रांची / बिना मिट‌्टी जांच के ही कांटाटोली फ्लाईओवर की पिलर खड़ी कर दी, अब डीपीआर जांच के लिए आईआईटी मुंबई को पत्र



Picked up the fork of the Kantatoli flyover without a soil test
X
Picked up the fork of the Kantatoli flyover without a soil test

Dainik Bhaskar

Oct 13, 2019, 08:09 AM IST

संतोष चौधरी | रांची . नगर विकास विभाग की एजेंसी जुडको के अधिकारियों की लापरवाही से कांटाटोली फ्लाईओवर का निर्माण फिर लटक गया है। थर्ड पार्टी एजेंसी से बिना डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) जांच कराए खड़ी की गई पिलर अब तोड़ी जा सकती है। जो जांच दो साल पहले करानी थी, जुडको अधिकारियों को अब उसकी जांच कराने की याद आई है।

 

इसलिए विटिंग जैसे लोड टेस्टिंग, लोड सस्टनेबिलिटी और स्वाइल टेस्टिंग सहित प्रोजेक्ट से जुड़ी तकनीकी पहलुओं की जांच के लिए आईआईटी मुंबई को पत्र लिखा है। इस कारण फ्लाईओवर का काम रोक दिया गया है। नया पेंच यह भी सामने आ गया है कि आईआईटी मुंबई के एक्सपर्ट उसी स्थिति में जांच करने रांची आएंगे, जब 17 लाख रुपए जुडको भुगतान करेगा। इसके लिए राज्य मंत्रिपरिषद की स्वीकृति भी जरूरी है। अगर चुनाव के पहले स्वीकृति नहीं मिली तो मामला तीन माह और लटका रहेगा। ऐसे में 257 करोड़ रुपए का यह प्रोजेक्ट रुका रहेगा। तब तक लोगों को कांटाटोली में जाम झेलना होगा।

 

  • बिना मिट्‌टी जांच के ही कांटाटोली फ्लाईओवर की पिलर खड़ी कर दी...अब डीपीआर जांच के लिए आईआईटी मुंबई को पत्र
  • बिना विटिंग के शुरू कराया काम, बढ़ी लागत राशि पर योजना प्राधिकृत समिति ने जताई आपत्ति
  • बिना जांच कराए खड़ी की गई पिलर...विटिंग में गड़बड़ी मिलने पर तोड़ी जा सकती है।


ये लापरवाहियां बरती गईं 


1. मेकाॅन से तैयार डीपीअार में खामियां थीं। इसके बावजूद काम शुरू कराया गया। इसलिए डीपीआर को दोबारा रिवाइज करना पड़ा। जुडको ने रिवाइज डीपीआर की तकनीकी स्वीकृति मिले बिना ही काम शुरू किया।
2. विभाग ने 2016 में ही संकल्प निकाला था कि थर्ड पार्टी से विटिंग कराए बिना काम शुरू नहीं किया जा सकता, लेकिन डीपीआर की गड़बड़ी छिपाने के लिए जुडको ने पिलर का काम ठेका कंपनी मोदी कंस्ट्रक्शन को करने के लिए कह दिया।  
 

एक्सपर्ट व्यू : बिना थर्ड पार्टी एजेंसी से जांच कराए काम करना अपराध


किसी भी योजना की पहले डीपीआर बनती है। फिर तकनीकी और प्रशासनिक स्वीकृति लेनी पड़ती है। तकनीकी स्वीकृति मिलते ही प्रतिष्ठित एजेंसी से थर्ड पार्टी विटिंग कराई जाती है। उद्देश्य यह होता है कि फ्लाईओवर की पिलर का लोड सहने की क्षमता ज

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना