवस के रूप में मनाया जाएगा। उस दिन से पूरे राज्य में 1000 तालाबों की खुदाई शुरू होगी। 7 जून तक इसका निर्माण पूरा हो जाना चाहिए। दक्षिणी छोटानागपुर के पांचों जिलों में 251 पर्कुलेशन टैंक गांवों में आदिवासी विकास समिति और ग्राम विकास समिति के माध्यम से बनाए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि राज्य में 89 माॅडल स्कूल बनाए गए हैं, जिनमें डीसी जरूरत के हिसाब से घंटी आधारित शिक्षक की बहाली करें। जो बच्चे पुराने पाठ्यपुस्तकों विद्यालय को वापस करेंगे उन्हें प्रमाण पत्र दिया जाएगा। कस्तूरबा विद्यालयों में गलत नामांकन न हो। बाल विवाह रोकने वाले पंचायतों को सम्मान और प्रोत्साहन दोनों मिलेगा। जानकारी मिल रही है कि काॅल आते ही चार मिनट के अंदर 108 मोबाइल चिकित्सा वैन मरीजों तक पहुंच जाती है। दिन रात बेहतर काम करने वाले इन चालकों को बधाई और सलाम।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×