नहाने के दौरान तीन छात्रों की फॉल में डूबने से मौत, एक ने तैरकर बचाई जान / नहाने के दौरान तीन छात्रों की फॉल में डूबने से मौत, एक ने तैरकर बचाई जान

अनगड़ा स्थित जोन्हा फॉल में शनिवार को नहाने के दौरान तीन छात्रों की डूबने से मौत हो गई

Dainikbhaskar.com

Aug 11, 2018, 04:20 PM IST
आखिरी सेल्फी: फॉल में उतरने से आखिरी सेल्फी: फॉल में उतरने से

रांची. अनगड़ा स्थित जोन्हा फॉल में शनिवार को नहाने के दौरान तीन छात्रों की डूबने से मौत हो गई। वहीं, इनके चौथे साथी ने चट्‌टान को पकड़ अपनी जान बचाई। स्थानीय लोगों और गोताखोरों की मदद से तीनों छात्रों का शव बरामद कर लिया गया है। सभी कोडरमा के रहने वाले थे। फिलहाल रांची में रहकर पढ़ाई करते थे।

एक दूसरे को बचाने के क्रम में हुई दुर्घटना

मृतक छात्रों की पहचान अंशुमन गुप्ता (22), राहुल कुमार (21), राज यदुवंशी (22) के रूप में की गई। वहीं, इनका चौथा साथी रितिक कुमार एक चट्‌टान के सहारे डूबने से बच गया। चारों ओला कैब लेकर जोन्हा फॉल घूमने पहुंचे थे। यहां चारों एक पुल के करीब एक तालाबनुमा गड्ढे में नहाने गए। कोई दोस्त तैरना नहीं जानता था। सबसे पहले राहुल व अंशुमन ने नहाने के लिए पानी में छलांग लगाई। गहरे पानी के कारण दोनों डूबने लगे। डूब रहे दोनों दोस्तों को बचाने के लिए रितिक और राज ने भी पानी में छलांग लगा दी। ये दोनों भी डूबने लगे। किसी तरह हाथ पांव मारकर रितिक एक किनारे व राज दूसरे किनारे चला गया। तब तक राहुल व अंशुमन डूब चुके थे। इधर, राज बहती धारा की चपेट में आकर डूब गया। रितिक ने एक पत्थर का सहारा लेकर अपने आप को ऊपर उठाए रखा। फिर प्रत्यक्षदर्शियों ने उसे बाहर निकाल लिया।

नहाने से पूर्व जोन्हा फॉल के पास ली सेल्फी
चारों दोस्त जब नहाने के लिए उतरने लगे तो रितिक ने अपने सभी दोस्तों से कहा- एक सेल्फी ले ली जाए। पता नहीं ऐसा मौका फिर मिलेगा या नहीं। सभी दोस्तों ने भी कहा सही बात हैं। इसके बाद रितिक ने ही सभी दोस्तों की सेल्फी ली। दोस्तों की यह अंतिम सेल्फी साबित हुई।

परिजन पहुंचे रांची

घटना की सूचना पाते ही शनिवार को ही उनके परिजन रांची पहुंच गए। सभी युवक रांची में रहकर पढ़ाई कर रहे थे। अंशुमन गुप्ता और राहुल सिंह झुमरी तिलैया नगर पर्षद क्षेत्र के काली मंदिर मुहल्ला का निवासी है। जबकि राज यदुवंशी डोमचांच का रहने वाला है। अंशुमन अपने माता-पिता का इकलौता पुत्र था। वहीं, राहुल कुमार दो भाइयों में बड़ा था। दोनों ग्रिजली विद्यालय से मैट्रिक की परीक्षा पास कर रांची में 12वीं कक्षा में पढ़ाई कर रहे थे। दोनों क्लासमेट भी थे। वहीं, राज यदुवंशी भी अपने माता-पिता का इकलौता पुत्र था। अंशुमन के पिता अनिल गुप्ता कबाड़ी के कारोबार से जुड़े हैं। जबकि राहुल सिंह के पिता प्रमोद सिंह मेघातरी मध्य विद्यालय के शिक्षक हैं। राज यदुवंशी के पिता हरि यादव की तेल व धान की मिल है। डूबने से बचा रितिक भी अपने माता-पिता का इकलौता पुत्र है। उसकी दो बहनें हैं। रितिक के पिता राजेश मोदी अग्रसेन भवन गली में सपरिवार रहते हैं। इनके पिता का अपना व्यवसाय है।

X
आखिरी सेल्फी: फॉल में उतरने से आखिरी सेल्फी: फॉल में उतरने से
COMMENT