--Advertisement--

मवेशी चोरी के आरोप में दो की भीड़ ने पीट-पीटकर की हत्या, चार गिरफ्तार

मुंशी मुर्मू नाम के शख्स के घर से मंगलवार रात एक मवेशी की चोरी हो गयी थी।

Dainik Bhaskar

Jun 14, 2018, 11:07 AM IST
युवकों की जबरदस्त पिटाई के बाद एक को साइकिल पर बांध गांव में घुमाया गया। युवकों की जबरदस्त पिटाई के बाद एक को साइकिल पर बांध गांव में घुमाया गया।

गोड्डा (झारखंड)। देवदांड़ थाना अंतर्गत ढुलू गांव में बुधवार सुबह मुर्तजा (30) तथा चिरागउद्दीन (45) को ग्रामीणों ने भैंस चोरी के आरोप में पीट-पीटकर मार डाला। ग्रामीणों ने दोनों युवकों को पत्थर और लाठी से बुरी तरह पीटा, जिससे दोनों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। पुलिस ने इस मामले में चार लोगों को अरेस्ट किया है।

अन्य युवक भाग निकले

पुलिस ने बताया वनकटी गांव के मुंशी मुर्मू के घर से मंगलवार रात मवेशियों की चोरी हुई थी। ग्रामीणों ने बुधवार सुबह दो संदिग्ध युवकों को चोरी के आरोप में पकड़ लिया। उसके साथ अन्य युवक भी थे, जो भागने में सफल रहे। पकड़े गए दोनों युवक को ढुलू गांव ले जाया गया। वहां पर आस-पास के ग्रामीण जुटे और दोंनों की पिटाई शुरू कर दी। देखते ही देखते वहां काफी संख्या में ग्रामीण पहुंच गए और सभी दोनों लाठी और पत्थर से मारने-पीटने में जुट गए। गंभीर रूप से घायल दोनों युवकों की मौके पर ही मौत हो गई।


तीन घंटे बाद पहुंची पुलिस
ढुलू आदिवासी गांव है। चोरी की बात सुनने के बाद आसपास के आदिवासी जुट गए और संदिग्ध युवकों की पिटाई शुरू कर दी। पुलिस को भी सूचना दी गई। लेकिन घटना के तीन घंटे बाद पुलिस मौके पर पहुंची। देवदांड़ थाना की पुलिस के पहुंचने तक दोनों युवकों की लाश पड़ी थी। पुलिस ने दोनों युवक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए गोड्‌डा सदर अस्पताल ले गई। पोस्टमॉर्टम बाद शव को परिजनों के हवाले कर दिया गया।

पिता ने कहा- गांव वालों ने पुरानी दुश्मनी का बदला लिया
पिता हलीम अंसारी का कहना है कि बेटा मवेशी का व्यापारी था। काम नहीं रहने पर साइकिल से कोयला ढोकर परिवार चलाता था। ढुलू गांव के लोगों से मेरे बेटे को पुरानी दुश्मनी है। इसलिए मवेशी चोरी को आरोप लगाकर मेरे बेटे की पीटकर हत्या कर दी। बुधवार सुबह वह साइकिल से कोयला लेकर ढुलू गांव से गुजर रहा था। ग्रामीणों ने चोर-चोर हल्ला करके दोनों को पकड़ लिया।


क्या कहते हैं एसपी
एसपी राजीव रंजन सिंह का कहना है कि दोनों युवक को भैंस चुराने के आरोप में गांववालों ने हत्या की है। इस मामले में चार लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है। मामले की जांच की जा रही है। दोषियों को किसी भी शर्त पर नहीं छोड़ा जाएगा। दोषियों पर हत्या का मामला दर्ज होगा।

कभी बच्चा तो कभी बकरी चोरी के आरोप में हो चुकी हैं कई हत्याएं
बताते चलें कि झारखंड के विभिन्न हिस्सों से अक्सर ऐसी घटनाएं सामने आती है। पिछले ही साल मई में बच्चा चोरी के संदेह में 14 गांव के लोगों ने चार लोगों को पीट-पीट कर मार डाला था। घटना जमशेदपुर के राजनगर थाना क्षेत्र के शोभापुर, बोंगा डांडू पहाड़ और पढ़नामसाई गांव में हुई थी। वहीं, जनवरी, 2016 में सिमडेगा जिले के सदर थानाक्षेत्र के खिजरी खरवागढ़ा गांव दो युवकों की ग्रामीणों ने लाठी-डंडे से पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। ग्रामीणों का आरोप था कि दोनों बकरी चोरी करने के लिए यहां आए थे।

युवक की पड़ी लाश। युवक की पड़ी लाश।
X
युवकों की जबरदस्त पिटाई के बाद एक को साइकिल पर बांध गांव में घुमाया गया।युवकों की जबरदस्त पिटाई के बाद एक को साइकिल पर बांध गांव में घुमाया गया।
युवक की पड़ी लाश।युवक की पड़ी लाश।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..