झारखंड / यूजीसी की रोक के बावजूद सीयूजे में रजिस्ट्रार सहित 22 की नियुक्ति



Ranchi News Appointment of 22 including registrar in CUJ despite UGC ban
X
Ranchi News Appointment of 22 including registrar in CUJ despite UGC ban

  • यूजीसी ने 2015 में बिना नियमावली के नियुक्ति पर लगा दी थी रोक

Dainik Bhaskar

Aug 19, 2019, 12:53 PM IST

रांची(विनय चतुर्वेदी). सेंट्रल यूनिवर्सिटी झारखंड (सीयूजे) में कई नाॅन टीचिंग पदाें के लिए अब तक नियुक्ति नियमावली नहीं बनी है। इसके बावजूद धड़ल्ले से नियुक्तियां जारी हैं। सीयूजे ने वर्ष 2017 और 2018 में रजिस्ट्रार सहित 13 पदाें पर 22 लाेगाें की स्थाई नियुक्ति कर ली। जबकि यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (यूजीसी) ने बिना नियुक्ति नियमावली बनाए नियुक्तियाें पर राेक लगा दी थी। 

 

सीयूजे ने पहले कुछ पदाें के लिए नियुक्ति नियमावली बनाई थी। यूजीसी ने वर्ष 2015 में इसकी जांच की थी। यूजीसी ने पाया कि सीयूजे ने कई पदाें के लिए नियमावली नहीं बनाई है। जिन पदाें के लिए नियमावली बनी है वह भी केंद्र सरकार अाैर यूजीसी के मानक के विरुद्ध है। इसके बाद यूजीसी ने 24 फरवरी 2015 काे अादेश जारी किया कि सीयूजे जब तक केंद्र सरकार के नियुक्ति के नियम अाैर यूजीसी के दिशा-निर्देशाें काे कड़ाई से करते हुए नियुक्ति नियमावली नहीं बनाता, तब तक नाॅन टीचिंग पदाें पर काेई नियुक्ति नहीं करेगा। नियमावली बनने तक सीयूजे में नए पदाें का सृजन भी नहीं हाेगा। लेकिन सीयूजे ने इन निर्देशाें काे नहीं माना। 

 

अभय मिश्रा बोले- नियमावली अप्रूव्ड हुए बिना नहीं हाे सकती नियुक्ति : झारखंड हाईकाेर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता अभय मिश्रा ने कहा-यूजीसी द्वारा नियुक्ति नियमावली अप्रूव्ड हाेने के बाद ही काेई यूनिवर्सिटी नियुक्तियां कर सकती हैं। बगैर नियमावली नियुक्ति करना गलत है। अगर यूजीसी ने नियुक्ति पर राेक लगा रखी हाे ताे फिर एेसा करना अाैर भी गलत है। अगर इसके खिलाफ काेई हाईकाेर्ट जाता है ताे एेसी सारी नियुक्तियां अवैध मानी जाएंगी। 

 

गोपाल पाठक बोले- स्थाई नियुक्ति के लिए नियुक्ति नियमावली जरूरी : झारखंड तकनीकी विश्वविद्यालय के कुलपति गोपाल पाठक ने कहा कि कुलपति कुछ दिनों के लिए अस्थाई नियुक्ति तो कर सकते हैं, पर स्थाई नियुक्ति के लिए नियुक्ति नियमावली जरूरी है। वैसे सीयूजे के एक्ट और एस्टीट्यूट के बारे में मुझे नहीं पता।
 
24 मई 2017 को आमंत्रित विज्ञापन के विरुद्ध हुई भर्तियां 

पद नाम नियुक्ति तिथि
रजिस्ट्रार एसएल हरिकुमार 7 मई 2018 
वित्त अधिकारी संतोष कुमार 8 अप्रैल 2018 
परीक्षा नियंत्रक प्रभुदेव कुरल 14 मई 2018 
लाइब्रेरियन सुजीत पांडेय 21 सितंबर 2017
पब्लिक रिलेशन अफसर नरेंद्र कुमार 4 सितंबर 2017 
इन्फॉरमेशन साइंटिस्ट कुशल सिंह चौहान 11 अक्टूबर 2018
जू. इंजीनियर, इले. कुमारी नेहा 11 अक्टूबर 2018
फार्मासिस्ट नूतन भारती 11 अक्टूबर 2018
लाइब्रेरी असिस्टेंट कृष्णकांत मिश्र 11 अक्टूबर 2018
लाइब्रेरी अटेंडेंट सिंधु सिंह 12 अक्टूबर 2018
सिक्यूरिटी इंस्पेक्टर तरुण कुमार 15 अक्टूबर 2018 

