चांडिल / 21 जून काे हाेनी थी शादी, आठ दिन पहले राजस्व उपनिरीक्षक को नौ हजार रु. घूस लेते एसीबी ने पकड़ा

Dainik Bhaskar

Jun 14, 2019, 11:29 AM IST



Revenue inspector arrested for taking bribe
X
Revenue inspector arrested for taking bribe

  • मामले की जांच में एसीबी को कई चौंकानेवाली जानकारियां मिली
  • सीओ और सीआई के खिलाफ एसीबी टीम कर रही जांच

चंडिल. चांडिल अंचल कार्यालय में गुरुवार को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) की टीम ने छापेमारी कर म्यूटेशन के नाम पर 9 हजार रुपए घूस लेते राजस्व उपनिरीक्षक अमलेंदु कुमार को रंगेहाथाें गिरफ्तार कर लिया।

 

मामले में सोनारी एसीबी प्रमंडलीय थाना में केस दर्ज कर अमलेंदु कुमार के अलावा अंचलाधिकारी (सीओ) प्रभात भूषण सिंह व सीआई (अंचल निरीक्षक) सपन कुमार मिश्रा को भी आरोपी बनाया गया है। मालूम हो कि नीमडीह के आदरडीह निवासी राजस्व उपनिरीक्षक अमलेंदु कुमार की शादी 21 जून को हाेनी है। वे कई जगह शादी का कार्ड भी बांट चुके हैं। अमलेंदु का हाईस्कूल शिक्षक के लिए भी चयन हुआ है, जहां वह अगले सप्ताह योगदान देनेवाला था। 


मामले की जांच में एसीबी को कई चौंकानेवाली जानकारियां मिली हैं। सीओ और सीआई के खिलाफ एसीबी टीम जांच कर रही है। चौका थाना क्षेत्र के काशीडीह गांव निवासी मृत्युंजय महाली (27 वर्ष) सिंगाती मौजा में अपनी जमीन का म्यूटेशन कराने के लिए चांडिल अंचल कार्यालय में कर्मचारी से मिले। जमीन से संबंधित दस्तावेज राजस्व उप निरीक्षक अमलेंदु कुमार के कार्यालय में जमा कराया।

 

अमलेंदु ने बताया कि वे ऑनलाइन प्रक्रिया शुरू कर देंगे, जिसके लिए उन्हें 25 हजार रुपए घूस देना होगा। राजस्व कर्मचारी ने पैसे के बंटवारे की सारी जानकारी भी मृत्युंजय से साझा की। बताया कि 15 हजार रुपए सीओ, 5 हजार रुपए सीआई और चार हजार रुपए वह खुद लेगा और एक हजार रुपए ऑफिस खर्च लगेगा, ताे म्यूटेशन होगा। 


मृत्युंजय महाली ने ठाना कि वह घूस नहीं देगा। उसने इसकी शिकायत एसीबी थाना सोनारी जमशेदपुर में दर्ज कराई। घटना का सत्यापन पुलिस निरीक्षक रामचंद्र रजक ने किया। रिश्वत मांगने की बात सही पाया। अमलेंदु नौ हजार रुपए रिश्वत एडवांस लेकर और शेष रकम बाद में लेने की बात पर सहमत हुए। इसके बाद एसीबी ने जाल बिछा कर उसे घूस लेते रंगेहाथाें गिरफ्तार कर लिया।

COMMENT