पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सीएए के समर्थन में निकाले गए जुलूस पर पथराव, उपद्रवियों ने 18 दुकानें और 85 गाड़ियां जलाईं; कर्फ्यू

10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हंगामे के बाद सड़क पर बिखरे पत्थर और तैनात सुरक्षाबल के जवान।
  • पुलिस के तीन वाहनों में की गई तोड़फोड़, पथराव में एसपी समेत दो जवान भी घायल
  • तनाव काे देखते हुए शहर में सीआरपीएफ व जैप के जवान तैनात कर दिए गए हैं
  • उपद्रव के कारण रेलवे ने रात 8.50 बजे लोहरदगा से रांची आने वाली पैसेंजर ट्रेन रद्द की

लोहरदगा. सिटीजनशिप एमेंडमेंट एक्ट (सीएए) के समर्थन में गुरुवार को लोहरदगा शहर में निकले जुलूस पर पथराव के बाद दाे पक्षाें में भिड़ंत हाे गई। दाे घंटे तक शहर उपद्रवियाें के कब्जे में रहा। उपद्रवी तत्वाें ने 18 दुकानाें काे आग के हवाले कर दिया। 80 बाइक, चार पिकअप वैन और एक ट्रक फूंक दिया। पुलिस के तीन वाहनाें में ताेड़फाेड़ की गई। पत्थरबाजी में दाेनाें ओर के 25 लाेग घायल हाे गए। घायलों में दीपक सर्राफ सहित तीन को रिम्स रेफर किया गया।


हिंसा पर उतारू भीड़ काे नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने फायरिंग की। आंसू गैस छाेड़ी। पथराव में एसपी प्रियदर्शी आलाेक भी घायल हाे गए। उनकाे बचाने में दाे जवानाें काे भी चाेट लगी। बिगड़ते हालात काे देखते हुए एसपी ने खुद 100 राउंड से ज्यादा हवाई फायरिंग की। भीड़ पर जवानाें ने लाठीचार्ज किया। प्रशासन ने शांति व्यवस्था बहाल करने के लिए तत्काल प्रभाव से कर्फ्यू लगा दिया है। पूरे शहर में धारा-144 लागू है। एसडीओ ज्योति झा ने माइक से पूरे शहर में कर्फ्यू लगाए जाने की सूचना दी। तनाव काे देखते हुए शहर में सीआरपीएफ व जैप के जवान तैनात कर दिए गए हैं। डीआईजी एवी होमकर भी घटनास्थल पर पहुंच चुके थे। देर रात डीसी आकांक्षा रंजन, एसपी प्रियदर्शी आलोक और एसडीओ ज्योति झा ने माेर्चा संभाल रखा था। 

हालात पर काबू के लिए 12 डीएसपी प्रतिनियुक्त
लोहरदगा में बिगड़े हालात पर काबू पाने के लिए राज्य सरकार की ओर से 12 डीएसपी को प्रतिनियुक्त किया गया है। देर रात से ही सबने मोर्चा संभाल लिया है। इधर, उपद्रव को देखते हुए रेलवे ने रात 8.50 बजे लोहरदगा से रांची आने वाली पैसेंजर ट्रेन को रद्द कर दिया। इससे 150 यात्री स्टेशन के पास फंसे रहे।

रैली निकालते ही किया पथराव
सुबह सीएए के समर्थन में स्थानीय लोग रैली में शामिल होने ललित नारायण मिश्र स्टेडियम में जुटे थे। वहीं दूसरी ओर सीएए के विरोध में दूसरे पक्ष के लोग सड़कों पर जुटे थे। जिसकी सूचना पर पुलिस व प्रशासन के वरीय अधिकारियों ने सड़कों पर जुटे लोगों को समझाने का कार्य किया था। इसी बीच रैली मुख्य पथ होते हुए अमला टोली से आगे बढ़ी थी कि अचानक अमला टोली के निकट एक पक्ष द्वारा पथराव शुरू कर दिया गया जिसके बाद स्थिति तनावपूर्ण बन गई।

आरोप- कम थे पुलिसकर्मी, उपद्रवियों ने इसका फायदा उठाया
पत्थरबाजी में घायल लोगों का कहना है कि जुलूस के लिए उन्होंने प्रशासन से अनुमति ली थी। प्रशासन की ओर से जुलूस की सुरक्षा के लिए पुलिसकर्मियों की मांग की गई थी। इसके बाद गुरुवार सुबह जुलूस के साथ कुछ पुलिसकर्मियों को लगाया गया था। कम पुलिस होने का फायदा उपद्रवियों ने उठाया। घायलों ने बताया कि जुलूस निकलने से ठीक पहले कुछ उपद्रवी सड़कों पर घूम रहे थे। इस दौरान पुलिस ने उन्हें खदेड़ा, लेकिन कोई ठोस कार्रवाई नहीं की।

गिरिडीह में भी जुलूस पर हुआ था पथराव
इससे पहले 14 जनवरी को गिरिडीह में नागरिकता संशाेधन अधिनियम के समर्थन में निकाली गई तिरंगा यात्रा पर पथराव हाे गया था। शहर के माैलाना आजाद चाैक और बीबीसी राेड पर दाेनाें ओर से जमकर पत्थर और लाठी-डंडे चले। इसमें एक पुलिसकर्मी सहित पांच लाेग घायल हाे गए थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- रचनात्मक तथा धार्मिक क्रियाकलापों के प्रति रुझान रहेगा। किसी मित्र की मुसीबत के समय में आप उसका सहयोग करेंगे, जिससे आपको आत्मिक खुशी प्राप्त होगी। चुनौतियों को स्वीकार करना आपके लिए उन्नति के...

और पढ़ें