एजुकेशन / स्थाई शिक्षक के लिए टेट पास करना होगा, पारा टीचर्स को देनी होगी परीक्षा



Permanent teacher will have to pass TET
X
Permanent teacher will have to pass TET

  • परीक्षा में 42 वर्ष की उम्र वाले पारा टीचर भी शामिल हो सकेंगे
  • नई नियमावली में जोड़ा जा रहा प्रावधान, जेएसएससी लेगा परीक्षा

Dainik Bhaskar

Jul 12, 2019, 03:56 AM IST

रांची (विनय चतुर्वेदी). स्थाई शिक्षक बनने के लिए अब शिक्षक पात्रता परीक्षा (टेट) पास पारा शिक्षकों को नियुक्ति परीक्षा देना और उसमें पास होना अनिवार्य होगा। परीक्षा झारखंड कर्मचारी चयन आयोग लेगा। इसमें 42 वर्ष की उम्र वाले पारा टीचर भी शामिल हो सकेंगे। प्राथमिक शिक्षा निदेशालय द्वारा बनाई जा रही नई प्राथमिक शिक्षक नियुक्ति नियमावली में इस प्रस्ताव को रखा गया है।

 

पहले टेट पास पारा टीचर्स की नियुक्ति स्थाई शिक्षक के रूप में होती थी। इस नई शर्त के बाद पारा शिक्षकों के स्थायीकरण का स्वरूप बदल जाएगा। करीब आठ हजार पारा शिक्षकों ने टेट पास किया है। नई नियमावली के बाद इन सबको शिक्षक नियुक्ति परीक्षा में भाग लेना होगा। अपने आंदोलनों में पारा टीचर इस मांग पर बल देते रहे हैं कि जिन्होंने टेट पास किया हुआ है, उन्हें सीधी नियुक्ति का अवसर दिया जाए। राज्य सरकार ने टेट मान्यता की अवधि सात वर्षों के लिए बढ़ा दी है, पर इस मांग पर आश्वासन नहीं दिया है।

 

दोबारा क्षमता परख के लिए परीक्षा अनिवार्य
टेट पास होने के कई वर्षों बाद शिक्षकों की नियुक्ति होती है। ऐसे में उनकी योग्यता की दोबारा परख के लिए शिक्षक नियुक्ति परीक्षा अनिवार्य की जा रही है। नई शिक्षक नियुक्ति नियमावली बनाने के लिए प्राथमिक शिक्षा निदेशक विनोद कुमार की अध्यक्षता में चार सदस्यीय कमेटी बनी है। इसमें प्राथमिक शिक्षा उप निदेशक अरविंद कुमार सिंह और मिथिलेश सिन्हा समेत जमशेदपुर के जिला शिक्षा पदाधिकारी शिवेंद्र कुमार शामिल हैं। यह कमेटी इसी महीने अपनी रिपोर्ट सौंपेगी।

 

नई नियमावली में कई बदलाव होंगे 
प्राथमिक शिक्षक नियुक्ति नियमावली बन रही है। इसमें नियुक्ति और प्रोन्नति संबंधी नियमों का उल्लेख होगा। पहले के कई नियमों में बदलाव होगा। निदेशालय के अधिकारी नियमावली बना रहे हैं। सिर्फ टेट पास करने भर से शिक्षक बन पाएंगे, बल्कि पारा शिक्षकों को नियुक्ति परीक्षा में भाग लेना जरूरी होगा। - अमरेंद्र प्रताप सिंह, प्रधान सचिव, स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग

 

बीएड काउंसलिंग: आरयू ने सरकार से पूछा-जीराे अंक लाने वालाें का एडमिशन लें या नहीं

बीएड काॅलेजाें में दाखिले के लिए 15 जुलाई से हाेने वाली काउंसिलिंग काे लेकर रांची विश्वविद्यालय असमंजस में है।इस मुद्दे पर रांची विश्वविद्यालय के वीसी डाॅ. रमेश कुमार पांडेय की अध्यक्षता में गुरुवार काे हाईलेवल मीटिंग हुई। इसके बाद उच्च एवं तकनीकी शिक्षा विभाग काे पत्र लिखकर बीएड की काउंसिलिंग और एडमिशन के लिए गाइडलाइन मांगी है। पूछा है कि जीराे अंक वालाें का एडमिशन लें या नहीं।  दरअसल जीराे अंक या एक से कम परसेंटाइल वाले स्टूडेंट्स की काउंसिलिंग के अलावा कई बिंदुअाें पर विवि काे स्पष्ट गाइडलाइन नहीं मिली है। अार्थिक रूप से कमजाेर तबके के स्टूडेंट्स काे अारक्षण दिया जाना है, लेकिन विभाग ने इस संबंध में भी दिशा-निर्देश नहीं दिया है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना