बदहाल शिक्षा / जिस जिले से साइंस टॉपर, वहां मैथ फिजिक्स, केमिस्ट्री के टीचर ही नहीं



Ranchi News education system Government schools in Jharkhand
X
Ranchi News education system Government schools in Jharkhand

  • 16 जिलों में फिजिक्स, 9 जिलों में केमिस्ट्री के टीचर नहीं

Dainik Bhaskar

May 16, 2019, 10:24 AM IST

रांची. राज्य के प्लस टू स्कूलों में साइंस के स्टूडेंट्स अपनी मेहनत के बल पर ही अपना भविष्य लिख रहे हैं। स्थिति यह है कि जिस पाकुड़ जिले का स्टूडेंट साइंस में स्टेट टॉपर है, वहां फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ्स का एक भी टीचर नहीं है। आंकड़ों बताते हैं कि देवघर, दुमका, गढ़वा, गिरिडीह, गोड्‌डा, गुमला, हजारीबाग, जामताड़ा, कोडरमा, लातेहार, लोहरदगा, पाकुड़, सरायकेला-खरसावां, सिमडेगा, प. सिंहभूम और खूंटी के प्लस टू स्कूलों में फिजिक्स टीचर नहीं हैं। 

 

एक दौर की नियुक्ति प्रक्रिया के बाद ऐसी स्थिति
वहीं पूर्वी सिंहभूम, गोड्‌डा, गुमला, कोडरमा, लातेहार, लोहरदगा, पाकुड़, सिमडेगा और खूंटी में केमिस्ट्री पढ़ाने वाला कोई टीचर नहीं। देवघर, पाकुड़ और पश्चिम सिंहभूम में मैथ टीचर्स की नियुक्ति ही नहीं हुई है। कई और कई विषय हैं, जिनके शिक्षक इन स्कूलों में हैं ही नहीं। यह स्थिति तब है, जब एक दौर की नियुक्ति प्रक्रिया संपन्न हो चुकी है। 

 

अलग-अलग स्कूल में शुरू होगी साइंस, आर्ट्स व कॉमर्स की पढ़ाई 
स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के प्रधान सचिव अमरेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि विभाग विचार कर रहा है कि अलग-अलग प्लस टू स्कूलों में साइंस, आर्ट्स और कॉमर्स की पढ़ाई हो। छात्रों के हिसाब से रैशनलाइजेशन करते हुए शिक्षकों का ट्रांसफर किया जाएगा। साथ ही नियुक्ति कर शिक्षकों की कमी दूर की जाएगी।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना