झारखंड / मुख्यमंत्री रघुवर दास ने खूंटी में राज्यस्तरीय योजनाओं का शिलान्यास व उद्घाटन किया



योजनाओं के शिलान्यास के दौरान रघुवर दास व अन्य। योजनाओं के शिलान्यास के दौरान रघुवर दास व अन्य।
मुख्यमंत्री के साथ सेल्फी लेतीं महिलाएं। मुख्यमंत्री के साथ सेल्फी लेतीं महिलाएं।
कार्यक्रम का उद्घाटन करते मुख्यमंत्री व अन्य। कार्यक्रम का उद्घाटन करते मुख्यमंत्री व अन्य।
X
योजनाओं के शिलान्यास के दौरान रघुवर दास व अन्य।योजनाओं के शिलान्यास के दौरान रघुवर दास व अन्य।
मुख्यमंत्री के साथ सेल्फी लेतीं महिलाएं।मुख्यमंत्री के साथ सेल्फी लेतीं महिलाएं।
कार्यक्रम का उद्घाटन करते मुख्यमंत्री व अन्य।कार्यक्रम का उद्घाटन करते मुख्यमंत्री व अन्य।

  • आदिवासियों का सर्वांगीण विकास ही भगवान बिरसा मुंडा के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि: रघुवर दास
  • खूंटी हमारे पुरखों की धरती, भगवान बिरसा की भूमि विकास किसी क्षेत्र में कमतर नहीं रहेगी: रघुवर दास
  • खूंटी बिजली के मामले में 33 से 90 प्रतिशत स्वावलंबी बना: रघुवर दास
  • ग्रामीण क्षेत्रों में जलछाजन की योजनाएं अधिक लागू होनी चाहिए: अर्जुन मुंडा

Dainik Bhaskar

Sep 18, 2019, 10:16 AM IST

खूंटी. खूंटी हमारे पुरखों की धरती है। भगवान बिरसा मुंडा की भूमि विकास के मामले में किसी से पीछे नहीं रहेगी। सरकार की दिशा, मंशा व नीयत का आकलन करें। सरकार विकास की पक्षधर है। राज्य के आदिवासियों सहित प्रत्येक घर- घर को, हर गांव-गांव को विकास से आच्छादित करना सरकार का लक्ष्य है। गरीब भी गरिमा से जीवन यापन करे। इसके लिए कार्य हो रहा है। आनेवाले 20 वर्ष को ध्यान में रखकर खूंटी में योजनाएं लागू की जा रहीं हैं। राज्य की योजनाओं को बनाने व क्रियान्वयन में जनभागीदारी को साथ लेकर चल रहें हैं। ये बातें मुख्यमंत्री रघुवर दास ने खूंटी में ग्रमीण विकास विभाग द्वारा आयोजित राज्यस्तरीय कार्यक्रम “सेवा से समृद्धि की ओर” में विभिन योजनाओं के उद्घाटन एवं शिलान्यास कार्यक्रम में कही।

 

4 सब स्टेशन बनते ही 24 घंटे बिजली देने का लक्ष्य
मुख्यमंत्री ने कहा कि विगत पांच वर्ष में वर्तमान सरकार ने 30 लाख घर तक बिजली पहुंचाई। खूंटी जो वर्षों से व्यवस्थित बिजली की बाट जोह रहा था वह अब 33 से 90 प्रतिशत बिजली में स्वावलंबी 132/32 केवी ग्रिड सब स्टेशन के प्रारंभ होने से हो गया। खूंटी में और चार सब स्टेशन का निर्माण हो जाने से 24 घंटे बिजली की आपूर्ति सुनिश्चित हो जाएगी। पूरे राज्य में 59 ग्रिड सबस्टेशन और 200 सबस्टेशन का कार्य हो रहा है। 80 प्रतिशत का कार्य जल्द पूर्ण हो जाएगा। झारखण्ड में बिजली की कमी नहीं लेकिन आजादी के बाद से इस दिशा में कार्य ही नहीं हुआ, जिससे बिजली की समस्या उत्पन्न हुई। क्योंकि झारखण्ड में मात्र 38 ग्रिड का निर्माण हुआ था। वर्तमान सरकार एक ग्रिड एक राज्य के तर्ज पर कार्य कर रही है। यह वही झारखण्ड है जहां पहाड़ो पर बसने वाले पहाड़िया और बिरहोरों तक बिजली पहुंचाई गई है। 

 

महिला शक्ति को सशक्त करना और उन्हें स्वावलंबी बनाना है
मुख्यमंत्री ने कहा कि महिला शक्ति को राज्य की शक्ति बनाना है। 2 लाख 16 हजार सखी मंडल के माध्यम से उन्हें आर्थिक रूप से सशक्त बनाया जा रहा है। एक नवंबर से सखी मंडल की बहनों को रेडी टू इट योजना से जोड़ दिया जाएगा। राजस्व गांव में लग रहे स्ट्रीट लाइट की देखरेख भी सखी मंडल की बहनों के जिम्मे होगा। इससे उन्हें आर्थिक लाभ भी होगा। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के माध्यम से गरीब बहनों को धुआं से मुक्ति मिली। इस दिशा में आगे भी कार्य होगा। 

 

राष्ट्रविरोधी शक्तियां बरगलाने का कार्य न करें
मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्र विरोधी शक्तियां लोगों को बरगलाने का कार्य न करें। सरकार सभी धर्म और परंपरा का सम्मान करती है। लेकिन गुमराह करने वालों को किसी भी परिस्थिति में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। ऐसी शक्तियां अगर पाताल में भी रहेंगी तो उन्हें ढूंढकर कानून सजा दिया जाएगा। 

 

आकांक्षी जिलों में शामिल खूंटी में हो रहा है विकास
केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने कहा कि देश के 115 आकांक्षी जिलों में खूंटी भी शामिल है। यहां विकास हो रहा है। खूंटी को विकसित जिला बनाने का लक्ष्य लेकर सरकार कार्य कर रही है। खूंटी में विकास के कार्य इतनी तेजी से हुआ है कि आज खूंटी आकांक्षी जिलों की लिस्ट में 7वें स्थान पर है। कृषि कार्य में खूंटी पूरे देश में (आकांक्षी जिलों में) दूसरा स्थान प्राप्त किया है। जल प्रबंधन योजना के जरिये शुद्ध पेयजल पहुंचाने का कार्य हो रहा है। जल प्रबंधन की योजना ग्रामीण क्षेत्र में बेहतर ढंग से लागू हो यह अधिकारी और जिम्मेवार सुनिश्चित करें। केंद्रीय मंत्री ने मुख्यमंत्री से अनुरोध किया कि क्षेत्र में ट्रांसफार्मर की समस्या है इससे निजात दिलाएं। साथ ही छात्रों की मांग खूंटी में एक बी एड कॉलेज प्रारंभ करने की है। उन्होंने बताया कि केंद्रीय शिक्षा मंत्री से उन्होंने ट्राइबल युनिवर्सिटी खोलने की मांग की है। अगर राज्य सरकार प्रस्ताव भेजती है तो खूंटी या कहीं और ट्राइबल युनिवर्सिटी प्रारंभ करना आसान होगा।

 

मनरेगा भुगतान मामले में झारखण्ड प्रथम
ग्रामीण विकास मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा ने कहा कि विगत 5 साल में जो विकास का कार्य हुआ है वह पहले नहीं हुआ था। आज बिजली के क्षेत्र में ग्रिड सबस्टेशन का उद्घाटन कर खूंटी की जनता की अपेक्षाओं को पूरा किया। 2016-17 में राज्य को प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए तब 5 लाख 29 हजार आवास की स्वीकृति मिली थी। सरकार ने अबतक 90 प्रतिशत आवास बनाकर गरीबों को सौंप दिया। खूंटी में 29 हजार आवास का निर्माण हुआ है। 41 हजार किमी सड़क का निर्माण हुआ, जिसमें 23 हजार किमी प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना एवं राज्य संपोषित योजना के तहत किया गया। खूंटी में इस योजना के तहत 905 किमी सड़क का निर्माण हुआ। खूंटी में ही 28 उच्चस्तरीय पुल का निर्माण करने में हम सफल रहें। आज मनरेगा में मजदूरों को मजदूरी भुगतान करने में झारखण्ड पूरे देश में प्रथम स्थान रखता है। खूंटी में महिला सशक्तिकरण की दिशा में करीब साढ़े चार हजार सखी मंडल के सशक्तिकरण का काम हो रहा है, उन्हें योजनाओं से जोड़ा जा रहा है अब महिलाएं आर्थिक स्वावलंबन की ओर बढ़ रहीं हैं। खूंटी के लोग भ्रम फैलाने वालों कीओर ध्यान न दें, बल्कि सरकार के कार्यों का आकलन करें। आपकी जमीन छीनने जाने की बात निर्रथक है। आपकी जमीन कोई छीन नहीं सकता। बस आपके सहयोग से सरकार खूंटी व राज्य का विकास करना चाहते हैं। 

 

सरकार राज्य और समाज की सेवा कर रही है
पूर्व सांसद कड़िया मुंडा ने कहा कि आज का दिन ऐतिहासिक है। खूंटी की पुरानी बिजली की समस्या का आज समाधान हुआ। पावर ग्रिड सबस्टेशन खूंटी के लोगों को निर्बाध बिजली उपलब्ध कराने में सहायक होगा। सरकार इसी तरह समाज और राज्य की सेवा करती रहे। हम सभी का फर्ज है कि इस पुनीत कार्य में हम सरकार को सहयोग करते हुए अपनी भागीदारी सुनिश्चित करें।

 

सभा में महिलाओं ने मुख्यमंत्री से कहा- आपने हम महिलाओं का बढ़ाया मान और दिया सम्मान
आप सभी भोजन करें.. मैं बस आप सभी से मिलने आया हूं.. देर बहुत हो गई और दोपहर के भोजन का समय गुजर रहा है.. आप एक बात बताएं.. केंद्र सरकार ने जो तीन तलाक़ पर विराम लगाकर उसे गैरकानूनी बनाया, उसपर आपको क्या कहना है... इस पर अल्पसंख्यक समाज की महिलाओं ने कहा एक बहुत अच्छा कदम, हमारी सुरक्षा का, हमारी पहचान का, हमारे सम्मान के लिए एक बेहतर कदम है। ये वाकया उस समय हुआ जब मुख्यमंत्री रघुवर दास खूंटी में आयोजित मुख्य कार्यक्रम समाप्त कर बाहर निकले और चल पड़े भोजन कर रहीं महिलाओं के पास। कार्यक्रम के बाद जैसे ही मुख्यमंत्री मंच से नीचे उतरे महिलाओं ने मुख्यमंत्री को घेर लिया और कहा कि आपने सखी मंडल और 1 रुपए में रजिस्ट्री जैसे काम से हम महिलाओं का मान और सम्मान बढ़ाया है।

 

फिर शुरू हुआ सेल्फी लेने का दौर
मुख्यमंत्री को अपने पास देख कर महिलाएं खाना छोड़ कर उठ गई और मुख्यमंत्री के साथ खुद को कैमरे में कैद करने लगीं। मुख्यमंत्री ने उनकी समस्याओं से अवगत भी हुए और उसके निदान का भरोसा भी दिया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने खाना खा रही महिलाओं से कहा कि कुपोषण राज्य की समस्या है। कुपोषण को राज्य से दूर भागना है। आप सभी अच्छे से भोजन करें। हमें स्वस्थ झारखण्ड का निर्माण करना है। आने वाली पीढ़ी स्वस्थ और सबल बनेगी। इस बात पर आप सभी ध्यान दें। 

100 मेगावाट क्षमता की ग्रिड का उद्घाटन
90 करोड़ रुपए की लागत से बने ग्रिड सब-स्टेशन से खूंटी जिले के कर्रा, तोरपा, रनिया, अड़की और खूंटी प्रखंड के लाखों लोग लाभान्वित होंगे। 

 

प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के तहत

  • 368 करोड़ 59 लाख रुपए की लागत से 29,113 गरीब भाई-बहनों का गृहप्रवेश।
  • 742 करोड़ रुपए की लागत से 57 हजार 78 घरों का शिलान्यास।
  • 769 करोड़ रुपए की लागत से 61 हजार से ज्यादा घरों के लिए स्वीकृति पत्र।
  • 742 करोड़ 21 लाख रुपए की लागत से 14,554 लोगों को घर की पहली किस्त का भुगतान।

इन योजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन

  • 1552 करोड़ रुपए की लागत से 3315 किमी सड़कों का शिलान्यास।
  • 248 करोड़ रुपए की लागत से 50 सेतुओं का शिलान्यास।
  • 105 करोड़ रुपए की लागत से 33 सेतुओं का उद्घाटन।
  • 76 करोड़ रुपए की लागत से 23 प्रखंड सह अंचल कार्यालय भवनों का उद्घाटन।

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना