झारखंड / हजारीबाग ओपन जेल में पत्नी संग अाराम फरमा रहा नक्सली कमांडर कुंदन पाहन



कुंदन पाहन। (फाइल फोटो) कुंदन पाहन। (फाइल फोटो)
X
कुंदन पाहन। (फाइल फोटो)कुंदन पाहन। (फाइल फोटो)

  • हजारीबाग जेल में शिफ्ट करने की मांग कर रहा था सांसद-विधायक की हत्या का आरोपी

Dainik Bhaskar

Oct 12, 2019, 11:48 AM IST

रांची. सांसद और विधायक की हत्या का आरोपी कुख्यात नक्सली कमांडर कुंदन पाहन को बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा, होटवार से हजारीबाग ओपन जेल में 20 दिन पहले शिफ्ट कर दिया गया है। कुंदन वहां अपनी पत्नी के साथ आराम फरमा रहा है। कुंदन पाहन पर सांसद सुनील महताे अाैर विधायक रमेश सिंह मुंडा की हत्या करने का आरोप है। कुंदन को अब हजारीबाग ओपन जेल से ही वीडियाे कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोर्ट में पेश किया जाएगा। 

 

14 मई 2017 को पुलिस के सामने किया था सरेंडर 
आत्मसमर्पण करने के बाद हाेटवार जेल भेजे जाने के बाद से कुंदन लगातार हजारीबाग अाेपन जेल में खुद को शिफ्ट करने की मांग कर रहा था। इसके बाद बिरसा मुंडा जेल प्रशासन की अाेर से सरकार द्वारा बनाए गए नियमानूसार कागजी प्रक्रिया पूरी की गई अाैर कोर्ट से आदेश लेने के बाद उसे कड़ी सुरक्षा के बीच हजारीबाग अाेपन जेल में शिफ्ट कर दिया गया। मालूम हो कि सरकार द्वारा चलाए जा रहे आत्मसमर्पण नीति से प्रभावित हाेकर 15 लाख का इनामी नक्सली कुंदन पाहन 14 मई 2017 को रांची में पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया था। कुंदन का पुलिस पिछले कई वर्षाें से तलाश कर रही थी लेकिन सफलता नहीं मिल पा रहा था। कुंदन का आत्मसमर्पण करना पुलिस के लिए बड़ी उपलब्धी थी। आत्मसमर्पण करने के बाद कुंदन को कड़ी सुरक्षा के बीच होटवार में बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा स्थित सेल में रखा गया था। 

 

128 संगीन मामलों में आरोपी है पूर्व नक्सली कमांडर 
झारखंड में आतंक का पर्याय माने जाने वाला नक्सली कुंदन पाहन पर विभिन्न थानाें में कुल 128 मामले दर्ज थे। इसमें हत्या, लूट, आर्म्स एक्ट जैसे संगीन मामले भी शामिल है। कुंदन पर सबसे ज्यादा 50 मामले खूंटी जिला में दर्ज है। इसके अलावा रांची में 42, चाईबासा में 27, सरायकेला में 7 अाैर गुमला में 1 मामला दर्ज है। अपनी हरकत से पूरे राज्य की पुलिस की नींद उड़ा देने वाला कुंदन अचानक 14 मई 2017 को पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था। इसके बाद उसे कड़ी सुरक्षा के बीच हाेटवार जेल स्थित अंडा सेल में रखा गया। अब वह अपनी पत्नी के साथ हजारीबाग अाेपन जेल में आराम फरमा रहा है। 

 

हाेटवार जेल के अंडा सेल में अखबार पढ़कर काटता था समय 
जेल सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार, कुंदन हाेटवार जेल स्थित अंडा सेल में बंद हाेने के बाद ज्यादातर समय में अखबार पढ़ता रहता था। सुबह में जागने के बाद वह नित्य कार्य करने के बाद अखबार पढ़ने बैठ जाता था। प्रतिदिन वह हिंदी का कई अखबार पढ़ता था। कुंदन को किसी से बातचीत करने की भी इजाजत नहीं थी। कोर्ट में पेशी के लिए जाने के दाैरान भी वह शांत हाेकर गाड़ी में बैठा रहता था। कोर्ट से अाने के बाद वह आराम से अपने सेल में चला जाता था। 

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना