सिमडेगा / पीएलएफआई के तीन उग्रवादी गिरफ्तार, एक 16 जून को बाल सुधार गृह से हुआ था फरार



गिरफ्तारी के बारे जानकारी देते पुलिस अधिकारी। गिरफ्तारी के बारे जानकारी देते पुलिस अधिकारी।
X
गिरफ्तारी के बारे जानकारी देते पुलिस अधिकारी।गिरफ्तारी के बारे जानकारी देते पुलिस अधिकारी।

  • एसपी के मुताबिक सचित को सिमडेगा जिले में किसी बड़े व्यक्ति की हत्या की जिम्मेवारी सौंपी गई थी

Dainik Bhaskar

Aug 22, 2019, 08:07 PM IST

सिमडेगा. पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर गुरुवार को पीएलएफआई के तीन उग्रवादियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपियों के पास से हथियार व बाइक बरामद किया गया। गिरफ्तारी में शामिल एक आरोपी भाजपा नेता मनोज नगेशिया हत्याकांड में शामिल रहा है और उसे पूर्व में पुलिस अभिरक्षा में लेते हुए नाबालिग होने के कारण बाल सुधार गृह भेजा गया था। इसी साल 16 जून को वह बाल सुधार गृह से भागने में सफल हो गया था।

 

एसपी संजीव कुमार ने बताया कि बुधवार की सुबह पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि कोलेबिरा थाना क्षेत्र के सोकोरला बाजारटांड जंगल में पीएलएफआई उग्रवादियों का दस्ता ठहरा हुआ है। इसी सूचना पर कार्रवाई करते हुए छापामारी दल का गठन किया गया और पुलिस ने छापेमारी करते हुए जलडेगा के कोलमडेगा निवासी व बाल सुधार गृह से फरार अनूप टोपनो तथा कोलेबिरा के झपला निवासी रंजीत कंडुलना और आमुष कंडुलना को गिरफ्तार किया।

 

अनूप टोपनो के पास से नाइन एमएम का एक लोडेड पिस्तौल, चार जिंदा कारतूस एक बाइक और दो मोबाइल, रंजीत कंडुलना के पास से एक लोडेड देशी कट्‌टा, तीन जिंदा कारतूस और आमुष कंडुलना के पास से दो कारतूस, दो बाइक व एक मोबाइल जब्त किया गया है। एसपी ने कहा कि गिरफ्तार लोगों के खिलाफ कोलेबिरा थाने में आर्म्स एक्ट सहित कई मामले दर्ज किए गए हैं।  

 

पीएलएफआई में शामिल होने चला गया था अनूप टोपनो
एसपी ने उक्त आरोपियों की गिरफ्तारी को एक बड़ी कामयाबी बताते हुए कहा कि बाल सुधार गृह से फरार होने के बाद अनूप टोपनो पीएलएफआई संगठन में शामिल होने के लिए बिहार के गया चला गया था। वहां पीएलएफआई के सचित से मिलकर पीएलएफआई में शामिल कर लेने का आग्रह किया था। पीएलएफआई में शामिल करते हुए सचित द्वारा अनूप को पिस्तौल और अन्य हथियार उपलब्ध कराए गए थे। एसपी के मुताबिक सचित को सिमडेगा जिले में किसी बड़े व्यक्ति की हत्या की जिम्मेवारी सौंपी गई थी ताकि जिले में पुन: पीएलएफआई की दहशत कामय हो सके। अनूप गया से सिमडेगा आने के बाद पीएलएफआई संगठन के विस्तार में जुट गया था अौर इसी के तहत रंजीत और आमुष को संगठन में शामिल किया था। एसपी ने कहा कि अनूप की मेडिकल जांच कराई गई है वह बालिग हो चुका है। अनूप सहित तीनों आरोपियों को जेल भेजा जा रहा है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना