--Advertisement--

सुविधा / 200 बेड के मल्टी सुपर स्पेशिएलिटी हॉस्पिटल 'सैमफोर्ड' में 64 बेड की आईसीयू



कोकर चौक के पास बना 7 तल्ले का अस्पताल। कोकर चौक के पास बना 7 तल्ले का अस्पताल।
X
कोकर चौक के पास बना 7 तल्ले का अस्पताल।कोकर चौक के पास बना 7 तल्ले का अस्पताल।

  • नौ दिसंबर को होगा उद्घाटन, एक छत के नीचे मिलेगी सभी सुपर स्पेशिएलिटी चिकित्सा
  • अस्पताल में लगाए गए हैं आधुनिक चिकित्सकीय उपकरण, 24 घंटे रहेगी विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम 

Dainik Bhaskar

Dec 07, 2018, 12:15 PM IST

रांची. राजधानी रांची मेडिकल हब बनने की ओर अग्रसर है। कोकर चौक के समीप अवस्थित 200 बेड का मल्टी सुपर स्पेशिएलिटी हॉस्पिटल सैमफोर्ड बनकर तैयार है। इसका उद्घाटन नौ दिसंबर को होगा। इस हॉस्पिटल में सभी सुपर स्पेशिएलिटी चिकित्सा एक ही छत के नीचे होगी। किडनी, हार्ट, कैंसर न्यूरो सर्जरी, स्त्री रोग, न्यू नेटल (शिशु रोग) सहित सभी गंभीर बीमारियों की विश्वस्तरीय इलाज की सुविधा यहां होगी। हॉस्पिटल में अत्याधुनिक मशीनें लगाई गई हैं। यहां विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम है जो 24 घंटे यहां उपलब्ध रहेंगे। 

हॉस्पिटल में 6 अत्याधुनिक आईसीयू

  1. हॉस्पिटल के मेडिकल डायरेक्टर डॉ. घनश्याम सिंह ने बताया कि सभी सुपर स्पेशिएलिटी डिपार्टमेंट यहां होंगे। हॉस्पिटल में 6 अत्याधुनिक आईसीयू बनाए गए हैं, जिसमें 64 बेड हैं। अस्पताल के पहले तल्ले पर 10 बेड का इमरजेंसी कैजुअल्टी विंग है। यहां मरीज को अस्पताल पहुंचने पर सबसे पहले भर्ती किया जाएगा। इमरजेंसी में एक ओटी भी है, जहां आवश्यकता पड़ने पर मरीज की सामान्य सर्जरी भी की जाएगी। अस्पताल में बनी मॉड्यूलर ओटी अपने आप में अनूठा है, जो जटिल से जटिल सर्जरी को आसान बनाएगी। इसमें अत्याधुनिक चिकित्सकीय उपकरण लगाए गए हैं। यहां लगाया गया रोबोटिक वेंटिलेटर विश्वस्तरीय है। 

  2. अस्पताल के 7 फ्लोर का विवरण

    • फस्ट फ्लोर- इमरजेंसी एंड ट्रॉमा सेंटर, रिसेप्शन लॉबी, ओपीडी रेडियोलॉजी एंड इमेजिंग साइंस, एमआरआई सीटी स्कैन अल्ट्रासाउंड 
    • सेकंड - एडमिनिस्ट्रेटिव विंग नेफ्रो साइंस डायलिसिस, गैस्ट्रो साइसंस इंडोस्कोपी, कोलोनोस्कोपी, कार्डियक साइंस इको टीएमटी, इसीजी हॉल्टर मॉनिटरिंग कैंसर विभाग जनरल वार्ड 
    • थर्ड फ्लोर- डीलक्स रूम, टि्वन शेयरिंग रूम, सूट रूम 
    • फोर्थ - ओटी कांप्लेक्स, 3 मॉड्यूलर ओटी डीलक्स रूम 
    • पांचवां- क्रिटिकल केयर यूनिट, एमआईसीयू, आईटीयू, एचडीयू, नियोनेटल, आईसीयू, आईपी फार्मेसी 
    • छठा- ओटी कांप्लेक्स, कैथलैब, न्यूरो आईसीयू सीसीयू, सीएसएसडी एंड ईटीओ रूम 
    • सातवां- पैथोलॉजी, डायरेक्टर चैंबर एडमिनिस्ट्रेटिव विंग, वीआईपी लाउंज 

  3. कैंसर स्क्रीनिंग के लिए पैड स्कैन मशीन लगाई जाएगी

    हॉस्पिटल की सीईओ डॉ धनंजय ने बताया कि इस हॉस्पिटल में सभी मल्टी स्पेशिएलिटी डिपार्टमेंट एक छत के नीचे होंगे। जिससे अब किसी भी बीमारी के इलाज के लिए मरीजों को बाहर नहीं जाना पड़ेगा। यहां रोबोटिक वेंटिलेटर और सीआरआरटी मशीन है जो झारखंड में पहली बार लगाई गई है। जल्द ही यहां कैंसर स्क्रीनिंग के लिए पैड स्कीन मशीन भी लगाई जाएगी जो कि पूर्वी भारत में नहीं है। सबसे खास बात है कि मरीजों को काफी सस्ती दर पर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध होगी। चिकित्सा के क्षेत्र में यह हॉस्पिटल अपनी खास पहचान बनाएगा। 

  4. 500 बेड का मेडिकल काॅलेज जल्द

    हॉस्पिटल के मैनेजिंग डायरेक्टर भानु प्रताप सिंह ने कहा कि यह हॉस्पिटल राजधानी में सुपर स्पेशिएलिटी चिकित्सा के लिए जाना जाएगा। देश के कई जाने-माने चिकित्सक यहां अपनी सेवा दे रहे हैं। जल्द ही राजधानी में 500 बेड का मेडिकल कालेज भी खुलेगा जो कि मेडिकल एजुकेशन के क्षेत्र में अपनी अलग पहचान बनाएगा। इसका निर्माण भी तेजी से किया जा रहा है। जल्द ही यह भी झारखंड के लोगों की सेवा के लिए तैयार हो जाएगा। 

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..