छठ पूजा / घाटों की बुकिंग फुल : छठ घाट पर कब्जा रोकने का नगर आयुक्त का फरमान कागजों में ही सिमट कर रह गया



अपना नाम, मोबाइल नंबर और पद नाम लिखता युवक। अपना नाम, मोबाइल नंबर और पद नाम लिखता युवक।
X
अपना नाम, मोबाइल नंबर और पद नाम लिखता युवक।अपना नाम, मोबाइल नंबर और पद नाम लिखता युवक।

  • सभी तालाबों के मेन घाट लूटे जा चुके, अब बचे छठ व्रतियों को करना होगा बारी का इंतजार 

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2018, 10:23 AM IST

रांची. राजधानी में करीब 40 तालाबों पर महापर्व छठ में सूर्य को अर्घ्य दिया जाता है। हजारों व्रती जलाशयों पर अर्घ्य देने आती हैं। इस बार बड़ा तालाब, करमटोली तालाब, जोड़ा तालाब सहित अन्य तालाबों की स्थिति खराब है। कांके डैम, बनस तालाब, मधुकम तालाब, जेल तालाब और लाइन टैंक में व्रतियों की भीड़ उमड़ेगी। इसलिए अभी से ही कई लोग छठ घाट पर अतिक्रमण करने में लगे हैं। लगभग सभी छठ घाट बुक हो चुके हैं। छठ घाटों पर मार्किंग करते हुए लोग अपना नाम तक लिख रहे हैं, ताकि उक्त स्थल पर दूसरी व्रती अर्घ्य देने न पहुंचे। 

अतिक्रमण क्यों

  1. नगर आयुक्त ने छठ घाटों का अतिक्रमण करने वालों पर कड़ी कार्रवाई करने का फरमान जारी किया था। लेकिन, यह सिर्फ कागजों तक ही सिमट कर रह गया है। नगर निगम ने किसी थाना को भी पत्र लिखकर ऐसी गतिविधि पर रोक लगाने का आग्रह नहीं किया है। इसलिए, पुलिस भी छठ घाटों का अतिक्रमण करने वालों पर कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। 

  2. क्या इन्हीं घाटों पर मनेगा शुिचता का पर्व

    कांके डैम : डैम की सभी सीढ़ियां बुक हाे चुकी है।

    शहर के विभिन्न छठ घाटों की स्थिति अभी भी काफी खराब है। नगर निगम ने तालाबों की सफाई का दावा किया था, लेकिन हकीकत यह है कि सभी तालाबों में कचरा फैला है। 

    • पानी का रंग हरा, दुर्गंध भी आ रहा 

    पानी का रंग भी हरा है और उससे दुर्गंध आ रही है। जलकुंड बनाए जाने के बावजूद लोगों ने तालाबों में जहां-तहां पूजन सामग्री का विसर्जन कर दिया है। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना