झारखंड / 193 नक्सली हैं पुलिस की रडार पर, 1 करोड़ रुपए के 5 नक्सली हिट लिस्ट में शामिल

18 साल में पुलिसिया कार्रवाई में 846 नक्सली मारे गए हैं। -फाइल फोटो। 18 साल में पुलिसिया कार्रवाई में 846 नक्सली मारे गए हैं। -फाइल फोटो।
X
18 साल में पुलिसिया कार्रवाई में 846 नक्सली मारे गए हैं। -फाइल फोटो।18 साल में पुलिसिया कार्रवाई में 846 नक्सली मारे गए हैं। -फाइल फोटो।

  • 196 इनामी नक्सलियों में से 24 जनवरी को 3 नक्सलियों ने किया था सरेंडर
  • सरेंडर करने वालों 2 नक्सली 5 लाख और एक पर 1 लाख रुपए का इनाम था

दैनिक भास्कर

Feb 04, 2020, 10:33 AM IST

रांची. झारखंड पुलिस की रडार पर कुल 193 नक्सली हैं। 24 जनवरी 2019 को इनमें से 3 नक्सलियों ने पुलिस के सामने सरेंडर किया था। इनमें 2 नक्सली 5 लाख, जबकि एक पर 1 लाख रुपए का इनाम था। फिलहाल, पुलिस की हिट लिस्ट में 5 नक्सलियों पर 1 करोड़ रुपए, 15 नक्सलियों पर 25 लाख रुपए, 19 नक्सलियों पर 15 लाख रुपए, 25 नक्सलियों पर 10 लाख रुपए, 36 नक्सलियों पर 5 लाख रुपए, 32 नक्सलियों पर 2 लाख रुपए, जबकि 61 नक्सलियों पर 1 लाख रुपए का इनाम है। पुलिस लगातार नक्सलियों के खिलाफ जंगलों में सर्च ऑपरेशन चलाती रहती है।

राज्य के 24 में से 19 जिले उग्रवाद प्रभावित
झारखंड विधानसभा चुनाव से पहले चुनाव आयोग ने गृह मंत्रालय द्वारा 5 फरवरी 2019 को नक्सल प्रभावित राज्यों की जारी अधिसूचना के आधार पर राज्य में पांच चरणों में चुनाव कराने का फैसला किया था। अधिसूचना में कहा गया है कि राज्य के 24 में 19 जिले उग्रवाद प्रभावित हैं। इनमें 13 जिले अति उग्रवाद प्रभावित हैं। केंद्र सरकार द्वारा उग्रवाद प्रभावित राज्यों को दी गई 775 करोड़ की विशेष आर्थिक सहायता में भी झारखंड को 340 करोड़ रुपए दिए गए थे। हालांकि इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास और अन्य मंत्रियों-नेताओं के द्वारा लगातार बयान दिया जाता रहा कि झारखंड में उग्रवाद में 45 फीसदी की कमी आई है।

24 जनवरी को तीन नक्सलियों ने किया था सरेंडर
भाकपा माओवादी संगठन के तीन हार्डकोर नक्सलियों ने 24 जनवरी 2019 को पुलिस के सामने सरेंडर किया था। सरेंडर करने वाले नक्सलियों में झिलमिल उर्फ गहना राय उर्फ राजेंद्र राय, सोकुल दा उर्फ रिमिल दा और संतु उर्फ छोटा श्यामलाल देहरी शामिल था। छोटा श्यामलाल एक लाख, राजेंद्र देहरी और रिमिल दा पांच-पांच लाख रुपए का इनामी है। डीआईजी राजकुमार लकड़ा, एसपी वाईएस रमेश, डीसी राजेश्वरी बी के मौजूदगी में सरेंडर करने वाले तीनों नक्सलियों को चेक सौंपा गया था। सरेंडर करने वाले तीनों नक्सलियों ने कहा कि वे मुख्यधारा में लौटकर परिवार एवं समाज के बीच रहकर अच्छा जीवन जीना चाहते हैं।

एक करोड़ रुपए के इनामी नक्सलियों में ये शामिल

  • प्रशांत बोस उर्फ किशन दा उर्फ मनीष उर्फ बुढ़ा, निवासी- ग्राम यादवपुर जिला 24 परगना (पश्चिम बंगाल)।
  • मिसिर बेसरा उर्फ भास्कर उर्फ सुनिर्मल जी उर्फ सागर, निवासी- ग्राम मदनडीह, थाना पीरटांड़ जिला गिरिडीह।
  • असीम मंडल उर्फ आकाश उर्फ तिमिर, निवासी- ग्राम उत्तर फुलचक थाना चन्द्रकोणा जिला पश्चिम मिदनापुर (प0 बंगाल)
  • अनल दा उर्फ तुफान उर्फ पतिराम मांझी उर्फ पतिराम मराण्डी उर्फ रमेश, निवासी- ग्राम झरहाबाले थाना पीरटांड जिला गिरिडीह।
  • प्रयाग मांझी उर्फ विवेक उर्फ फुचना उर्फ नागो मांझी उर्फ करण दा उर्फ लेतरा, निवासी- ग्राम दलुबुढ़ा थाना टुण्डी, जिला धनबाद।

इनामी राशि नक्सलियों की संख्या

इनामी राशि नक्सलियों की संख्या
एक लाख रुपए 62
दो लाख रुपए 32
पांच लाख रुपए 38
10 लाख रुपए 25
15 लाख रुपए 19
25 लाख रुपए 15
एक करोड़ रुपए 05

ये है नक्सलियों का पुनर्वास पैकेज...
1. गृह निर्माण के लिए 4 डिसमील जमीन
2. प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 1.20 लाख रुपए
3. व्यवसायिक प्रशिक्षण के लिए एक साल तक 6,000 प्रति माह 
4. परिवार की चिकित्सा- निःषुल्क
5. बच्चों की शिक्षा के लिए 40,000/- वार्षिक
6. पुत्रियों के विवाह के लिए 30,000 रुपए
7. स्व-रोजगार के लिए 4 लाख रुपए ऋृण
8. जीवन बीमा- 5 लाख रुपए का 
9. परिवार के समूह जीवन बीमा- 1 लाख रुपए का
10. खुला जेल सह पुनर्वास केन्द्र की सुविधा दी जायेगी।
11. उपायुक्त द्वारा लोक अभियोजक पुलिस उपाधीक्षक एवं कार्यपालक दण्डाधिकारी का एक समिति बनाकर आत्मसमर्पण करने वाले नक्सली के खिलाफ दर्ज मामलों की समीक्षा की जाएगी।

18 साल में हुए लैंड माइंस विस्फोट और मुठभेड़ 

वर्ष विस्फोट मुठभेड़ 
2001 08 312
2002 08 267 
2003 10 322
2004 12 279
2005 08 223 
2006 08 307
2007 03 478
2008 03 436
2009 41 512 
2010 29 496
2011 06 504 
2012 04 404 
2013 04 349 
2014 06 231 
2015 -- 196 
2016 04 196 
2017 02 159
2018 03 145 
2019 -- 025 

510 जवान शहीद हुए 846 नक्सली मारे गए 
पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार, 18 साल में 5,688 नक्सली हमले और घटनाओं में अब तक 510 पुलिसकर्मी शहीद हुए हैं, वहीं पुलिसिया कार्रवाई में 846 नक्सली मारे गए हैं। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना