हजारीबाग / जेल में धनबाद के कैदी ने पायजामे से फंदा बनाकर फांसी लगाई, मौत; चार महीने में दूसरी घटना

योगेश 2014 में एक सामूहिक हत्या मामले में गिरफ्तार हुआ था। फाइल फोटो योगेश 2014 में एक सामूहिक हत्या मामले में गिरफ्तार हुआ था। फाइल फोटो
X
योगेश 2014 में एक सामूहिक हत्या मामले में गिरफ्तार हुआ था। फाइल फोटोयोगेश 2014 में एक सामूहिक हत्या मामले में गिरफ्तार हुआ था। फाइल फोटो

  • साथी की मौत की सूचना मिलने के बाद जेल के कैदी भड़क गए, हंगामा किया
  • मृतक के पिता देवनंदन नोनिया का आरोप- उनके बेटे की हत्या की गई है

दैनिक भास्कर

Jan 16, 2020, 06:08 AM IST

हजारीबाग. जेपी सेंट्रल जेल, हजारीबाग के हाई सिक्यूरिटी सेल में बंद सजायाफ्ता योगेश चौहान (32) ने मंगलवार रात पजामे से फंदा बनाया और ग्रिल के सहारे फांसी लगा ली। वह धनसार (धनबाद) के बस्ताकोला नोनियाटोला का रहने वाला था। बुधवार को मौत की सूचना मिलने के बाद जेल के कैदी भड़क गए और हंगामा करने लगे।

स्थिति अनियंत्रित होती देख कारा प्रशासन को इमरजेंसी अलार्म बजाना पड़ा। इसके बाद जिला पुलिस-प्रशासन की टीम जेल पहुंची और कैदियों को शांत कराया। मृतक के पिता देवनंदन नोनिया ने कहा कि उनके बेटे की हत्या की गई है। योगेश का इलाज रिनपास से चल रहा था। वह एक हत्याकांड का दोषी था। सदर एसडीओ मेघा भारद्वाज ने कहा कि कैदी की मौत मामले की न्यायिक जांच होगी।

योगेश 2014 में एक सामूहिक हत्या मामले में गिरफ्तार हुआ था। तब से वह धनबाद जेल में बंद था। सजा होने के बाद उसे वर्ष 2016 में जेपी केंद्रीय कारा स्थानान्तरित कर दिया गया था। तब से वह जेपी कारा के हाई सिक्यूरिटी सेल में बंद था। कारा प्रशासन और मृतक बंदी के माता पिता के मुताबिक वह मानसिक रोगी था। जिसका इलाज रिनपास से लगातार चल रहा था। बीच में वह कारा अस्पताल में भी रखा गया था। जेपी कारा में फांसी लगा कर बंदी के आत्महत्या करने की चार माह में यह दूसरी घटना है। जबकि कारा में एक दशक में पगली घंटी दूसरी बार बजी।

कैदी की मौत के बाद जेल के सैकड़ों बंदी उग्र हो गए और हंगामा शुरू कर दिया। गिनती के समय सारे बंदी जुटे और वे मृतक के लिए श्रद्धांजलि समारोह आयोजित करने और जेल आईजी को स्थल पर बुलाने की मांग पर अड़ गए। स्थिति जब बेकाबू हुई तो कारा प्रशासन ने 1:04 बजे आपात स्थिति में बजाने वाली पगली घंटी (इमरजेंसी अलार्म) बजा दिया। इसके बाद पुलिस व प्रशासन मौके पर पहुंच कर हालात पर काबू पाया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना