--Advertisement--

आयोजन / कल्याण विभाग के कौशल कॉलेजों में नामांकन के लिए 6 जिलों में चयन परीक्षा



कल्याण विभाग द्वारा संचालित कौशल कॉलेजों में नामांकन के लिए ६ जिलों में चयन परीक्षा आयोजित की गई। कल्याण विभाग द्वारा संचालित कौशल कॉलेजों में नामांकन के लिए ६ जिलों में चयन परीक्षा आयोजित की गई।
X
कल्याण विभाग द्वारा संचालित कौशल कॉलेजों में नामांकन के लिए ६ जिलों में चयन परीक्षा आयोजित की गई।कल्याण विभाग द्वारा संचालित कौशल कॉलेजों में नामांकन के लिए ६ जिलों में चयन परीक्षा आयोजित की गई।

  • 15000 महिला अभ्यर्थियों ने भाग लिया, अगली परीक्षा 23 सितंबर को पांच जिलों में

Dainik Bhaskar

Sep 16, 2018, 07:45 PM IST

रांची.  कल्याण विभाग द्वारा संचालित कौशल कॉलेजों में नामांकन के लिए रविवार को एक साथ राज्य के 6 जिलों में चयन परीक्षा आयोजित की गई। इसमें कुल 15,000 महिला अभ्यर्थियों ने भाग लिया। इसमें रांची से 1103, खूंटी से 373, सरायकेला से 1931, सिमडेगा और दुमका से 1879, लातेहार से 849 परीक्षार्थी शामिल हुए। यह परीक्षा कौशल कॉलेजों में शुरू होने वाले 2 वर्षीय नर्सिंग , आईटीआई मैन्युफैक्चरिंग एवं आईटीआई कलिनरी में नामांकन के लिए लिया गया है। अगली परीक्षा 23 सितंबर को पांच जिलों में होगी। चयन प्रक्रिया तीन चरणों में पूरी होगी। लिखित परीक्षा में चयनित छात्रों को इंटरव्यू और दस्तावेज जांच के लिए बुलाया जाएगा। नामांकन के लिए चयन प्रक्रिया प्रेझा फाउंडेशन टीम के द्वारा किया गया।

 

पहला कौशल कॉलेज चान्हो में खोला गया
कल्याण विभाग झारखंड सरकार एवं पैनआईटाईटी रीच फॉर इंडिया फाउंडेशन के संयुक्त प्रयास से फाउंडेशन को एक विशेष प्रयोजन परिवहन के रूप में गठित किया गया है। जिसका मूल उद्देश्य युवाओं का कौशल विकास करते हुए देश-विदेश में नियोजित करना है। वर्तमान में प्रेझा फाउंडेशन द्वारा 29 कल्याण गुरुकुल का संचालन किया जा रहा है। कल्याण गुरुकुल के छात्रों की सफलता देखते हुए और कॉलेजों को अगले पड़ाव के रूप में लाया गया है। कौशल कॉलेज का उद्देश्य युवाओं में विशिष्ट कौशल विकसित करना है, जिससे यह बेहतर अवसर पा सके। इस क्रम में पहला कौशल कॉलेज चान्हो में खोला गया है। जिसका उद्घाटन मुख्यमंत्री रघुवर दास द्वारा गत 24 फरवरी को किया गया था।

 

2018 में कौशल योजना को भी सक्रिय करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया
उद्घाटन के बाद मुख्यमंत्री ने राज्य में सातवें कौशल कॉलेज खोलने की बात कही थी। कौशल कॉलेज में नरसिंह के अलावा विभिन्न क्षेत्र कलीनरी, मैन्युफैक्चरिंग में कौशल प्रदान करना है। कौशल का मुख्य उद्देश्य राज्य के 17 से 30 वर्ष की आयु की महिलाओं को तकनीकी शिक्षा से जोड़ना है। इसके अलावा साल 2018 में कौशल योजना को भी सक्रिय करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जिनमें 2 वर्षीय नर्सिंग की पढ़ाई 5 कॉलेजों में होगी। इसमें कौशल कॉलेज रांची, राजनगर, सरायकेला, गुमला, साहेबगंज शामिल है। जहां नर्सिंग के लिए शैक्षणिक योग्यता इंटर और आईटीआई मैन्युफैक्चरिंग तकनीशियन की शैक्षणिक योग्यता 10वीं पास है।

 

 

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..