एसआईटी गठन के एक माह बाद भी शिवप्रसाद हत्याकांड में पुलिस को नहीं मिला कोई सुराग

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:41 AM IST

Ranchi News - लालपुर थाना क्षेत्र के सब्जी बाजार में 7 जुलाई 2018 की रात हुए गुरुनानक स्कूल के शिक्षक शिवप्रसाद हत्याकांड में 10 माह...

Ranchi News - police found no clue in shivprasad murder case even after one month of sit formation
लालपुर थाना क्षेत्र के सब्जी बाजार में 7 जुलाई 2018 की रात हुए गुरुनानक स्कूल के शिक्षक शिवप्रसाद हत्याकांड में 10 माह बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं। घटना के बाद रांची पुलिस ने दावा किया था कि जल्द ही हत्याकांड का उद्भेदन कर मामले को सुलझा लिया जाएगा। पुलिस को जब लंबे समय तक सफलता नहीं मिली, तो एसएसपी अनीश गुप्ता ने एक माह पहले सिटी एसपी सुजाता वीणापानी के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया। टीम में सिटी एसपी के अलावा सिटी डीएसपी और तीन इंस्पेक्टर भी शामिल किए गए। पुलिस ने पूरे मामले में नए सिरे से जांच शुरू की। हालांकि एक माह गुजर जाने के बाद भी पुलिस को कोई सफलता नहीं मिल पाई है।

घटना के संबंध में पूछे जाने पर एसएसपी अनीश गुप्ता ने बताया कि हत्याकांड में स्थिति यथावत बनी हुई है। पुलिस को अपराधियों के बारे में कुछ भी सफलता नहीं मिल पाई है। मालूम हो कि 7 जुलाई 2018 की शाम लगभग 8 बजे स्कूटी सवार दो अपराधियों ने शिव प्रसाद की गोली मारकर हत्या कर दी थी। गोली मारने के बाद स्कूटी सवार दोनों अपराधी डंगरा टोली की ओर फरार हो गए थे।

मामले में अब तक 50 से ज्यादा लोगों से हाे चुकी है पूछताछ

पिता ने बेटे के ससुराल वालों पर लगाया था हत्या का आरोप

घटना के बाद मृतक के पिता दीनदयाल प्रसाद ने रिम्स में पुलिस को बताया था कि शिव की उसकी ससुराल के लोगों ने ही हत्या करवाई है। दीनदयाल प्रसाद ने यह भी बताया था कि शिव अपनी प|ी से अलग होकर रांची में रहता था। शादी के कुछ महीने बाद ही उसकी प|ी धनबाद स्थित अपने पिता के पास चली गई थी। इसके बाद से शिव प्रसाद के ससुर विजय लगातार उसे मरवाने की धमकी दे रहे थे। कुछ माह पहले भी उसने जान से मरवाने की धमकी दी थी।

मामले में पुलिस ने शिवप्रसाद के ससुराल वालों से भी पूछताछ की थी, लेकिन कोई अहम सुराग नहीं मिल पाया। एसआईटी का गठन होने के बाद पुलिस दोबारा उसके ससुराल वालों से पूछताछ करने की योजना बना रही है।

शिवप्रसाद

हत्यारों की जानकारी देने वाले के लिए की गई है इनाम की घोषणा : हत्याकांड में शामिल अपराधियों के बारे में जानकारी देने वालों को 50 हजार रुपए का इनाम देने की घोषणा रांची पुलिस ने 7 फरवरी को की है। हालांकि घोषणा किए जाने के बाद से आज तक पुलिस को किसी ने घटना के बारे में कोई सूचना नहीं दी है। पुलिस सूत्रों की मानें, तो जल्द ही इनाम की राशि 50 हजार रुपए से बढ़ाकर एक लाख की जा सकती है।

प्रेम प्रसंग मामले में हत्या की आशंका

हत्याकांड के बाद पुलिस जांच में इस बात का खुलासा हुआ था कि शिव प्रसाद की कई युवतियों के साथ काफी नजदीकी थी। पुलिस ने 10 से ज्यादा युवतियों से मामले में पूछताछ भी की थी। इस दौरान कोकर में किराए के घर में रहने वाली एक युवती ने पुलिस को बताया था कि शिव प्रसाद के साथ उसका प्रेम संबंध था। हालांकि हत्याकांड के बारे में किसी प्रकार की जानकारी होने से युवती ने साफ इंकार किया था। युवती ने पुलिस को यह भी बताया था कि पिछले कई माह से शिव के चुटिया स्थित घर पर भी उसका आना-जाना होता है। शिव प्रसाद ने ही कोकर में किराए पर उसे घर दिलवाया था। इसके अलावा कई अन्य युवतियों ने भी शिव प्रसाद के साथ अपनी नजदीकियों की बात स्वीकार की थी। पुलिस को आशंका है कि प्रेम-प्रसंग में ही शिव प्रसाद की हत्या की गई है। हालांकि अब तक पुलिस को इस संबंध में कोई साक्ष्य नहीं मिल पाया है।

X
Ranchi News - police found no clue in shivprasad murder case even after one month of sit formation
COMMENT