लोकसभा चुनाव / नाम वापसी की तिथि के दो दिन बाद ही प्रत्याशियों को देना होगा खर्च का ब्योरा



Lok Sabha Election candidates will have to give details of expenditure Only two days after date of withdrawal
X
Lok Sabha Election candidates will have to give details of expenditure Only two days after date of withdrawal

  • रांची लोस क्षेत्र के प्रत्याशियों को चार चरणों में देना है खर्च का ब्योरा, पहला चरण 25 को 

Dainik Bhaskar

Apr 20, 2019, 11:08 AM IST

रांची. रांची लोकसभा सीट के लिए नामांकन करने वाले प्रत्याशियों की स्क्रूटनी शनिवार को होगी। इसके एक दिन बाद यानि 22 अप्रैल को नाम वापस लेने की अंतिम तिथि निर्धारित है। नाम वापसी के दो दिन बाद ही 25 अप्रैल को मैदान में डटे प्रत्याशियों को अपने खर्च का हिसाब देना होगा। प्रत्याशियों को नामांकन से लेकर खर्च का ब्योरा देने तक की तिथि में किस मद में कितना खर्च हुआ, इसका पूरा डिटेल देना होगा। दरअसल प्रत्याशियों को अपने खर्च का ब्योरा चार चरण में देना होगा। 25 अप्रैल के बाद 29 अप्रैल, तीन मई और 29 मई को खर्च का ब्योरा देना है। 29 मई को दिए जाने वाले अंतिम खर्च के ब्योरे में मतगणना तक कितना खर्च हुआ, इसका पूरा डिटेल देना होगा। 

1042 लाइसेंसी हथियार जमा नहीं हुए, 22 के बाद होगी कार्रवाई

  1. लोकसभा चुनाव को लेकर रांची जिला के सभी लाइसेंसधारियों को अपने हथियार जमा करने का निर्देश जिला प्रशासन की ओर से दिया गया था। पहले 22 फरवरी से तीन मार्च तक का समय निर्धारित था, इसके बाद दो बार और समय दिया गया। अब लाइसेंसी हथियार जमा करने के लिए डीसी की ओर से जारी अंतिम नोटिस की समय सीमा भी 20 अप्रैल को पूरी हो रही है। इसके बावजूद अभी भी 1042 लाइसेंसी हथियार की कोई जानकारी जिला प्रशासन को नहीं
    मिली है। हथियार जमा नहीं करने वालों के खिलाफ 22 अप्रैल के बाद कार्रवाई शुरू होगी। 

  2. 235 लाइसेंसी को हथियार रखने की मिली है छूट

    जिला प्रशासन द्वारा जिले में 3312 लाइसेंस दिए गए हैं। अब तक 1950 हथियार थाना व आर्म्स डीलर के यहां जमा किए जा चुके हैं। वहीं, सुरक्षा कारणों से जिन लोगों ने हथियार रखने के लिए आवेदन दिया था, उनमें 320 लाइसेंसधारियों को हथियार को रखने की छूट दी गई है। आर्म्स मजिस्ट्रेट श्वेता वेद ने बताया कि सभी को थानावार नोटिस दे दी गई है। इसके बाद भी हथियार जमा नहीं किए गए तो संबंधित लाइसेंसधारी पर कानूनी कार्रवाई के साथ लाइसेंस रद्द कर दिया जाएगा। 

  3. ब्योरा नहीं देने वाले अगले चुनाव लड़ने से होंगे अयोग्य

    खर्च का ब्योरा प्रत्याशियों व उनके एजेंट को कलेक्ट्रेट ए ब्लॉक के कमरा नंबर- जी वन में देना होगा। इसी कमरे में अनुवीक्षण कोषांग का गठन किया गया है। निर्धारित तिथि में सुबह 10.30 बजे खर्च का ब्योरा दिया जा सकता है। प्रत्याशी द्वारा खर्च का ब्योरा प्रस्तुत नहीं करने पर नियमानुसार कार्रवाई होगी। इसके अलावा अगले चुनाव में चुनाव आयोग द्वारा अयोग्य भी घोषित किया जा सकता है। मतलब अगला चुनाव नहीं लड़ पाएंगे। 

  4. मांडर भेजे जाने वाले ईवीएम-वीवीपैट की सीलिंग का काम शुरू

    लोहरदगा लोकसभा सीट पर चुनाव को लेकर मांडर विधानसभा क्षेत्र की ईवीएम-वीवीपैट की सीलिंग का कार्य शुक्रवार से मोरहाबादी स्थित बिरसा मुंडा फुटबाल स्टेडियम में शुरू किया गया। अपर समाहर्ता सत्येंद्र कुमार की देखरेख में 90 टेबलों पर ईवीएम व वीवीपैट मशीनों में कंडिडेट सेटिंग और सीलिंग प्रक्रिया शुरू हुई। मालूम हो कि लोहरदगा लोकसभा सीट पर 29 अप्रैल को चुनाव होना है। इसके लिए मांडर के बूथों के लिए ईवीएम-वीवीपैट सील किए जा रहे हंै। 

  5. खर्च की जांच करेगा कोषांग

    प्रत्याशियों द्वारा सौंपे गए खर्च के ब्योरा की जांच कोषांग के द्वारा की जाएगी। क्योंकि, जिला निर्वाचन कार्यालय की ओर से टेंट से लेकर समोसा-चाय तक का रेट तय किया जा चुका है। ब्योरे में दर्शाए गए खर्च का मिलान जिला निर्वाचन के रेट से किया जाएगा। एक प्रत्याशी अधिकतम 70 लाख रुपए खर्च कर सकता है। इसके तहत सार्वजनिक बैठक, रैली, पोस्टर-बैनर, वाहन, मीडिया में विज्ञापन शामिल हैं। शराब वितरण और पेड न्यूज पर खर्च को अवैध माना जाएगा। 

  6. जरनल ऑब्जर्वर ने ईवीएम सेल का किया निरीक्षण

    रांची लोकसभा के जरनल ऑब्जर्वर आईएएस हरजिंदर सिंह ने शुक्रवार को मोरहाबादी स्थित ईवीएम कोषांग का निरीक्षण किया। इसके बाद ओरमांझी गए। इस दौरान वाहनों की जांच के लिए तैनात किए गए स्टेटिक सर्विलांस टीम (एसएसटी) से जानकारी हासिल की। इस दौरान जिला खनन पदाधिकारी रवि कुमार सिंह भी मौजूद थे। 

  7. चुनाव संबंधी गड़बड़ी की शिकायत सीधे ऑब्जर्वर से मोबाइल फोन करें

    रांची लोकसभा के अंतर्गत आने वाले ईचागढ़, सिल्ली, खिजरी, रांची, हटिया और कांके विधानसभा क्षेत्र में चुनाव के दौरान किसी प्रकार की गड़बड़ी होने पर आम लोग या राजनीतिक दल के प्रतिनिधि अपनी शिकायत सीधे जरनल ऑब्जर्वर से कर सकते हैं। इसके लिए उनके मोबाइल नंबर 9798301969 पर कॉल की जा सकती है, जबकि मुलाकात का समय एक घंटा शाम 5.00 बजे से 6.00 बजे तक तय किया गया है। मुलाकात के लिए जिला खनन पदाधिकारी रवि कुमार सिंह से संपर्क करना होगा। उसके बाद ही मिलने का समय तय किया जाएगा।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना