अपराध / डायन के शक में दपंती की पिटाई, महिला को मरा समझकर भागे ग्रामीण



अपने संरक्षण में बालो नगेशिया को अपने वापस घर लाती पुलिस। अपने संरक्षण में बालो नगेशिया को अपने वापस घर लाती पुलिस।
X
अपने संरक्षण में बालो नगेशिया को अपने वापस घर लाती पुलिस।अपने संरक्षण में बालो नगेशिया को अपने वापस घर लाती पुलिस।

  • मारपीट से पहले ग्रामीणों ने की थी बैठक, जांच पड़ताल में जुटी पुलिस

Dainik Bhaskar

Sep 13, 2019, 07:20 PM IST

लोहरदगा. पेशरार थाना क्षेत्र के जावाखाड़ ठेपा टोली में डायन बिसाही के मामले में एक महिला को जान से मारने का प्रयास करने का मामला प्रकाश में आया। जानकारी के अनुसार गुरुवार को करीब 30 की संख्या में ग्रामीण जवाखाड़ निवासी 60 वर्षीय सुखराम नगेसिया के घर के निकट बैठक करने लगे। जिसमें चर्चा किया गया कि सुखराम की पत्नी बालो नगेशिया डायन है, जो पूरे गांव को अपने जादू टोना से कब्जे में रखा है। सुखराम ने बताया कि बैठक के बाद दयामनी नगेसिया ने मेरे पति को तूने ही खायी है यह कहकर मारने लगी। साथ में मुन्ना नगेसिया, मोहन नगेसिया, हगरु नगेसिया, सिबन नगेसिया व बंधनु नगेसिया सहित अन्य लोग भी सुखराम व बालो को मारने लगे। यहां से सुखराम बाथरूम जाने के बहाने भाग निकला। इसके बाद ग्रामीण बालो की पिटाई करते रहे।

 

सुखराम ने फोन कर पुलिस को दी जानकारी
भागने के बाद सुखराम ने फोन पर पेशरार थाना के पुलिस अधिकारियों को घटना की सारी जानकारी दी। पेशरार थाना प्रभारी सबन भेंगरा व बगड़ू थाना प्रभारी सोनू चौधरी पुलिस दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। मामले की छानबीन करने के दौरान चौकीदार मदन नगेसिया ने बताया कि बालो नगेसिया जिंदा है और केकरांग में जाकर चैती नगेसिया के घर में शरण ली हुई है। जब पुलिस केकरांग पहुंची तो बालो को घर में पाया गया। ग्रामीणों द्वारा मारपीट किए जाने से बालो के हाथ पैर में सूजन आ गया था। पुलिस द्वारा पूछताछ किए जाने पर बालो ने बताया कि ग्रामीणों ने लाठी-डंडे से उसकी पिटाई की है। जब मैं बेहोश हो गई तो वे मुझे मरा समझकर छोड़ कर भाग निकले। थाना प्रभारी ने बताया कि कुछ लोगों पर नामजद एफआईआर किया गया है। जल्द ही सभी आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी। 

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना