बयान / लोगों को उजाड़ने और कुचलने में लगी है डबल बुलडोजर की सरकार : दीपांकर भट्टाचार्य



National General Secretary of CPI Dipankar Bhattacharya On Modi and Raghuvar Sarkar
X
National General Secretary of CPI Dipankar Bhattacharya On Modi and Raghuvar Sarkar

  • दीपांकर ने कहा- पहले अलीबाबा और 40 चोर थे, अब चौकीदार और 36 चोर है..

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2019, 05:58 PM IST

पलामू. भाकपा माले के राष्ट्रीय महासचिव दीपांकर भट्टाचार्य ने कहा है कि झारखंड में डबल इंजन की नहीं बल्कि डबल बुलडोजर की सरकार है जो लोगों को उजाड़ने और कुचलने में लगी है। वह बुधवार को चांदनी रेस्ट हाउस में पत्रकारों से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि झारखंड में मनरेगा में काम नहीं है। मजदूरी भी बाजार से कम है। मिड-डे मिल में लगे रसोइया, सहिया को तो सरकार मजदूर भी नहीं मानती है। विलय के नाम पर रघुवर दास स्कूलों को बंद करने में लगे है। राशन को आधार से जोड़कर छीन लिया गया है। भूख से मौत पर सरकार को कोई दिक्कत नहींं है लेकिन इसकी आवाज उठाने वालों को जेल भेज दिया जाता है। 

भाकपा माले के 22 उम्मीदवार चुनावी मैदान में

  1. दीपांकर भट्टाचार्य ने कहा कि बीते लोकसभा चुनाव में भाकपा माले ने 70 उम्मीदवार दिए थे। इस बार वोट के बिखराव को रोकने के लिए 22 उम्मीदवार चुनावी मैदान में है। इसमें बिहार में 4 और झारखंड में 2 है। झारखंड के कोडरमा सीट से धनवार विधायक राजकुमार यादव चुनाव मैदान में है। पलामू सीट से सुषमा मेहता उम्मीदवार है। उन्होंने कहा कि महागठबंधन से वामदलों को दूर रखा गया और सीटों का बंटवारा भी सही नहीं हुआ। कोडरमा में बीते चुनाव में दूसरे नंबर पर माले के राजकुमार यादव थे। कायदे से वह सीट माले को मिलनी चाहिए थी। उसी प्रकार गोड्डा सीट से बीते चुनाव में फुरकान अंसारी दूसरे नंबर पर रहे थे। दाेनों सीट को झाविमो को दिया गया। 

  2. हिटलरशाही को खत्म कर लोकशाही को बहाल करना मुद्दा

    दीपांकर भट्टाचार्य ने कहा कि आपातकाल के बाद 1977 के चुनाव में पूरे उतर भारत में लोगों ने तानाशाही के खिलाफ वोट किया था। उसके बाद 2019 में अघोषित आपातकाल में चुनाव में हिटलरशाही को खत्म कर लोकशाही को बहाल करना मुद्दा है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने 2014 का चुनाव जिन मुद्दों पर लड़ा था, इस बार सब गायब है। चाहे वह सबका साथ-सबका विकास हो या दो करोड़ बेरोजगारों को रोजगार देने का। इस बार आरएसएस का एजेंडा है। इसमें असम के तर्ज पर पूरे देश में नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन यानी एनआरसी को लागू करने की बात कर लोगों को डरा रहे है कि जिनके पास नागरिकता का सबूत नहीं, उनको हटाएंगे। दूसरी ओर संविधान की मूल भावना सामाजिक आधार पर आरक्षण देने के विरुद्ध आर्थिक आरक्षण दिया गया है। इसमें 8 लाख सलाना आय, 5 एकड़ जमीन वालों को आरक्षण मिलेगा। मॉब लिचिंग तो भाजपा का हॉलमार्क बन गया है। मॉब लिचिंग में जेल जाने वालों को तुरंत बेल मिल जाता है। जेल से निकलने पर उसको फूल-माला से सम्मानित किया जाता है। वहीं, मॉब लिचिंग के शिकार लोगों पर उल्टे केस किया जाता है। रामगढ़ और गुमला की घटना इसका उदाहरण है। 

  3. भाजपा शासित त्रिपुरा में चुनाव अब 23 को

    दीपांकर भट्टाचार्य ने कहा कि चुनाव आयोग ने भाजपा शासित त्रिपुरा में कानून व्यवस्था को निष्पक्ष और स्वतंत्र चुनाव के अनुकूल नहीं पाया है। इस कारण 18 अप्रैल को होने वाला मतदान अब 23 अप्रैल को होगा। इससे भाजपा शासित राज्यों में कानून व्यवस्था का पता चलता है। 

  4. मोदी, योगी और शाह पर लगे 6 साल का लगे प्रतिबंध : दीपांकर भट्टाचार्य

    दीपांकर भट्टाचार्य ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी, यूपी के मुख्यमंत्री योगी और तथाकथित सबसे बड़ी पार्टी के अध्यक्ष शाह आचार संहिता का खुलेआम उल्लंधन कर रहे है। कोई सेना के नाम पर तो कोई बजरंग बली के नाम पर वोट मांग रहा है। कोई एनआरसी के नाम पर मतदाताओं को डरा धमका कर वोट मांग रहा है। चुनाव आयोग ने ऐसा करने पर जिस प्रकार बाल ठाकरे को छह साल के लिए प्रतिबंधित किया था, वैसे ही मोदी,योगी और शाह पर 6 साल का प्रतिबंध लगे।

  5. अब चौकीदार और 36 चोर

    दीपांकर भट्टाचार्य ने कहा कि पहले अलीबाबा और 40 चोर थे। अब चौकीदार और 36 चोर है। इनफोरसमेंट डायरेक्टर ने सुप्रीम कोर्ट में कहा है कि नीरव मोदी, विजय माल्या समेत 36 लोग बैंकों का पैसा लेकर भाग गए है। मोदी जी मैं चौकीदार-मैं चाैकीदार कर रहे है। उन्होंने कहा कि पहले झाविमो के लोग भाजपा में जाते थे अब राजद का नाम भी शामिल हो गया है। अन्नापूर्णा देवी, गिरीनाथ सिंह भी उनमे एक है। उन्होंने कहा कि कानून-संविधान को बचाने की लड़ाई भाकपा माले लड़ता रहेगा। मौके पर उन्होंने चुनावी घोषणा पत्र जारी किया। जनार्दन प्रसाद, रविंद्र भुईयां, सरफराज अहमद, दिव्या भगत आदि मौजूद थे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना