• Hindi News
  • Jharkhand News
  • Ranchi
  • News
  • Ranchi - हॉस्टल व लाइब्रेरी बंद के विरोध में रिम्स की मेडिकल छात्राएं आधी रात से धरने पर बैठीं
--Advertisement--

हॉस्टल व लाइब्रेरी बंद के विरोध में रिम्स की मेडिकल छात्राएं आधी रात से धरने पर बैठीं

रिम्स की मेडिकल छात्राएं मंगलवार को आधी रात से धरने पर बैठ गईं। सैकड़ों की संख्या में छात्राएं हॉस्टल नंबर 4 के गेट...

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2018, 03:50 AM IST
रिम्स की मेडिकल छात्राएं मंगलवार को आधी रात से धरने पर बैठ गईं। सैकड़ों की संख्या में छात्राएं हॉस्टल नंबर 4 के गेट पर बैठकर प्रबंधन के उस आदेश का विरोध कर रही हैं, जिसमें कहा गया है कि हॉस्टल का गेट अब रात 10 बजे से लेकर सुबह 6 बजे तक नहीं खुलेगा। छात्राओं ने आरोप लगाया है कि यह आदेश इंटर्न, एचएस और पीजी कर रही छात्राओं पर ही लागू किया गया है। जबकि, एमबीबीएस फर्स्ट ईयर से लेकर फाइनल ईयर तक की छात्राओं के हॉस्टल से निकलने पर कोई रोक नहीं है। छात्राओं ने आरोप है कि होस्टल में ना तो पानी की सुविधा तक नहीं है। उन्हें पानी खरीद कर पीना पड़ता है। पीजी छात्राओं की ड्यूटी हॉस्पिटल में लगाई जाती है, जिसके लिए उन्हें रात में निकलना पड़ता है। प्रबंधन के इस आदेश के बाद वह हॉस्टल से नहीं निकल पाएंगी। यहां तक कि हॉस्टल कैंपस के अंदर भी उनके टहलने पर रोक लगा दी गई है। छात्राओं ने कहा कि कई बार लिखित शिकायत करने के बाद भी प्रबंधन और हॉस्टल सुपरिटेंडेंट की ओर से छात्रावास की स्थिति सुधारने की दिशा में कोई पहल नहीं की जा रही है। कैंपस के अंदर आवारा कुत्ते घूमते हैं। बिजली कट जाने के बाद अंधेरा छा जाता है। अभी परीक्षाएं होने वाली हैं, इसे तैयारी करने में भी दिक्कत आ रही है। छात्राओं ने यह भी कहा कि धरने की सूचना देने के बाद भी हॉस्टल सुपरिटेंडेंट डॉक्टर पूनम सिंह नहीं आईं। उन्होंने यहां तक कहा कि चाहे कुछ भी हो जाए, वह हॉस्टल नहीं आएंगी।

कई बार लिखित सूचना दिए जाने के बाद भी गर्ल्स हॉस्टल की नहीं सुधरी स्थिति

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..