अपना घर पाने के लिए 7 साल से केस लड़ रही मां को अभी और काटने होंगे कोर्ट के चक्कर

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:36 AM IST

Ranchi News - अरगोड़ा हाउसिंग कॉलोनी के हाउस नंबर-62 को हासिल करने के लिए बरियातू स्थित वृद्धाश्रम में रहनेवाली वृद्ध मां...

Ranchi News - the mother who is fighting the case for 7 years to get her home will be bitten by the court
अरगोड़ा हाउसिंग कॉलोनी के हाउस नंबर-62 को हासिल करने के लिए बरियातू स्थित वृद्धाश्रम में रहनेवाली वृद्ध मां वीणापाणि सिन्हा अपने बेटे-बहू के खिलाफ सात साल से मुकदमा लड़ रही है। हाउसिंग बोर्ड ने 22 मई 1992 को उसके पति को यह घर आवंटित किया था। पति वर्ष 2011 में गुजर गए। इसके बाद बेटा रवि कुमार और बहू निशा रानी उसे तंग करने लगे। घर से निकाल दिया। वृद्धा ने इसकी शिकायत महिला आयोग में की। आयोग ने 29 दिसंबर 2012 को बेटा-बहू को तत्काल आवास खाली कर वृद्ध मां को सौंपने का आदेश दिया, जिसे दोनों ने नहीं माना। 31 अगस्त 2017 को मुंसिफ कोर्ट ने उसके पक्ष में फैसला सुनाया। इसे भी दोनों ने नहीं माना। हारकर वृद्धा ने ऊपरी अदालत में अपील दायर की। अपीलीय न्याय आयुक्त एसके शशि की अदालत ने इस पर सुनवाई करते हुए शुक्रवार को निचली अदालत को निर्देश दिया कि वह इस मामले में झारखंड आवास बोर्ड के प्रबंध निदेशक को भी पक्षकार बनाकर उसे सूचित करे। साथ ही, निचली अदालत को फिर से मामले की सुनवाई करने का निर्देश दिया।

X
Ranchi News - the mother who is fighting the case for 7 years to get her home will be bitten by the court
COMMENT