 

मल्टी टास्किंग स्टाफ- 

पद नाम नियुक्ति तिथि
मल्टी टास्किंग स्टाफ नीरज कु. कमल 15 अक्टूबर 2018 
मल्टी टास्किंग स्टाफ ताराशंकर तिवारी 15 अक्टूबर 2018 
मल्टी टास्किंग स्टाफ आशीष रंजन 16 अक्टूबर 2018
मल्टी टास्किंग स्टाफ अमित कुमार 22 अक्टूबर 2018
मल्टी टास्किंग स्टाफ अश्विनी कुमार 2 नवंबर 2018 

 

लेबोरेट्री अटेंडेंट- 

लेबोरेट्री अटेंडेंट सौरभ कुमार 22 अक्टूबर 2018 
लेबोरेट्री अटेंडेंट चिन्मय कु. तिवारी 29 अक्टूबर 2018 
लेबोरेट्री अटेंडेंट राजेश कुमार 1 नवंबर 2018
लेबोरेट्री अटेंडेंट जयप्रकाश शुक्ला 3 नवंबर 2018 
लेबोरेट्री अटेंडेंट विकास कुमार 6 नवंबर 2018
लेबोरेट्री अटेंडेंट दीपक कु. पटेल 8 नवंबर 2018 


इन नाॅन टीचिंग पदाें के लिए नियमावली नहीं 
अारटीअाई के जवाब में यूजीसी ने बताया कि सीयूजे ने रजिस्ट्रार, वित्त अधिकारी, परीक्षा नियंत्रक, आतंरिक लेखा अधिकारी, लाइब्रेरियन, पब्लिक रिलेशन ऑफिसर, जूनियर इंजीनियर (सिविल/इलेक्ट्रिकल), हिंदी अनुवादक, प्रोफेशनल असिस्टेंट, सीनियर टेक्निकल असिस्टेंट, फार्मासिस्ट, सिक्योरिटी इंस्पेक्टर, लेबोरेटरी असिस्टेंट, लाइब्रेरी असिस्टेंट, लेबोरेटरी अटेंडेंट, लाइब्रेरी अटेंडेंट, मल्टी टास्किंग स्टाफ और इन्फॉर्मेशन साइंटिस्ट की नियुक्ति नियमावली अब तक न तो बनाई है अाैर न ही वह अप्रूव्ड है। 

 

सीयूजे ने नियुक्ति के बाद यूजीसी काे भेजा था नियमावली का ड्राफ्ट 
यूजीसी के मुताबिक सीयूजे ने विभिन्न पदाें पर नियुक्ति के बाद नाॅन टीचिंग पदाें की नियुक्ति नियमावली का प्रारूप 20 दिसंबर 2018 काे अनुमाेदन के लिए भेजा। पर यूजीसी ने 27 जून 2019 काे प्रारूप के कुछ बिंदुअाें पर असहमति जताते हुए फिर इसकी समीक्षा करने अाैर संशाेधित नियुक्ति नियमावली बनाकर मानव संसाधन मंत्रालय के माध्यम से भेजने का निर्देश दिया था। इससे साफ है कि सीयूजे ने बिना नियुक्ति नियमावली बनाए ही 2017 में न सिर्फ नियुक्ति के लिए आवेदन अामंत्रित किया, बल्कि नियुक्तियां भी कर लीं। 

 

रजिस्ट्रार बाेले- कोई सुप्रीम कोर्ट जाए, सारी नियुक्तियां वैध 
सीयूजे के रजिस्ट्रार एसएल हरिकुमार ने कहा कि यूजीसी ने नियुक्ति नियमावली पर कुछ सवाल उठाया है। लेकिन एग्जीक्यूटिव काउंसिल की अनुमति के बाद नाॅन टीचिंग पदाें पर नियुक्तियां हुई हैं। चाहे ताे काेई सुप्रीम काेर्ट जाए, पर सारी नियुक्तियां वैध हैं। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना