--Advertisement--

समस्या / राजधानी सहित राज्य भर में होगी बिजली की कटौती, 2 माह में कोयले की कमी से 10वीं बार टीवीएनएल ठप



ranchi power cuts will be across state including ranchi
X
ranchi power cuts will be across state including ranchi

  • टीवीएनएल की दो यूनिट से कम से कम साढ़े तीन से चार सौ मेगावाट का होता है बिजली उत्पादन

Dainik Bhaskar

Dec 08, 2018, 10:47 AM IST

रांची. आधी रात 12 बजे से टीवीएनएल की यूनिट नंबर 2 से बिजली उत्पादन ठप हो गया। दो माह में यह 10वीं बार है, जब कोयले की कमी के कारण टीवीएनएल ठप हुआ है। इससे राज्य में कम से कम 200 मेगावाट की बिजली कमी हो गई। इससे रांची सहित पूरे राज्य में लोड शेडिंग कर बिजली आपूर्ति हुई। मालूम हो कि राज्य सरकार की अपनी बिजली उत्पादन इकाई टीवीएनएल की दो यूनिट से कम से कम साढ़े तीन से चार सौ मेगावाट का बिजली उत्पादन होता है। इसमें यूनिट नंबर दो से आधी रात से उत्पादन ठप हो गया।

विवाद की यह भी वजह

  1. टीवीएनएल की स्थापना 1992 में बिहार सरकार ने की थी। उस समय के शर्त के अनुसार, इसके कुल शेयर का एक हिस्सेदार टीवीएनएल एमडी को बनाया गया था। बाकी का बिहार के राज्यपाल को। झारखंड गठन के बाद अधिक शेयर पर बिहार की हिस्सेदारी होने से बिहार सरकार दावा ठोंकता रहा है। मामला सुप्रीम कोर्ट में गया, जो अभी विचाराधीन है। 

  2. ठप होने की वजह

    • उत्पादन के लिए टीवीएनएल सीसीएल से लेता है कोयला 
    • बिजली उत्पादन कर बिजली वितरण निगम को देता है बिजली 
    • निगम प्रतिमाह 90 करोड़ का टीवीएनएल से बिजली लेता है 
    • पर, बिजली लेने के एवज में नियमित पैसे का भुगतान नहीं करता 
    • टीवीएनएल इस वजह से सीसीएल को नहीं देता पैसा 

  3. टीवीएनएल का सरकार पर करीब 3200 करोड़ रुपए है बकाया

    अविभाजित बिहार से लेकर अब तक टीवीएनएल का सरकार पर बकाया करीब 3200 करोड़ रुपए है। चूंकि, मामला अभी सुप्रीम कोर्ट में लंबित है। इसलिए यह बकाया कौन देगा, इस पर कोई निर्णय नहीं लिया जा सका है। सुप्रीम कोर्ट के निर्णय आने के बाद ही इस पर कोई निर्णय लिया जाएगा। 

  4. जरूरत का अाधा मिल रहा कोयला

    जानकारी के अनुसार, सीसीएल ने बकाया अधिक हो जाने से कोयले की आपूर्ति रोक दी है। टीवीएनएल की दोनों इकाईयों को चलाने के लिए दो रेक कोयले की खपत है। मगर, बकाया के कारण सीसीएल ने कोयले की आपूर्ति आधी कर
    दी है। 

  5. 50 की जगह 7 करोड़ मिले

    नवंबर में 50 करोड़ का बकाया सीसीएल का टीवीएनएल पर था। इसके एवज में टीवीएनएल ने महज 7 करोड़ रुपया ही दिया। 

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..