सफल शिक्षक वही हैं, जो पढ़ाई के दौरान बच्चों को तनावरहित माहौल दंे और ‌विषयों को रूचिकर बनाए

Ranchi News - डीएवी स्कूल, गांधीनगर में तीन दिवसीय शिक्षक प्रशिक्षण कार्यशाला हुई। इसमें डीएवी झारखंड क्षेत्र एफ के शिक्षकों...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:40 AM IST
Ranchi News - successful teachers are those who teach children a relaxed atmosphere and make topics interesting
डीएवी स्कूल, गांधीनगर में तीन दिवसीय शिक्षक प्रशिक्षण कार्यशाला हुई। इसमें डीएवी झारखंड क्षेत्र एफ के शिक्षकों ने हिस्सा लिया। प्रशिक्षण कार्यशाला को विषयवार तीन वर्गों में बांटा गया था- प्राथमिक, माध्यमिक और उच्च माध्यमिक। मालूम हो कि प्रबंधकर्ता समिति, नई दिल्ली द्वारा शिक्षा में गुणवक्ता एवं नवीनता को बनाए रखने के लिए सीबीएसई के मानदंडों के अनुकूल प्रत्येक छह महीने मेंें विषयवार शिक्षा प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया जाता है। देश के प्रमुख शिक्षाविद्ोंे द्वारा क्षेत्रीय स्तर पर विशेषज्ञों को तैयार किया जाता है और कलस्टर वाइज शिक्षकों को सामूहिक प्रशिक्षण दिया जाता है। कार्यशाला में रांची क्षेत्र एफ के 8 स्कूलों के 430 अध्यापकों ने भाग लिया। इसमें विज्ञान, संस्कृत, हिंदी, गणित, सामाजिक विज्ञान और उच्चतर माध्यमिक के भौतिक, रसायन विज्ञान, गणित, वाणिज्य कला के साथ-साथ शारीरीक शिक्षा और संगीत आदि विषयों के विशेषज्ञों के निर्देशन में तीन दिवसीय कार्यशाला संचालित की जा रही है। कलस्टर हेड एसके सिन्हा ने कहा कि सफल शिक्षक वही है, जो पढ़ाई के दौरान बच्चों में तनावरहित माहौल बना सके। विषयों को रूचिकर बना कर पढ़ानेवाला शिक्षक भी सम्मान पाता है। उन्होंने सारे विषयों को संगीत और खेल के माध्यम से जोड़ने पर बल दिया। इस अवसर पर नीरजा सहाय डीएवी के प्राचार्य एसके मिश्रा, डीएवी खूंटी के प्राचार्य टी.पी झा उपस्थित थे। क्षेत्रीय निदेशक केसी श्रीवास्तव ने कार्यशाला के सफल संचालन के लिए शुभकामनाएं दी।

शिक्षकों को नवीनतम ज्ञान से लैस होकर बच्चों को पढ़ाने का आह्वान

शिक्षकों की तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला में बड़ी संख्या में टीचर्स ने हिस्सा लिया और बच्चों को क्वालिटी एजुकेशन देने का संकल्प लिया।

रांची | रीजनल ट्रेनिंग सेंटर डीएवी स्कूल, झारखंड जोन बीके के शिक्षकों की तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला कैपेसिटी बिल्डिंग में शुरू हुई। इसका उद्घाटन डीएवी पब्लिक स्कूल्स, रांची जोन बीके सहायक निदेशक एमके सिन्हा ने किया। इस मौके पर श्री सिन्हा ने कहा कि डीएवी स्कूल्स स्वामी दयानंद सरस्वती के आदर्शों और वैदिक विचारों का निर्वहन करते हुए आधुनिक शिक्षा को एक नई दिशा देने के लिए प्रतिबद्ध है। पूरे भारत में लगभग 920 डीएवी संस्थाएं 132 वर्षों से चल रही हैं। उन्होंने शिक्षकों से कहा कि हममें नियमितता, प्रतिबद्धता और अनुशासन के गुण अवश्य होना चाहिए। हमें शिक्षक होने का गर्व होना चाहिए और कभी भी स्वाभिमान के साथ समझौता नहीं करना चाहिए। शिक्षकों में नवीन तकनीकी ज्ञान का होना जरूरी है, ताकि वे अपने ज्ञान बच्चों के बीच साझा कर सकें। जब तक हमारी सोच में सकारात्मक वृद्धि नहीं होगी, तब तक हम विकास, उन्नति के मार्ग पर अग्रसर नहीं होंगे। कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य यही है कि बच्चों का समग्र बौद्धिक विकास कैसे किया जाए। यूके पराशर, प्रिसिंपल डीएवी पब्लिक स्कूल, खलारी ने कहा कि अभिभावकों को हम शिक्षकों से काफी उम्मीदें है। हम अपने बेहतर प्रयास से बच्चों की शिक्षण संबंधी परेशानी दूर सकते हैं।

Ranchi News - successful teachers are those who teach children a relaxed atmosphere and make topics interesting
X
Ranchi News - successful teachers are those who teach children a relaxed atmosphere and make topics interesting
Ranchi News - successful teachers are those who teach children a relaxed atmosphere and make topics interesting
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना