पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

मुख्यमंत्री आवास घेरने जा रहे पंचायत सेवकों पर पुलिस ने लाठियां बरसाईं, तीन वर्ष पूर्व हुई पंचायत सचिव परीक्षा रिजल्ट की मांग

4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पंचायत सेवकों को खदेड़ती पुलिस।
  • मांगों को लेकर पहले मोरहाबादी मैदान में जुटे थे पंचायत सेवक, फिर सीएम आवास की ओर जाने का किया प्रयास
  • पुलिस ने एसएसपी आवास चौक पर सभी को रोका तो बीच सड़क पर बैठ गए पंचायत सेवक, फिर पुलिस ने लाठीचार्ज किया
Advertisement
Advertisement

रांची. मोरहाबादी स्थित चिल्ड्रन पार्क में शुक्रवार को बैठक करने के बाद सीएम आवास घेरने जा रहे पंचायत सेवकों को पुलिस ने एसएसपी आवास के पास रोका, तो सभी बीच सड़क पर धरने पर बैठ गए। इससे लगी जाम को हटाने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करनी पड़ी। लाठी चार्ज होते ही पंचायत सेवक इधर-उधर भागने लगे। पुलिस ने उन्हें दाैड़ा-दाैड़ाकर पीटा। इसमें कई पंचायत सेवक को गंभीर चोटें आईं। पुलिस की लाठी से एक पंचायत सेवक की आंख के पास गंभीर चोट लगी। घायल खुद इलाज कराने नजदीकी अस्पताल पहुंचे। सिटी डीएसपी अमित कुमार सिंह ने बताया कि जेएसएससी द्वारा तीन वर्ष पहले संचालित पंचायत सचिव के परीक्षा का परिणाम नहीं निकलने से नाराज युवक मोरहाबादी स्थित चिल्ड्रन पार्क में बैठक करने पहुंचे थे।

पुलिस ने लाठी नहीं चलाई : सिटी एसपी
सीटी एसपी ने कहा-बिना अनुमति के करीब 200 लोग सीएम आवास घेरने जा रहे थे, उन्हें काफी समझाया गया, नहीं माने। पुलिस ने लाठी नहीं चलाई है, वे खुध भगदड़ में घायल हुए हैं।

सड़क पर बैठे, 10 मिनट तक लंबा जाम लगा रहा
एसएसपी आवास के पास पुलिस ने रोका, तो बीच सड़क पर बैठकर पंचायत सेवकों ने 10 मिनट तक आवागमन बाधित कर दिया। इसकी सूचना पर सिटी डीएसपी अमित कुमार सिंह, सदर डीएसपी दीपक पांडे और कोतवाली डीएसपी अजीत कुमार विमल दल-बल के साथ पहुंच व उन्हें समझा-बुझाकर हटाने की कोशिश की। लेकिन ये लोग अड़े रहे। सिटी डीएसपी ने जाम में फंसे एंबुलेंस को निकालने की कशिश की, लेकिन पंचायत सेवक नहीं हटे। इसके बाद पुलिस ने लाठियां चटकाई और एंबुलेंस को जाम से निकाला।

पंचायत सचिव परीक्षा के अभ्यर्थियों पर लाठीचार्ज से सरकार का बर्बर चेहरा सामने आया : भाजपा
उधर, भाजपा ने आरोप लगाया है कि पंचायत सचिव परीक्षा के अभ्यर्थियों पर लाठीचार्ज से सरकार का बर्बर चेहरा सामने आ गया है। प्रदेश भाजपा प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने राज्य सरकार पर छात्रों के शांतिपूर्वक प्रदर्शन को लाठी से दबाने की कोशिश का आरोप लगाया। प्रतुल ने कहा कि विपक्ष में रहते हुए हेमंत जिसे न्याय दिलाने की बात करते थे, सत्ता में आते ही उन्होंने उन अभ्यार्थियों को लाठी से पिटवाया। आज जब पंचायत सचिव परीक्षा के अभ्यर्थी शांतिपूर्ण तरीके से आवेदन देने मुख्यमंत्री आवास जा रहे थे, तब सरकार के इशारे पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया और इन अभ्यर्थियों को बेरहमी से पीटा गया। प्रतुल ने राज्य सरकार को पलटू सरकार की संज्ञा देते हुए कहा कि हेमंत सोरेन जब विपक्ष में थे तो पारा शिक्षकों को नियमित करने की बात करते थे। सत्ता में आते ही इनके सुर बदल गए। अब पारा शिक्षक मामले को प्रशासनिक आयोग भेजकर ठंडे बस्ते में डाल दिया गया है।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज आप कई प्रकार की गतिविधियों में व्यस्त रहेंगे। साथ ही सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आ जाने से मन में राहत रहेगी। धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में महत्वपूर्ण...

और पढ़ें

Advertisement