कार्रवाई / मुख्यमंत्री के आदेश के बाद बिजली निगम के धनबाद एसई सस्पेंड, जीएम भी हटाए गए



रघुवर दास। (फाइल फोटो) रघुवर दास। (फाइल फोटो)
X
रघुवर दास। (फाइल फोटो)रघुवर दास। (फाइल फोटो)

  • समीक्षा बैठक में बाेले सीएम एसई को सस्पेंड करें, जीएम को हटाएं 

Jul 06, 2019, 11:38 AM IST

रांची. बिजली के मुद्दे पर शुक्रवार काे मुख्यमंत्री रघुवर दास काफी सख्त दिखे। ऊर्जा विभाग की समीक्षा बैठक में उन्हाेंने कहा-बिजली निगम के अफसर समय पर रिजल्ट दें, वरना सब बदले जाएंगे। जाे काम न कर सके, उसे रिटायर कर दें। उन्हाेंने बिजली वितरण निगम धनबाद के सुपरिंटेंडिंग इंजीनियर (एसई) विनय कुमार काे तत्काल सस्पेंड करने अाैर धनबाद विद्युत एरिया बाेर्ड के जीएम यूके सिंह काे हटाने का निर्देश दिया। विनय कुमार बिना सूचना के तीन सप्ताह से गायब हैं। 

 

जीएम यूके सिंह को मुख्यालय में योगदान को कहा
सीएम के अादेश के बाद एसई काे सस्पेंड कर दिया गया। जीएम यूके सिंह काे हटाकर मुख्यालय में याेगदान करने को कहा गया है। सिंह गिरिडीह के जीएम के प्रभार में भी थे। उन्हें दाेनाें जगह से हटा दिया गया है। प्रताेष कुमार सिंह काे धनबाद जीएम का प्रभार दिया गया है। वहीं रांची के एसई अजीत कुमार काे धनबाद का एसई बनाया गया है। 

 

रांची में बिजली के लिए 31 के बाद माेहलत नहीं 
मुख्यमंत्री ने कहा कि रांची के लिए 31 जुलाई के बाद काेई माेहलत नहीं दी जाएगी। हर जिले में चाहे ट्रांसमिशन की समस्या हाे या काेई अन्य मसला, उसे तीन महीने के भीतर पूरी तरह से दूर करें। जाे कुछ घर बिजली से वंचित है, वहां सितंबर तक बिजली पहुंच जानी चाहिए। उन्हाेंने कहा कि पूरे राज्य में बिजली उत्पादन, ट्रांसमिशन लाइन अाैर सब स्टेशन का काम चल रहा है, ताकि अाने वाले समय में राज्य की जनता काे निर्बाध बिजली मिल सके। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना