झारखंड / लोहरदगा में कर्फ्यू के छठे दिन दो अलग-अलग पालियों में 4 घंटे की दी गई ढील, फिर कर्फ्यू जारी

कर्फ्यू में ढील के बाद खरीदारी करते लोग। कर्फ्यू में ढील के बाद खरीदारी करते लोग।
कर्फ्यू में ढील के बाद हालत पर नजर रखे जवान। कर्फ्यू में ढील के बाद हालत पर नजर रखे जवान।
कर्फ्यू में ढील के बाद हालत पर नजर रखे पुलिस अधिकारी। कर्फ्यू में ढील के बाद हालत पर नजर रखे पुलिस अधिकारी।
X
कर्फ्यू में ढील के बाद खरीदारी करते लोग।कर्फ्यू में ढील के बाद खरीदारी करते लोग।
कर्फ्यू में ढील के बाद हालत पर नजर रखे जवान।कर्फ्यू में ढील के बाद हालत पर नजर रखे जवान।
कर्फ्यू में ढील के बाद हालत पर नजर रखे पुलिस अधिकारी।कर्फ्यू में ढील के बाद हालत पर नजर रखे पुलिस अधिकारी।

  • दोपहर 12 बजे से 2 बजे और फिर 2 बजे से शाम 4 बजे तक खरीदारी की रही छूट 
  • चार घंटे की ढील के दौरान आईजी, डीआईजी जिले में शांति व्यवस्था में नजर रखे रहे

दैनिक भास्कर

Jan 29, 2020, 06:22 PM IST

लोहरदगा. प्रशासन की ओर से कर्फ्यू के छठे दिन दो अलग-अलग पालियों में बुधवार को 4 घंटे की ढील दी गई है। पहली पाली के तहत दोपहर 12 बजे से 2 बजे तक और फिर 2 बजे से शाम 4 बजे तक कर्फ्यू में लोगों को खरीदारी की छूट दी गई। इस दौरान दवाई, राशन, दूध, सब्जी इत्यादि की दुकानें खुली रही। चार बजे के बाद फिर से कर्फ्यू जारी कर दिया गया। ढील के बीच आईजी नवीन कुमार सिंह व डीआईजी अमोल वेणुकांत होमकर खुद कैंप करते हुए शांति व्यवस्था बहाल करने लगे रहें। तथा कई स्थानों से अधिकारियों को विभिन्न दिशा निर्देश देते रहे। 

प्रशासन ने लोगों से किसी भी तरह के अफवाह पर ध्यान न देने की अपील की थी। इससे पहले सोमवार की सुबह 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक ढील के बाद पुन: कर्फ्यू लागू कर दी गई थी। जिले में 23 जनवरी को सीएए के समर्थन में निकले जुलूस में पथराव के बाद बिगड़े हालात के बाद से जिला पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी सामान्य माहौल बनाने में जुटे हुए हैं। 

अबतक 21 उपद्रवियों को किया गया है गिरफ्तार

आईजी नवीन कुमार सिंह ने प्रेस कान्फ्रेंस कर बताया कि अबतक 21 उपद्रवियों की गिरफ्तारी की जा चुकी हैं। वहीं 55 लोगों से बॉन्ड भरवाकर छोड़ा गया है। उन्होंने बताया कि कुछ लोगों की संलिप्तता की भी जांच की प्रक्रिया चल रही है जिनके खिलाफ सबूत हैं, उन्हें ही न्यायालय में प्रस्तुत किया जाएगा। अब आमजनों के सहयोग से शांति व्यवस्था लगातार कायम है। उम्मीद है कि जल्द जिले में सामान्य स्थिति हो जाएगी। इस दिशा में जिला प्रशासन लगातार प्रयासरत है। 

आईजी ने बताया कि जिले में हालात का जायजा लेते हुए बुधवार को कर्फ्यू में दो बार ढील दी गई। लोगों को आवश्यक सामग्रियां खरीदने की छूट दी गई। लोगों को आवश्यक चिकित्सीय सुविधाएं 24 घंटे मिले, इसकी भी व्यवस्था की गई है। लोगों को गैस सिलिंडर भी मिले इसके लिए भी व्यवस्था की गई। लोग इसके लिए अपने संबंधित गैस एजेंसी को भी फोन कर अपने घर में गैस मंगवा सकते हैं। कहा कि लोग अपने घर में भी गैस सिलिंडर प्राप्त कर रहे हैं, ऐसा फीडबैक हमें मिला है। प्रतिनियुक्त पदाधिकारी व दण्डाधिकारी भी लोगों के घर जाकर घर के सदस्यों से बात कर रहे हैं। इस दौरान लोगों ने भी हमें शांति और सौहार्द्र का भरोसा दिलाया है। लोग आपस में भी बात कर यह भरोसा दे रहे हैं। जिले के सभी प्रखंडों में शांति समिति की बैठक हो गई है और जल्द ही जिला स्तर पर शांति समिति की बैठक की जायेगी। लोगों ने शांति समिति की बैठक में हमें शांति और सौहार्द्र का भरोसा दिलाया है और हमें उम्मीद है कि जल्द ही स्थिति सामान्य हो जाएगी। आईजी ने कहा कि जल्द लंबी दूरी वाली गाड़ियों का परिचालन शुरू कराया जाएगा। प्रेस कांन्फ्रेंस के मौके पर डीआईजी अमोल वेणुकांत होमकर व डीसी आकांक्षा रंजन भी मौजूद थीं। 

