डबल मर्डर / पति ने पत्नी और उसके प्रेमी की कर दी पीट-पीटकर हत्या, थाना जाकर किया सरेंडर

X

  • आरोपी की पत्नी का पड़ोस के युवक से था प्रेम प्रसंग, मामले को लेकर पंचायत भी हुई थी

May 10, 2019, 01:39 PM IST

लोहरदगा. जिले के सदर प्रखंड क्षेत्र के रामपुर गांव निवासी 35 वर्षीय सागर साहू ने गुरुवार रात अपनी पत्नी और उसके प्रेमी की हत्या कर दी। आरोपी पति ने दोनों को आपत्तिजनक हालत में रंगेहाथों पकड़ लिया था। इसके बाद उसने पहले 30 वर्षीय पत्नी प्रतिमा देवी की धारदार चाकू से वार कर और फिर उसके 20 वर्षीय प्रेमी गणेश ठाकुर पर लकड़ी के फट्‌टे से वार कर हत्या कर दी। हत्या के बाद आरोपी ने घर पर ताला लगा दिया और सदर थाना पहुंच पुलिस के समक्ष घटना की जानकारी देते हुए ताले की चाभी सौंप आत्मसर्मपण कर दिया। उसके आत्मसमर्पण करने के बाद सदर थाना पुलिस हरकत में आयी। 

 

सुबह पुलिस ने बरामद किया शव
सदर थाना प्रभारी सह इंस्पेक्टर राणा जयप्रकाश दल बल के साथ शुक्रवार सुबह रामपुर स्थित घटनास्थल पहुंचे। घर का ताला खोलने पर उन्होंने देखा कि फर्श पर महिला व उसके प्रेमी का शव पड़ा था। इसके बाद पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजवाया। इस क्रम में पुलिस ने हत्यारे के परिजनों से भी कई बिंदुओं पर पूछताछ की। शव को भेजवाने के बाद पुलिस ने आरोपी को जेल भेज दिया।

 

मृतका के हैं दो बच्चे
आरोपी और मृतका के दो बच्चे भी है। इधर, मामले पर आरोपी सागर के छोटे भाई मुकेश साहू ने बताया कि भाभी के अवैध रिश्ते को लेकर गांव में छह वर्षों में तीन बार पंचायत भी बैठ चुकी है। वहीं एक बार मृतक प्रेमी पर पांच हजार रूपए का धर्मदंड भी लगाया जा चुका है। वहीं मृतक द्वारा उसके मृतका भाभी को दिए गए मोबाईल व सिम कार्ड को भी पंचायत के समक्ष मृतक को वापस कराया गया था। उसने यह भी बताया कि मृतक गणेश ने उसके भाभी को अवैध संबंध की बात परिजनों को देने पर जान से मारने की धमकी भी देता था। वहीं दूसरी ओर पुलिस मामला दर्ज करने के बाद जांच पड़ताल में जुट गई है। सदर अस्पताल पहुंचे एसडीपीओ जितेंद्र सिंह ने बताया कि प्रथम दृष्ट्या मामले पर आरोपी को जेल भेजा जा चुका है। अन्य बिंदुओं पर भी पुलिस जांच में जुटी है। मृतक नदिया स्थित एक सैलून में बार्बर का काम करता था।

 
2007 में हुई थी शादी

आरोपी सागर और मृतिका प्रतिमा की शादी 2007 में समाज के बीच धूमधाम से हुई थी। शादी के छह साल के बाद से ही मृतक गणेश घर आने जाने लगा था। इस बीच इसकी भनक लगने पर हत्यारे सागर द्वारा इसका विरोध भी किया जाता था। अभी घटना के पहले तीन माह पूर्व ही मृतक गणेश मृतका के साथ पकड़ा गया था। तब पंचायत ने बॉन्ड भरवाने के बाद उसे कड़ी चेतावनी भी दी गई थी। वापस मृतका के घर के आस-पास नजर नहीं आने की भी बात कही गई थी। 

 

आरोपी करता है तरबूज का व्यापार 
आरोपी अपने भाई के साथ तरबूज का व्यापार करता था। वह मूल रूप से खेती कर परिवार का भरण पोषण करता था। व्यापार के दौरान वह ज्यादातर घर से लंबे समय के लिए बाहर रहता था। इसी बीच गुरुवार रात भी वह घर से बाहर ही था। लेकिन देर रात वह व्यापार से आयी जमा राशि को रखने घर आया था। जहां उसने रंगे हाथ पत्नी व उसके प्रेमी को पकड़ लिया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना