खूंटी डीएवी की छात्राओं का ध्वनि प्रदूषण से बिजली पैदा करने वाले यंत्र देशभर के 50 मॉडल में शामिल

Ranchi News - डीएवी खूंटी की खुशी रानी तथा आकांक्षा साहा द्वारा बनायी गयी ध्वनि प्रदूषण से बिजली उत्पन्न करने वाले यंत्र का...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 07:32 AM IST
Khuti News - noise pollution generating electricity from peg dav girl students included in 50 models across the country
डीएवी खूंटी की खुशी रानी तथा आकांक्षा साहा द्वारा बनायी गयी ध्वनि प्रदूषण से बिजली उत्पन्न करने वाले यंत्र का मॉडल देशभर के 50 मॉडल में शामिल किये गये। शुक्रवार को दिल्ली के संत थॉमस गर्ल्स सीनियर स्कूल में नीति आयोग द्वारा अटल इनोवेशन मिशन के तहत आयोजित प्रदर्शनी में देशभर के एक सौ मॉडल प्रोजेक्ट प्रस्तुत किये गये। इसमे खूंटी डीएवी के मॉडल को टॉप 50 प्रोजेक्ट में शामिल किया गया। दिल्ली में आयोजित इस प्रस्तुतीकरण प्रदर्शनी में नॉवेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी तथा स्वीडन के राजदूत मोलिन मुख्य रूप से शामिल होकर बच्चों के इस प्रोजेक्ट का अवलोकन किया। साथ ही उनके द्वारा प्रस्तुत एक से बढ़कर एक मॉडल की सरहाना की। कैलाश सत्यार्थी ने खूंटी के छात्राओं द्वारा प्रस्तुत ध्वनि प्रदूषण से बिजली उत्पन्न करने वाले यंत्र की विशेष रूप से तारीफ की,साथ ही इसके लिए उक्त छात्राओं को पुरस्कृत करते हुए शुभकामनाएं दी। साथ ही मिशन के निदेशक आर रमनन ने बच्चों का उत्साह बढ़ाया। इसके अलावा छात्राओं ने स्वीडन की नाॅवेल पुरस्कार के शैक्षणिक निदेशक अनीका से भी बातचीत किया। विद्यालय के प्राचार्य टीपी झा ने छात्रों की इस वैज्ञानिक सोच तथा टॉप 50 में शामिल किये जाने पर हर्ष व्यक्त करते हुए छात्रों को बधाई व शुभकामनाएं दी। टीपी झा ने बताया कि टॉप 50 मॉडल अब 3,4 तथा 5 अक्टूबर को जयपुर में आयोजित होने वाले कार्यशाला में शामिल होंगे। इस कार्यशाला में उक्त मॉडल को कैसे दैनिक जीवन में इंडस्ट्रीयल यूज में कैसे लाया जा सकता है उस पर चर्चा होगी। गौरतलब है कि विद्यालय के भौतिकी के शिक्षक एम गौरी शंकर तथा जेबी मलिक ने मॉडल तैयार करने में छात्रों की मदद की। विद्यालय के प्राचार्य टीपी झा ने हर्ष व्यक्त करते हुए बताया कि इस प्रतियोगिता में देश भर के उन विद्यालयों के छात्रों ने भाग लिया जिनके पास भारत सरकार द्वारा प्रदत्त अटल टिंकरींग लैब है। यह प्रतियोगित पिछले वर्ष अक्टूबर माह में आयोजित की गयी थी। उन्होने बताया कि अटल इनोवेशन मिशन के डायरेक्टर आर रमनन ने 50 हजार विद्यार्थियों को इस टिकरींग मैराथन को 8 सेक्टर में बांटा गया था। डीएवी खूंटी की छात्राओं ने अपनी प्रतिभा के बल एक ऐसा माॅडल तैयार किया है जो ध्वनि प्रदूषण से बिजली उत्पन्न करता है। जिसका प्रयोग सड़क किनारे लगे लाइट तथा सिग्नल को जलाने के उपयोग किया जा सकता है। टीपी झा ने बताया कि प्रायः समस्त महानगरों में अत्यधिक ध्वनि से हो रही प्रदूषण का जन-जीवन पर दुष्प्रभाव हो रहा है। ऐसे में इस प्रकार के नये और अनोखे विचारों से निश्चित ऊर्जा उत्पादन व संरक्षण को बढ़ावा मिलेगा।

X
Khuti News - noise pollution generating electricity from peg dav girl students included in 50 models across the country
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना