रांची

  • Home
  • Jharkhand News
  • Ranchi
  • News
  • Ranchi - खुद बीमार हैं, लेकिन पति की लंबी उम्र और समृद्धि के लिए करेंगी तीज
--Advertisement--

खुद बीमार हैं, लेकिन पति की लंबी उम्र और समृद्धि के लिए करेंगी तीज

रांची| महिलाएं पति की लंबी आयु की कामना के साथ परिवार की सुख-समृद्धि के लिए 12 सितंबर को हरितालिका तीज पर निर्जला...

Danik Bhaskar

Sep 12, 2018, 03:41 AM IST
रांची| महिलाएं पति की लंबी आयु की कामना के साथ परिवार की सुख-समृद्धि के लिए 12 सितंबर को हरितालिका तीज पर निर्जला व्रत रखेंगी। रिम्स में भरती कई महिलाएं भी तीज व्रत की तैयारी कर रही हैं। जबकि, वह खुद बीमार हैं। लेकिन, वे कहती हैं कि उनके लिए परिवार से बड़ा कोई नहीं है। ऐसे में वे अपने परिवार की सुख-समृद्धि के लिए अवश्य व्रत रखेंगी। कई महिलाओं के परिवार वाले व्रत करने से मना कर रहे। लेकिन, उनकी जिद के आगे विवश हैं। इधर, रिम्स के डॉक्टरों ने ऐसी महिलाओं को अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखने की हिदायत दी है।

भक्ति: जिन्होेंने इलाज के बाद भी रखेंंगी व्रत

5 दिन पहले मां बनी, तीज करना चाहती है रिधी

हजारीबाग के चौपारण की रहने वाली रिधी देवी (पति टिंकू नायक) पिछले 5 दिनों से यहां भरती हैं। 5 दिन पहले ही वह मां बनीं हैं। वह काफी उत्साहित हैं। कहती हैं कि यह तीज उनके लिए खास है। परिवार के लिए सबसे खुशी की बात है। वह चाहती हैं कि पति और पूरा परिवार सुख और शांति से रहे। वे पिछले कई सालों से तीज कर रही है। यह तीज छूट न जाए, इसलिए वह तीज करेंगी।

ट्यूमर का ऑपरेशन हुआ, निर्जला तो नहीं, फलाहार से करेगी तीज

पिछले 22 दिनों से रिम्स में भरती सुशीला देवी के ट्यूमर का ऑपरेशन हुआ है। उन्हें कई दवाएं चल रही हैं, जोकि खाली पेट में नहीं ली जा सकती। ऐसे में वह इस बार फलाहार के साथ तीज करना चाहती हैं। वे कहती हैं कि शरीर साथ नहीं दे रहा हो, तो क्या हुआ, आस्था में कोई कमी नहीं है। परिवार के लिए वे कुछ भी कर सकती है।

तीज छोड़कर नहीं किया जाता, इसलिए करेंगी

रिम्स के स्त्री रोग विभाग में ही भरती सोनी देवी भी मां बनी हैं। रजरप्पा और रामगढ़ की रहने वाली सोनी देवी भी तीज की तैयारी कर रहीं हैं। पति की लंबी उम्र के लिए वह व्रत रखना चाहती हैं। कहती हैं कि तीज को छोड़ना नहीं चाहिए। जो भी सुहागिन हैं, वे जरूर तीज करती हैं। ऐसे में वह भी तीज को इस वर्ष नहीं छोड़ना चाहती है। उन्होंने डॉक्टरों से बात भी की है ताकि उन्हें कोई परेशानी न हो।

तीज व्रत करने से पूर्ण होती है मनोकामना

तीज व्रत करने से मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। महिलाओं के लिए सुखद दांपत्य जीवन के लिए इस त्यौहार का सर्वाधिक महत्व है। यह बातें माधुरी सिन्हा ने कहीं। वह इस वर्ष 62वां तीज व्रत कर रही हैं। कांके रोड के जेपी मार्ग निवासी एसके सिन्हा की प|ी माधुरी सिन्हा बताती हैं कि पहले वह व्रतरत का सारा काम स्वयं करती थीं अब उन्हें इसमें बहुओं का पूरा साथ मिलता है। वह 24 वर्ष की आयु से यह व्रत कर रही हैं।

समय के साथ आए हैं सहुलियत वाले बदलाव

तीज महिलाओं के लिए परंपरा और संस्कृति का हिस्सा होने के साथ ही उल्लास से भरा दिन होता है। इस दिन अपने पति की लंबी उम्र के लिए महिलाएं व्रत करती हैं। महिला 20 की उम्र की हो या 40 की, इस त्योहार की तैयारी सभी एक नई-नवेली दुल्हन की तरह उतने ही जोश के साथ करती हैं, जितना जोश पहले तीज के व्रत को करने का था। इस दिन सबसे अलग और खास दिखने की तैयारी महीने भर पहले से ही शुरू हो जाती है। तीज में कपड़े, गहने, मेकअप सभी खास होने चाहिए। पारंपरिक पकवान घर-घर बनते हैं, आजकल बाजार में भी सब उपलब्ध हैं। कपड़ों की खरीदारी के साथ महिलाएं पार्लर की बुकिंग भी कई दिनों पहले ही करा लेती हैं। तीज के एक दिन पहले मेहंदी लगाने और तीज वाले दिन शाम को सजधज कर सबसे अलग दिखने की चाह सभी में होती है। तीज का व्रत यूं तो बहुत कठिन होता है, लेकिन अब महिलाएं अपनी सुविधा अनुसार इसमें कुछ बदलाव भी ला रही हैं।

खास ट्रेडिशनल पकवान

पकवान की बात करें तो गुजिया, ठेकुआ और अनरसा इस व्रत के खास ट्रेडिशनल पकवान हैं, जो पहले पारंपरिक तरीके से घर पर तैयार किए जाते थे, लेकिन अब ज्यादातर लोग इसे मार्केट से खरीदना ही पसंद करते हैं। इसका एक कारण समय की कमी के साथ ही एकल परिवार का बढ़ता चलन है। गुजिया में नारियल, सूजी, ड्राई फ्रूट्स और खोया गुजिया। अनरसा में तिल वाले प्लेन और खोया अनरसा की डिमांड है।

Click to listen..