--Advertisement--

सौदा / दलालों ने दिल्ली में दो बच्चों की मां को 55 हजार में बेचा, हॉस्टल में काम दिलाने का दिया था झांसा



सिम्बॉलिक इमेज। सिम्बॉलिक इमेज।
X
सिम्बॉलिक इमेज।सिम्बॉलिक इमेज।
  • धोखे से लेकर दिल्ली पहुंचा, प्लेसमेंट एजेंसी चलाने वाली महिला को बेचा 
  • मौका देखकर वह आखिरकार घर से भाग निकलने में कामयाब रही

Dainik Bhaskar

Sep 16, 2018, 10:23 AM IST

रांची. रांची के हॉस्टल में काम दिलाने का झांसा देकर दलालों ने बेड़ो की सुम्मी उराइन को दिल्ली में 55 हजार रुपए में बेच दिया। वहां से किसी तरह भाग कर रांची पहुंची सुम्मी ने एंटी ह्ययूमन ट्रैफिकिंग थाना, रांची में एफआईआर दर्ज कराई है। इसमें खटंगा (बेड़ो) निवासी बिरसा उरांव और सिसई निवासी विनोद लोहरा पर बेचने का आरोप लगाया है। 

प्लेसमेंट एजेंसी चलाने वाली महिला को बेचा

  1. दोनों आरोपियों की तलाश कर रही पुलिस

    सुनीता ने उसे अपने साथ काम पर रखा था। कुछ दिनों बाद जब उसने सुनीता को कहा कि उसके छोटे-छोटे बच्चे हैं। उन्हें मिलने का मन कर रहा है। इसलिए वह रांची लौटना चाहती है। इस पर सुनीता ने उसे बताया कि अब उसकी वापसी
    संभव नहीं है। विनोद को उसने 55 हजार रुपए देकर उसे खरीदा है। उसके घर 8000 रुपए भी भेजे हैं। ऐसे कैसे उसे जाने दे सकती है। सुम्मी ने बताया कि काम करने के दौरान सुनीता से एक पैसा भी नहीं दिया। रांची आने पर भी जब उसने पूछतछ की तो पता चला कि विनोद ने घर में कोई पैसा नहीं दिया है। पुलिस दोनों आरोपियों को खोज रही है। 

  2. गिड़गिड़ाती रही, पर प्लेसमेंट एजेंसी की संचालिका नहीं पिघली

    सुम्मी ने बताया कि ह्यूमन ट्रैफिकिंग की शिकार होने का अहसास होने के बाद उसने सुनीता के पास लाख गिड़गिड़ाया कि वह उसे छोड़ दे। लेकिन सुनीता को उस पर तरस नहीं आया। बच्चों का हवाला देने पर भी उस पर कुछ असर नहीं हुआ। आखिरकार एक दिन मौका देखकर वह सुनीता के घर से भाग निकलने में कामयाब रही। किसी तरह दिल्ली स्टेशन पहुंची। फिर वहां से ट्रेन पकड़कर रांची आई। यहां आने के बाद सबसे पहले वह घर गई और दोनों बच्चों से मिली। इसके बाद एंटी ह्ययूमन ट्रैफिकिंग थाने आकर दोनों दलालों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई। 

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..