30 जनवरी को भी बंद रहेंगे सभी स्कूल व कॉलेज
जिले के सभी सरकारी, गैर सरकारी स्कूल सहित सभी कॉलेज 30 जनवरी को बंद रहेगा। इसकी जानकारी देते हुए जिला शिक्षा पदाधिकारी रतन महावर ने बताया कि कर्फ्यू के मद्देनजर सभी स्कूल, कॉलेज बंद रहेगा। उधर, जिले के नागरिकों से अपील किया गया है कि 100 नंबर पर डायल कर अफवाह, भ्रामक सूचना फैलाने वाले लोगों की सूचना दें। कहा गया है कि क्षेत्र में उत्पन्न विधि व्यवस्था के आलोक में सम्पूर्ण जिला धारा 144 की निषेधाज्ञा, कर्फ्यू लागू होने के कारण किसी व्यक्ति को तत्कालिक आपातकालीन सहायता की आवश्यकता हो तो मोबाइल नंबर 9471163670 पर या डायल 100 पर सम्पर्क कर सहायता प्राप्त कर सकते हैं।

मंगलवार को गिरफ्तार पांच आरोपियों की आज कोर्ट में हुई पेशी
वहीं, सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने के आरोप में 5 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पांचों को आज न्यायालय में पेश किया गया जिसके बाद आगे की कार्रवाई की जा रही है। आईजी नवीन कुमार सिंह ने बताया कि जिले में स्थिति शांतिपूर्ण है। लगातार हालात पर नजर रखी जा रही है। उन्होंने बताया कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से एक व्यक्ति के पोस्ट को ऐसा पाया गया, जिससे सांप्रदायिक सद्भाव बिगड़ सकता था। उस आपत्तिजनक पोस्ट किए जाने के आरोप में उसे गिरफ्तार किया गया है और उस पर सांप्रदायिक भावना भड़काने के आरोप में कांड दर्ज किया गया है। चेतावनी के बाद आपत्तिजनक ट्विटर पोस्ट को हटा लिया गया है। 

सोशल मीडिया पर रखी जा रही नजर
आईजी नवीन कुमार सिंह ने बताया सोशल मीडिया पर भी निगरानी रखी जा रही है। पुलिस प्रशासन आम लोगों से अपील करता है कि किसी भी पोस्ट के सत्यापन के बिना कोई भी पोस्ट या मैसेज नहीं करें। आईजी जिले में शांति बहाल को लेकर कैंप किए हैं। उपद्रवियों पर कार्रवाई करने की प्रक्रिया भी चल रही है। कई लोगों को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है। आईजी आपरेशन, रेंज डीआईजी, पांच एसपी रैंक के अधिकारी, 15 डीएसपी रैंक के अधिकारी कैंप कर रहे हैं। इसके अलावा बोकारो, हजारीबाग, रांची, लातेहार, गुमला सहित अन्य जिलों से पहुंचे जैप, रैफ, जगुआर, सीआरपीएफ व झारखंड पुलिस के जवानों द्वारा गली मुहल्लों में लगातार फ्लैग मार्च कर एक-एक लोगों पर नजर रखी जा रही है।

रविवार को हुई थी हिंसा में घायल युवक की मौत
23 जनवरी को भड़की हिंसा में घायल युवक की रिम्स में इलाज के दौरान सोमवार को मौत हो गई थी। भगदड़ में गिरने से युवक की सिर पर गहरी चोट आई थी। जानकारी के मुताबिक, रैली पर पथराव के बाद मची भगदड़ में गिरने से नीरज राम प्रजापति (40) का सिर पत्थर से टकरा गया था। वो किसी तरह घर पहुंचा जहां उसकी स्थिति खराब होने पर उसे सदर अस्पताल लाया गया। यहां से उसे 24 जनवरी को रांची स्थित आर्किड अस्पताल भेजा गया। वहां से नीरज को 25 जनवरी की शाम को रिम्स में भर्ती कराया गया। जहां इलाज के दौरान सोमवार को उसकी मौत हो गई।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना