--Advertisement--

झारखंड / पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा बरी, होटवार जेल में कैदियों के साथ मारपीट का था आरोप



मधु कोड़ा। (फाइल फोटो) मधु कोड़ा। (फाइल फोटो)
X
मधु कोड़ा। (फाइल फोटो)मधु कोड़ा। (फाइल फोटो)
  • न्यायालय ने साक्ष्य के अभाव में बरी किया

Dainik Bhaskar

Oct 12, 2018, 12:28 PM IST

रांची.  बिरसा मुंडा केन्द्रीय कारा में कैदियों के साथ मारपीट के मामले में कोर्ट ने पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा को साक्ष्य के अभाव में बरी कर दिया है। ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट मनीष कुमार की अदालत ने शुक्रवार सुबह ये फैसला सुनाया। मामला 31 अक्टूबर 2011 का है और इसमें 2013 से गवाही चल रही थी।

पांच साल में मात्र तीन गवाहों के बयान हुए दर्ज

  1. मारपीट के इस मामले में पिछले पांच साल में मात्र 3 गवाहों के बयान दर्ज कराए गए थे। मामले से जुड़े अन्य गवाहों को कोर्ट में हाजिर कर गवाही कराने के लिए न्यायिक दंडाधिकारी ने रांची के एसएसपी और डीजीपी को कई बार पत्र लिखा, लेकिन गवाह नहीं आए। बुधवार को कोर्ट में आरोपी मधु कोड़ा भी हाजिर हुए थे। कोर्ट ने कहा था कि अभियोजन को गवाह लाने के लिए काफी मौके दिए गए। अब गवाही आगे नहीं चल सकती। 

  2. क्या था मामला

    31 अक्टूबर 2011 की दोपहर में होटवार जेल में हवाला मामले में बंद मधु कोड़ा ने अन्य कैदियों के साथ मारपीट और गाली-गलौज की थी। इस घटना को लेकर सजायाफ्ता बंदी राजू तांती ने कोड़ा के साथ-साथ एनोस एक्का, हरिनारायण राय, सावना लकड़ा और प्रदीप कुमार के खिलाफ सदर थाने में एफआईआर दर्ज कराई थी। मामले में जांच की कार्रवाई करते हुए सब इंस्पेक्टर कमलेश कुमार ने सिर्फ मधु कोड़ा के खिलाफ अदालत में चार्जशीट दाखिल की। अन्य आरोपियों के खिलाफ साक्ष्य की कमी दिखाते हुए अंतिम प्रपत्र सौंपा था। 

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..