धनबाद / तीन साल से बंद है मुनीलाल का राशन, हाईकाेर्ट ने संज्ञान लेकर धनबाद डीसी से 24 घंटे में मांगी रिपाेर्ट



85 वर्षीय मुनीलाल यादव काे पिछले तीन साल से राशन नहीं मिल रहा है। 85 वर्षीय मुनीलाल यादव काे पिछले तीन साल से राशन नहीं मिल रहा है।
X
85 वर्षीय मुनीलाल यादव काे पिछले तीन साल से राशन नहीं मिल रहा है।85 वर्षीय मुनीलाल यादव काे पिछले तीन साल से राशन नहीं मिल रहा है।

  • हाईकाेर्ट का आदेश मिलते ही प्रशासनिक अधिकारी मुनीलाल के घर पहुंचे, 20 किलाे अनाज उपलब्ध कराया

Dainik Bhaskar

Jun 13, 2019, 11:54 AM IST

रांची/धनबाद. बायाेमीट्रिक मशीन से अंगूठे का निशान मैच न हाेने से बाघमारा के 85 वर्षीय मुनीलाल यादव काे पिछले तीन साल से राशन नहीं मिल रहा है। बुधवार काे एडवाेकेट यशवर्धन सहाय ने साेशल मीडिया में चल रही मुनीलाल की स्थिति काे हाईकाेर्ट के समक्ष रखा। जस्टिस एचसी मिश्रा और जस्टिस दीपक राैशन की खंडपीठ ने इस मामले में संज्ञान लेते हुए धनबाद डीसी काे 24 घंटे में पूरे मामले की रिपाेर्ट देने का आदेश दिया।

 

20 किलाे अनाज उपलब्ध कराया
हाईकाेर्ट का आदेश मिलते ही जिला प्रशासन रेस हाे गया। दाे घंटे के भीतर प्रशासनिक अधिकारी मुनीलाल यादव के अंगारपथरा स्थित आवास पर पहुंचे। आनन-फानन में प्रशासन ने 20 किलाे अनाज उपलब्ध कराया। एडीएम सप्लाई संदीप कुमार दाेराईबुरू ने बताया कि प्रशासन ने तत्काल अनाज उपलब्ध करा दिया है। स्थानीय बीडीओ काे आदेश दिया गया है कि अन्य व्यवस्था के तहत उन्हें अनाज उपलब्ध कराए। उधर, जानकारी मिलते ही कई नेता भी मुनीलाल के घर पहुंचे और हालात की जानकारी ली।

 

घर में अकेले हैं मुनीलाल
मुनीलाल काे कम दिखाई देता है। ऊंची सुनते हैं। ठीक से बाेल भी नहीं पाते। वे घर में अकेले हैं। पड़ाेसी राजेंद्र यादव ने बताया कि मुनीलाल काे आर्थिक जनगणना 2011 के तहत राशन कार्ड मिला था। लेकिन 23 जुलाई 2016 के बाद से ही उन्हें राशन मिलना बंद हाे गया। कहा जा रहा था कि बायाेमीट्रिक मशीन में उनके अंगूठे का निशान मैच नहीं कर रहा है। इसके बाद डीलर ने उन्हें राशन देना बंद कर दिया। उन्हाेंनें बताया कि उनलाेगाें की मदद से मुनीलाल काे दाे वक्त की राेटी मिलती है। पर उनकी भी स्थिति ऐसी नहीं है कि उनका पालन-पाेषण कर सकें। ऐसे में राशन न मिलने से उनकी स्थिति लगातार खराब हाेती जा रही है। वहीं पड़ाेसियाें ने कहा कि इन्हें आर्थिक मदद की बजाय किसी वृद्धाश्रम में रख दिया जाए ताे बेहतर हाेगा।

 

अनाज क्योें नहीं मिल रहा था, जांच कराएंगे
मुनीलाल को किस वजह से अनाज नहीं मिल रहा था। इसकी जांच कराई जाएगी। ऑफ लाइन भी अनाज देने की व्यवस्था है। वार्ड पार्षद को भी अनाज के लिए फंड दिया गया है। सभी बिंदुओं की जांच होगी। -ए दोड्‌डे, डीसी, धनबाद

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना