पलामू / झोलाछाप डॉक्टर की लापरवाही से महिला की मौत; बच्ची सुरक्षित, डॉक्टर फरार

इसी भवन में चलता था मुस्कान नर्सिंग होम। इसी भवन में चलता था मुस्कान नर्सिंग होम।
X
इसी भवन में चलता था मुस्कान नर्सिंग होम।इसी भवन में चलता था मुस्कान नर्सिंग होम।

  • फरार डॉक्टर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज, नर्सिंग होम को किया गया सील

दैनिक भास्कर

Dec 12, 2019, 06:31 PM IST

पलामू. मेदिनीनगर थाना क्षेत्र में झोलाछाप डॉक्टर की लापरवाही के चलते एक प्रसूता की मौत हो गई। हालांकि नवजात सुरक्षित है। मृतका के परिजनों ने संबंधित थाना में मामला दर्ज करा दिया है जबकि सिविल सर्जन ने कार्रवाई करते हुए झोलाछाप डॉक्टर के नर्सिंग होम समेत वहां के समान को जप्त करते हुए उसकाे सील करा दिया है। मामला पाटन प्रखंड के किशुनपुर का है।

जानकारी के मुताबिक, झाेलाछाप डॉक्टर उमेश कुमार गुप्ता के मुस्कान नर्सिंग होम में बुधवार की देर शाम इमली गांव के नंदलाल राम ने अपनी गर्भवती पत्नी गुड़िया देवी को प्रसव के लिए भर्ती कराया था। यहां डॉक्टर उमेश कुमार गुप्ता ने उसका सिजेरियन ऑपरेशन किया। इसमें गुड़िया देवी को बच्ची हुई। ऑपरेशन के बाद झाेलाछाप डॉक्टर ब्लीडिंग को रोकने में विफल रहा। इससे महिला की स्थिति बिगड़ने लगी। थोड़ी देर बाद आरोपी डॉक्टर प्रसूता को एंबुलेंस के जरिए मेदिनीनगर ले गया। यहां कार्रवाई के डर से उसे पीएमसीएच में नहीं ले जाकर अपनी पहचान के किसी चिकित्सक के पास ले गया, जहां केस को बिगड़ा हुआ देखकर चिकित्सक ने उसे लेने से इंकार करते हुए रांची ले जाने की सलाह दी।

गया ले जाने के दौरान शेरघाटी में उसकी मौत हो गई
रांची ले जाने की सलाह के बावजूद झाेलाछाप डॉक्टर महिला को गया ले जाने लगा। गया पहुंचने के पहले शेरघाटी में महिला की मौत हो गयी। उसके बाद झाेलाछाप डॉक्टर एंबुलेंस के चालक को मृतका के शव को उसके गांव पहुंचा देने के बात कहते हुए वहीं उतरकर फरार हो गया। उसके बाद एंबुलेंस चालक मृतका के शव को लेकर गांव पहुंचा, जहां शव के पहुंचते ही परिजनों ने हंगामा शुरु कर दिया। उसके बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने झाेलाछाप डॉक्टर गुप्ता के मुस्कान नर्सिंग होम में ताला लगा दिया। सूचना पाकर पाटन के थाना प्रभारी आशीष कुमार गांव पहुंचे और मृतका के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए पीएमसीएच भेज दिया। 

सिविल सर्जन ने सील कराया नर्सिंग होम
वहीं दूसरी ओर मामले को तूल पकड़ता देख सिविल सर्जन डॉक्टर जॉन एफ केनेडी गुरुवार को किशुनपुर पहुंचे। वहां उन्होंने झाेलाछाप डॉक्टर उमेश कुमार गुप्ता के मुस्कान नर्सिंग होम के समान को जप्त करते हुए उसको सील करा दिया। 

प्रसव के लिए महिला को किया गया था पीएमसीएच रेफर 
पूरे मामले पर पाटन के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर जुबेर अहमद ने बताया कि बुधवार की शाम को गुड़िया देवी प्रसव कराने के लिए किशुनपुर स्वास्थ्य केंद्र पहुंची थी। जहां ड्यूटी पर तैनात एएनएम मनोरमा कुमारी, मुन्नी टोप्पो ने उसकी जांच की। जांच में उसके पेट में बच्चा उल्टा मिला। इसकी जानकारी देते हुए एएनएम ने महिला को पलामू मेडिकल कॉलेज अस्पताल रेफर कर दिया। इसके बाद महिला के परिजन झाेलाछाप डॉक्टर गुप्ता के दलाल के चक्कर में फंस गए।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना