विरोध / बिरसा मुंडा की प्रतिमा ताेड़े जाने के खिलाफ रांची बंद, सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम



रांची स्थित मेन रोड में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। रांची स्थित मेन रोड में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।
पहली तस्वीर : शुक्रवार की सुबह प्रतिमा की यह स्थिति देखकर लोगों को गुस्सा फूट पड़ा। दूसरी तस्वीर: नगर निगम ने देर रात तक कारीगर लगाकर प्रतिमा की मरम्मत करा दी। पहली तस्वीर : शुक्रवार की सुबह प्रतिमा की यह स्थिति देखकर लोगों को गुस्सा फूट पड़ा। दूसरी तस्वीर: नगर निगम ने देर रात तक कारीगर लगाकर प्रतिमा की मरम्मत करा दी।
X
रांची स्थित मेन रोड में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।रांची स्थित मेन रोड में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।
पहली तस्वीर : शुक्रवार की सुबह प्रतिमा की यह स्थिति देखकर लोगों को गुस्सा फूट पड़ा। दूसरी तस्वीर: नगर निगम ने देर रात तक कारीगर लगाकर प्रतिमा की मरम्मत करा दी।पहली तस्वीर : शुक्रवार की सुबह प्रतिमा की यह स्थिति देखकर लोगों को गुस्सा फूट पड़ा। दूसरी तस्वीर: नगर निगम ने देर रात तक कारीगर लगाकर प्रतिमा की मरम्मत करा दी।

  • भगवान बिरसा की खंडित प्रतिमा की नगर निगम ने कराई मरम्मत, देखरेख भी करेगा
  • सीसीटीवी कैमरों से होगी बिरसा समाधि स्थल व आसपास के क्षेत्रों की निगरानी

Dainik Bhaskar

Jun 15, 2019, 08:02 PM IST

रांची. काेकर समाधि स्थल पर भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा ताेड़े जाने के खिलाफ आदिवासी संगठनाें ने शनिवार काे रांची बंद बुलाया। इस बंद को कांग्रेस, झामुमाे, झाविमाे, वामदल और अन्य पार्टियाें ने इसका समर्थन किया। इसकी वजह से मेन रोड में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए। साथ ही शहर में चौक-चौराहों पर भी पुलिस की तैनाती की गई थी। हालांकि, बंद का कोई खास असर शहर में नहीं देखा गया। हर दिन की तरह मार्केट खुलीं। वहीं, वाहनों का भी परिचालन सुचारू रूप से हुआ।

 

उपद्रवियों से निबटने के लिए दाे हजार अतिरिक्त पुलिस फाेर्स तैनात

रांची बंद काे लेकर पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। बंद के दाैरान उपद्रवियाें से निपटने के लिए दाे हजार अतिरिक्त जवानाें काे तैनात किया गया था।

 

कल शाम निकाला था मशाल जुलूस

इससे पूर्व शुक्रवार शाम अलबर्ट एक्का चाैक पर मशाल जुलूस निकाला गया। सड़क जाम भी किया। आदिवासी नेताओं ने कहा कि यह समाज का अपमान है। उधर, क्षतिग्रस्त प्रतिमा काे ठीक कर दिया गया है। अब यहां सीसीटीवी भी लगाए जाएंगे। कोकर स्थित भगवान बिरसा मुंडा समाधि स्थल में लगी उनकी प्रतिमा को असामाजिक तत्वों द्वारा क्षतिग्रस्त किए जाने के बाद नगर निगम हरकत में आया। प्रतिमा का एक हाथ टूटने की सूचना मिलने पर अपर नगर आयुक्त गिरिजा शंकर प्रसाद मौके पर पहुंचे। पहले तो उन्होंने कहा कि कला एवं संस्कृति विभाग द्वारा प्रतिमा और समाधि स्थल का निर्माण कराया गया है। लेकिन, पिछले तीन वर्षों से नगर निगम समाधि स्थल की साफ-सफाई और महत्वपूर्ण अवसर पर सजावट करा रहा है। 

 

प्रतिमा की मरम्मत कराने का निर्देश दिया
निगम के पास अभी तक इसके स्वामित्व से संबंधित कोई साक्ष्य नहीं मिला है, लेकिन लोगों की भावना को देखते हुए निगम तुरंत बैकफुट पर आ गया। अपर नगर आयुक्त ने कहा कि जनभावना को देखते हुए समाधि स्थल की निगरानी अब से निगम करेगा। उन्होंने निगम के इंजीनियर को अपनी निगरानी में प्रतिमा की मरम्मत कराने का निर्देश दिया। सीसीटीवी कैमरा लगाने और स्थल की मॉनिटरिंग करने का सिस्टम विकसित करने सहित चारों ओर प्रर्याप्त प्रकाश की व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया। इसके बाद कारीगर लगाकर देर रात तक प्रतिमा की मरम्मत करा दी गई।


प्रशासन से सुरक्षा व्यवस्था बहाल करने का आग्रह
नगर आयुक्त ने जिला प्रशासन को पत्र लिखकर बिरसा समाधि स्थल पर पर्याप्त पुलिसबल उपलब्ध कराने का आग्रह किया है, ताकि असमाजिक तत्वों का जमावड़ा न लगे। नियमित रूप से पेट्रोलिंग वाहन तैनात करने के लिए कहा गया है। क्योंकि समाधि स्थल के पास शाम ढलते ही नशेड़ियों का अड्डा लगने लगता है। 
 

बंद का इन आदिवासी संगठनों व राजनीतिक दलों ने किया समर्थन
बंद को आदिवासी जनपरिषद, केंद्रीय सरना समिति, आदिवासी युवा मोर्चा, सरना प्रार्थना सभा, आदिवासी लोहरा समाज, आदिवासी सेना, आदिवासी छात्र संघ आदि ने बंद की घोषणा की है ,जबकि कांग्रेस, झामुमो, वामदलों ने समर्थन किया है। इधर, केंद्रीय सरना समिति का एक प्रतिनिधिमंडल लालपुर थाने में आवेदन देकर आराेपियाें के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। लालपुर क्षेत्र विकास समिति के संरक्षक अभय कुमार सिंह व अध्यक्ष बजरंग वर्मा ने घटना की निंदा की है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना