--Advertisement--

बयान / झारखंड के विकास एवं भाजपा की सरकार से मुक्ति दिलाने के लिए महागठबंधन आवश्यक: मधु कोड़ा



मधु कोड़ा ने कहा कि राज्य में बाहर के लोग बड़ी संख्या में नौकरियों में भरे जा रहे हैं। मधु कोड़ा ने कहा कि राज्य में बाहर के लोग बड़ी संख्या में नौकरियों में भरे जा रहे हैं।
X
मधु कोड़ा ने कहा कि राज्य में बाहर के लोग बड़ी संख्या में नौकरियों में भरे जा रहे हैं।मधु कोड़ा ने कहा कि राज्य में बाहर के लोग बड़ी संख्या में नौकरियों में भरे जा रहे हैं।

Dainik Bhaskar

Oct 13, 2018, 07:28 PM IST

खूंटी. झारखंड के विकास के लिए भाजपा की सरकार से मुक्ति दिलाने के लिए महागठबंधन आवश्यक है। जिस उद्देश्य से अलग झारखंड राज्य का निर्माण किया गया था वह उद्देश्य नजर नहीं आ रहा। झारखंड के लोगों का झारखंड नहीं बन सका। झारखंड की जनता भय में जी रही है। उक्त बातें पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा ने कही। चाईबासा जाने के क्रम में शनिवार को कांग्रेस जिला कार्यालय में जिलाध्यक्ष रामकृष्णा चौधरी, किशोर गौंझू, विल्सन तोपनो, सयूम अंसारी सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं ने गीता कोड़ा एवं पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा का स्वागत किया। 

पढ़े-लिखे नौजवान कर रहे पलायन

  1. गीता कोड़ा ने कहा कि झारखंड के पढ़े-लिखे नौजवान रोजगार के लिए पलायन कर रहे हैं। राज्य में महिलाएं सुरक्षित नहीं है। महिलाओं के खिलाफ अत्याचार की घटनाएं बढ़ रही हैं एवं झारखंड की बीजेपी सरकार मौन धारण किए हुए है। गीता कोड़ा ने कहा कि झारखंड का समुचित विकास राहुल गांधी के नेतृत्व से ही संभव है। मीडिया से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि पार्टी द्वारा जो भी जिम्मेदारी दी जाएगी उसे सच्चे कार्यकर्ता की तरह निभाऊंगी। 

  2. झारखंड में लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति दयनीय

    इस अवसर पर पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा ने कहा कि झारखंड के लिए अलग झारखंड राज्य का निर्माण किया गया था। परंतु राज्य में झारखंड के लोगों की जिस तरह भागीदारी दिखनी चाहिए वह नहीं दिख रही है। झारखंडियों के सम्मान एवं पहचान के लिए राज्य बना था। उन्होंने कहा कि राज्य में लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति दयनीय है। सरकार आवाज उठाने वालों को झूठे मुकदमों में फंसा कर दबाने का काम कर रही है। किसान, व्यवसायी, छात्र, महिलाएं सरकार से नाराज हैं।

  3. राज्य में बाहर के लोगों को दी जा रही नौकरियां

    पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा ने कहा कि रोजगार के क्षेत्र में झारखंड के छात्रों को जो भागीदारी होनी चाहिए वह नहीं हो रहा। राज्य में बाहर के लोग बड़ी संख्या में नौकरियों में भरे जा रहे हैं।

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..