विज्ञापन

विवाद / बोकारो डीसी शैलेश चौरसिया के तबादला का मामला पहुंचा निर्वाचन अायोग

Dainik Bhaskar

Mar 16, 2019, 07:29 PM IST


बोकारो डीसी शैलेश चौरसिया। (फाइल) बोकारो डीसी शैलेश चौरसिया। (फाइल)
X
बोकारो डीसी शैलेश चौरसिया। (फाइल)बोकारो डीसी शैलेश चौरसिया। (फाइल)
  • comment

  • कार्मिक ने रखा पक्ष, कहा- जिला के आधार पर हुआ स्थानांतरण 
  • मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने आयोग से मांगा दिशा निर्देश 

रांची. बोकारो डीसी शैलेश चौरसिया अपने पद पर बने रहेंगे या हटाए जाएंगे, इस पर फैसला अब भारत निर्वाचन आयोग करेगा। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय ने कार्मिक के पक्ष का साथ बोकारो डीसी के तबादला का मामला निर्वाचन आयोग भेज दिया है। गौरतलब है कि बोकारो डीसी का घर गिरिडीह जिले में है, जो गिरिडीह संसदीय क्षेत्र में आता है। गिरिडीह संसदीय क्षेत्र के रिटर्निंग अफसर बोकारो के डीसी होते हैं। ऐसे में शैलेश चौरसिया के बोकारो डीसी बने रहने पर आपत्ति करते हुए मुख्य निर्वाचन अधिकारी को शिकायत की गई थी। 

कार्मिक विभाग ने रखा अपना पक्ष

  1. मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के हस्तक्षेप के बाद कार्मिक विभाग ने शैलेश चौरसिया के स्थानांतरण के बारे में बताया कि शैलेश चौरसिया अपने गृह जिले में पदस्थापित नहीं किए गए हैं। कार्मिक किसी भी डीसी का स्थानांतरण जिला के आधार पर करता है, न कि संसदीय क्षेत्र के आधार पर। कार्मिक के इस पक्ष के साथ शैलेश चौरसिया के स्थानांतरण का मामला मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने भारत निर्वाचन आयोग को भेज दिया है। 

  2. पारा शिक्षकों को चुनाव कार्य में रखने के लिए निर्वाचन आयोग से मांगी गई अनुमति

    मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने राज्य के पारा शिक्षकों को चुनाव कार्य में ड्यूटी देने के बारे में भारत निर्वाचन आयोग से अनुमति मांगी है। गौरतलब है कि अनुबंध पर रखे गए कर्मचारियों को चुनाव कार्य में नहीं रखे जाने का नियम है। हालांकि इस बारे में हर चुनाव में निर्वाचन आयोग अपनी अनुमति देता है। इस बार भी अनुमति मिलने की संभावना है।

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन