विस चुनाव / बाबूलाल के मुख्यमंत्रित्व काल को सोशल मीडिया के जरिए जनता के बीच पहुंचाएगी पार्टी



मोबाइल के फ्लैश की रोशनी में झाविमो सुप्रीमों बाबूलाल मरांडी ने किया संबाेधित। मोबाइल के फ्लैश की रोशनी में झाविमो सुप्रीमों बाबूलाल मरांडी ने किया संबाेधित।
X
मोबाइल के फ्लैश की रोशनी में झाविमो सुप्रीमों बाबूलाल मरांडी ने किया संबाेधित।मोबाइल के फ्लैश की रोशनी में झाविमो सुप्रीमों बाबूलाल मरांडी ने किया संबाेधित।

  • 20 मिनट तक मोबाइल लाइट पर भाषण देना पड़ा बाबूलाल मरांडी को
  • विधायक क्लब सभागार में आयोजित थी झाविमो सोशल मीडिया पर कार्यशाला

Dainik Bhaskar

Sep 30, 2019, 06:45 PM IST

रांची. झाविमो सोशल मीडिया का कार्यशाला का आयोजन विधानसभा के सभागार में हुआ। कार्यशाला के दौरान पार्टी की सोशल मीडिया का कार्य देख रही टीम द्वारा बाबूलाल मरांडी के 28 माह के मुख्यमंत्रित्वकाल काल के दौरान उनके द्वारा किए गए ऐतिहासिक विकास कार्यों के आधार पर उनके चेहरे को भुनाने का गुर कार्यकर्ताओं को सिखलाया गया। कार्यशाला के दौरान कहा गया कि झाविमो के पास झारखंड का सबसे ईमानदार नेता व राजनीतिक शख्सियत बाबूलाल मरांडी हैं। यही इस पार्टी की पूंजी है। झारखंड की जनता बाबूलाल को दिलों में बसाती है। वह जानती है कि झारखंड का सर्वांगीण विकास कोई नेता कर सकता है तो वह केवल बाबूलाल मरांडी हैं, बस हमें उनके विश्वास को बल प्रदान कर देना है।

 

आज के चुनाव दौर में सोशल मीडिया की अलग महत्व: बाबूलाल मरांडी
कार्यशाला को संबोधित करते हुए बाबूलाल मरांडी ने कहा कि आज के दौर में चुनाव में पारंपरिक तौर-तरीकों के अलावा सोशल मीडिया का भी अपना एक खास महत्व हो चला है। हमारी पार्टी भी इस तकनीक का पूरा इस्तेमाल कर राज्य की अंतिम व्यक्ति तक अपना एजेंडा पहुंचाना चाहती है। चुनाव में हमारे कार्यकर्ता इस माध्यम से भी लोगों तक सहजता से अपनी पहुंच बना सके, यही इस कार्यशाला का उद्देश्य है। 2019 का विधानसभा चुनाव झाविमो के लिए बेहद खास है। पार्टी गठन का 14वां साल चल रहा है, अब पार्टी का वनवास समाप्त होने वाला है। जो लोग झाविमो को राज्य की राजनीति में चूका हुआ मान रहे थे, 25 सितम्बर के जनादेश समागम की अपार सफलता ने उनके मुंह पर ताले जड़ दिये हैं। आप कार्यकर्ताओं की बदौलत पार्टी में नयी ऊर्जा का संचार हुआ है।

 

मोबाइल के फ्लैश की रोशनी में बाबूलाल मरांडी को करना पड़ा संबोधन
जब बाबूलाल सोशल मीडिया की कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे तभी अचानक बिजली गुल हो गयी। बाबूलाल ने इस पर कहा कि कोई भी बाधा अब झाविमो का रास्ता नहीं रोक सकती है। विधानसभा जैसे स्थान पर बिजली की आंख मिचौली सरकार के 24 घंटे बिजली सप्लाई के दावे की पोल खोलने के लिए पर्याप्त है। तत्पश्चात सभागार में मौजूद तमाम कार्यकर्ताओं के मोबाइल के फ्लैश को ऑन कर कमरे में रोशनी करवाकर उन्होंने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना