• Home
  • Jharkhand News
  • Ranchi
  • News
  • सवारी वाहनों और बाइकों से ढोये जाते हैं कोयले, नहीं है रोकटोक
--Advertisement--

सवारी वाहनों और बाइकों से ढोये जाते हैं कोयले, नहीं है रोकटोक

टाटीझरिया प्रखण्ड में कोयले की अवैध तस्करी के खिलाफ अभियान छेड़ना नए थानेदार के लिए चुनौती होगी। कोयला सवारी...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 04:00 AM IST
टाटीझरिया प्रखण्ड में कोयले की अवैध तस्करी के खिलाफ अभियान छेड़ना नए थानेदार के लिए चुनौती होगी। कोयला सवारी गाड़ियों में ढोया जाता है। कोयला तस्कर बेरोजगारी वश इस धंधे में शामिल रहने की बात करते हैं। गोमियां, बनासो, विष्णुगढ़ रूट में चलने वाली सवारी गाड़ियों में कोयला ढोया जाता है। एसपी अनीश गुप्ता ने कोयले के अवैध कारोबार करने वाले लोगों पर कार्रवाई करते हुए कोयला ढोने वाली गाड़ियों को जब्त करने की बात कही है।

प्रतिदिन करीब दस ट्रैक्टर तथा 60 से अधिक मोटरसाइकिल से कोयला ढोया जा रहा है। सवारी गाड़ियों में कोयले की बोरियां भरकर बाहर से पर्दा गिरा दिया जाता है और दिनदहाड़े इसका कारोबार किया जाता है। प्रखंड के डहरभंगा, केशड़ा, घुघुलिया, बान्डीह, खम्भवा, अमनारी, बौद्धा, धरमपुर, कोल्हू, बेड़म, केशोडीह, बन्हे, झरपो, भराजो, खैरा, टाटीझरिया के विभिन्न ईंट भट्ठों एवं होटलों में प्रतिदिन कोयला गिराया जा रहा है। 407 सवारी वाहनों में सीट के नीचे से लेकर उपर तक कोयला भरकर इन सभी वाहनों में सीमेंट की बोरियों में भरकर कोयला खपाया जा रहा है। इसी तरह से प्रत्येक एक-दो दिन छोड़कर सात ट्रैक्टरों से बसंतपुर, एदला, हरली, चोंय, सिमरागढ़ा, किमी, मसुलिया, टुटकी, बेड़म, मुरकी, टाटीझरिया, होलंग से सतरह माइल से, गुलाब लाईन होटल के बगल से होते हुए झरपो, भराजो, बौद्धा, अमनारी, खम्भवा, कोल्हू, बेड़म समेत कई स्थानों से ट्रैक्टरों के माध्यम से प्रतिदिन रात्रि नौ बजे से सुबह छह बजे के बीच अवैध कोयले को विभिन्न ईंट भट्ठों में गिराया ( खपाया ) जा रहा है। इस संबंध में टाटीझरिया थाना प्रभारी देवेंद्र प्रसाद सिंह ने कहा कि कोयला का अवैध कारोबार नहीं होने दिया जाएगा।